March 1, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी15नवम्बर*चायल सर्किल में भांग के ठेका पर बेखौफ बिकता है गांजा*

कौशाम्बी15नवम्बर*चायल सर्किल में भांग के ठेका पर बेखौफ बिकता है गांजा*

कौशाम्बी15नवम्बर*चायल सर्किल में भांग के ठेका पर बेखौफ बिकता है गांजा*

*गांजे के ठीके पर फुल नशे की गारंटी देने वाले गांजा तस्कर पर क्यू मेहरबान ……….पुलिस*

*तीन दिन पहले कुर्क हुई बसुहार में गांजा तस्कर के संपत्ति इन पर क्यू नही हो रही कार्यवाही*

चायल,कौशाम्बी वैसे तो जिले के लगभग अधिकतर भांग के ठेके गांजा बेचने के लिए पिछले तीन दशक से बदनाम है लेकिन बेखौप तरीके से कुछ दिन पहले पिपरी थाना क्षेत्र के चायल चौकी अंतर्गत भांग की दुकान में खुलेआम गांजा बेचने का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें ठेकेदार के कर्मचारियों का और खरीददारों के बीच बातचीत भी सब कुछ स्पष्ट कर रही है लेकिन गाँजा बेचने की बात ना तो पुलिस मानने को तैयार है ना आबकारी अधिकारी गाँजा बिक्री की बात को मानने के लिए तैयार है। वही *चायल सर्किल में अधिकारियों के आंख में धूल झोंक कर गांजा तस्कर भांग के ठेके पर गांजा* बेचने का कार्य करते है। वही जिले के बड़े अफसर तो गांजा विक्रय की बात सिरे से खारिज कर रहे हैं चायल पुलिस चौकी क्षेत्र के जिस दुकान में गांजा बिक्री की बात हो रही है दूसरी तरफ चंद दूरी पर सीओ कार्यालय है फिर भी गांजा बिक्री करने वाले पर कोई कार्यवाही नही हो रही है। ठेकेदार सरकारी कीमत की एक वर्ष में भांग की बिक्री करता है उस से 100 गुना अधिक की रकम यह सरकार को भांग के ठेका की नीलामी में देता है आखिर इस दुकानदार के पास भांग बिक्री से 100 गुना अधिक नीलामी में ठेका लेने के पीछे आमदनी का क्या श्रोत है। इस पर भी पुलिस से लेकर शासन प्रशासन के अधिकारियों ने अभी तक जांच नहीं कराई है। जिससे भांग के ठेके के आड़ में बेखौफ तरीके से पूरे दिन गाँजा की बिक्री का यह खेल बेखौफ तरीके से चल रहा है। जो योगी सरकार के एमनादार व्यवस्था पर उठते सवाल वही नए एसपी महोदय ने चार्ज लेते ही पत्रकारों से गोष्ठी आयोजन में कहा पहली प्राथमिकता अवैध गांजा माफियाओं वा बालू माफियाओं पर नकेल कसने की बात कही थी लेकिन एसपी महोदय की बातों को नजर अंदाज करते हुए उनके थाना अध्यक्ष बदनाम करने की कर रहे कोशिश बदनामी l

*अब नए ईमानदार एसपी बृजेश श्रीवास्तव से क्षेत्र की जनता उम्मीद लगाए बैठी है।*

About The Author