July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

लखनऊ14जून*यूपीआजतक न्यूज़ से लखनऊ की खास खबरे

[6/14, 23:28] Archana Kapoor Lko: लखनऊ 14 जून यूपी आजतक की खास न्यूज़

लखनऊ आज जेठ के आखिरी मंगलवार को हनुमान जी के दर्शनों के लिए मंदिरों की भारी भीड़

आज जेठ का आखिरी मंगलवार है उत्तर प्रदेश के हर जिले में हनुमान मन्दिरों में हनुमान जी के भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है गर्मी जितनी तेज है भक्तों में जोश भी उतना ही ज्यादा है हर जगह 20 कदम की दूरी पर भक्तों के लिए भण्डारे के टेंट लगे हैं कहीं पूरी सब्जी खस्ता हलुवा कहीं शर्बत तो कहीं कुल्फी की भरमार लगी है बड़ो से ले कर बच्चो तक मे जोस है जिसे देखो जी श्री राम जय बजरंग बाली हनुमान की जय जय कार से मंदिर में गूंज है

लखनऊ से अर्चना खन्ना की रिपोर्ट
[6/14, 23:29] Ankur Gupta Bidhuna: बीते जुमे की नमाज के बाद हुए हंगामे और नारेबाजी के पीछे मास्टर माइंड कौन! तलाश में जुटी खुफिया एजेंसी!

लखनऊ- खबर लखनऊ से है जहाँ बीते जुमे टीले वाली मस्जिद पर नमाज के बाद हुए हंगामे और नारेबाजी के पीछे मास्टर माइंड कौन था इसकी पड़ताल खुफिया एजेंसियां और पुलिस की टीमें कर रही हैं। इसके लिए इंटरनेट मीडिया पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। टीमों ने फोटो और वीडियो फुटेज के आधार पर नारेबाजी करने वाले 100 से अधिक लोगों को चिन्हित भी कर लिया। उन पर सख्त कार्यवाही की तैयारी चल रही है। खुफिया विभाग का मनना है कि कुछ लोग बड़ी प्लानिंग करके जुमे की नमाज में टीले वाली मस्जिद पर पहुंचे थे। लेकिन पुलिस और प्रशासन की सतर्कता के कारण वह सिर्फ नारेबाजी तक सीमित रहे। मौका मिलते ही वह बड़ी घटना भी कर सकते थे। तो वही लखनऊ पुलिस हंगामा करने वालों को उकसाने वाला कौन मास्टरमाइंड है। किसके कहने पर सामान्य जुमे से चार गुना अधिक तादाद में लोग पहुंचे थे। इस पर जांच कर रही है! इंस्पेक्टर चौक प्रशांत कुमार मिश्र ने बताया कि नारेबाजी करने वाले लोगों को नोटिस देकर उन्हें पाबंद किया जाएगा। नोटिस तैयार की जा रही है। वहीं लखनऊ पुलिस के द्वारा आगामी जुमे की नमाज को लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। तो वही धर्म गुरुओं और पीस कमेटी की बैठक की जा रही है। बैठक में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की गई है।
एसीपी चौक आइपी सिंह ने बताया कि जो संवेदनशील इलाके है वहाँ कड़ी सुरक्षा होगी। वहां पर अर्धसैनिक बल को तैनात किया जा रहा है। ड्रोन से गलियों और मोहल्लों में नजर रखी जा रही है। पुराने लखनऊ में करीब 550 मस्जिदें हैं। सभी मस्जिदों के मौलवियों और वहां पर जाने वाले लोगों को समझाया जा रहा है कि किसी प्रकार का हंगामा अथवा नारेबाजी करने की कोशिश न करें। नहीं तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट-अंकुर गुप्ता