June 21, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

झाँसी07अप्रैल24*किसानों की मुख्य रबी सीजन की दलहनी, तिलहनी, गेहूं, जौ आदि फसलें ओलावृष्टि से हुई नष्ट

झाँसी07अप्रैल24*किसानों की मुख्य रबी सीजन की दलहनी, तिलहनी, गेहूं, जौ आदि फसलें ओलावृष्टि से हुई नष्ट

झाँसी07अप्रैल24*किसानों की मुख्य रबी सीजन की दलहनी, तिलहनी, गेहूं, जौ आदि फसलें ओलावृष्टि से हुई नष्ट

मऊरानीपुर। किसानों की मुख्य रबी सीजन की दलहनी, तिलहनी, गेहूं, जौ आदि फसलें पिछले महीने ओलावृष्टि, वे मौसम अतिवृष्टि से खेतों में ही नष्ट होकर खराब हो गई थी। जिससे पीड़ित क्षेत्र के किसानों के लिए शासन स्तर से जिले के अन्य तहसीलों के अलावा मऊरानीपुर तहसील क्षेत्र के 90 ग्रामों के किसानों लिए एक निश्चित धनराशि का निर्धारण भी कर दिया गया था। जिसके चलते संबंधित राजस्व विभाग द्वारा जल्दबाजी में कागज जमा भी कराए गए। लेकिन जल्दबाजी के चलते कही न कही अधिक रुप में गलतियां हो जाने से किसानों को शासन द्वारा निर्धारित की गई मुआवजा राशि जोत जमीन के रकवा के मुताबिक नही मिली। जिसके चलते खिलारा, भण्डरा, बसरिया, धायपुरा, नयागांव, बरुआमाफ, देवरीघाट, पुरवा, घाटकोटरा, कदौरा, भानपुरा, बिरगुआं, खकौरा, कुअरपुरा, हरपुरा, पंचमपुरा, पठा, ढ़करवारा, खरकामाफ, सितौरा, बुखारा, भदरवारा, बड़ागांव, चुरारा, मथूपुरा, टकटौली, मैलवारा, बख्तर, कैलुआ, बीरा, धोर्रा, चितावत, रौनी, सिगरवारा, हीरापुर, पचवई, पिपरोखर, बरौरी आदि ग्रामों के किसानों ने मऊरानीपुर तहसील क्षेत्र के अधिकारियों से मामले की सही जांचकर शासन स्तर से निर्धारित किए गए उचित मुआवजा दिए जाने की मांग की है। ग्राम पंचायत ढ़करवारा के किसान रामकृपाल, राकेश तिवारी, चंद्रमोहन मिश्रा, अशोक तिवारी, महीपत तिवारी, प्रेमनारायण तिवारी, हरिदयाल श्रीवास सहित दर्जनों किसानों ने रविवार को बताया कि उनके पास जो जोत खेती की जमीन है उस जमीन के रकबा के हिसाब से सरकार द्वारा निर्धारित की गई मुआवजा राशि उनके बैंक खातों में नही आ रही है। वही अनेक किसानों का कहना है कि उनके खाते में अभी तक एक भी रुपए नही पहुंचा है। जबकि हल्का लेखपाल को सभी जरूरी दस्तावेज उपलब्ध कराये गए थे। इसके बावजूद भी सरकार द्वारा निर्धारित मानक राशि उपलब्ध नहीं कराई गई। किसानों ने संबंधित राजस्व विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि खेती की भूमि अलग-अलग जगहों पर होने तथा एकल खाता होने पर भी धनराशि नही डाली जा रही है जिसकी जांच होना अति अवश्य है। इसके साथ ही जिन किसानों को मुआवजा नही मिला है उन्हें मुआवजा दिए जाने व अलग-अलग मोजों में स्थित जोत जमीन की राशि भी संबंधित विभाग ने क्षेत्र के किसानों के नियमनुसार दिए जाने की मांग की गई है। इस संबंध में लेखपालों का कहना है कि जल्द ही शेष किसानों की मुआवजा राशि भेजी जा रही है।

About The Author

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.