July 25, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

मिर्जापुर26जून24*राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज की बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाई 150 वीं जन्म जयंती*

मिर्जापुर26जून24*राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज की बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाई 150 वीं जन्म जयंती*

मिर्जापुर से बसन्त कुमार गुप्ता की रिपोर्ट यूपी आजतक

मिर्जापुर26जून24*राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज की बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाई 150 वीं जन्म जयंती*

*अपना दल एस ने आरक्षण के जनक एवं सामाजिक न्याय के पुरोधा न्याय प्रिय राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज की बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाई 150 वीं जन्म जयंती*

प्रिय राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज ने सभी को प्राथमिक शिक्षा उनकी सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकताओं में से एक थी। डां० जमुना प्रसाद सरोज

मिर्जापुर। 26 जून 2024 को रेलवे स्टेशन द्वितीय प्रवेश द्वार के सामने पथरहिया में आरक्षण के जनक महान समाज सुधारक वंचितों के सच्चे हितैषी राजर्षि छत्रपति शाहूजी महाराज की 150 वीं जन्म जयंती के शुभ अवसर पर कार्यवाहक जिलाध्यक्ष इं० राम लौटन बिदं की नेतृत्व में जयंती मनाई गई। इस दौरान छत्रपति शाहूजी महाराज के चित्र पर माल्यार्पण कर उनके बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लिया। जयंती के शुभ अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व विधायक डॉ० जमुना प्रसाद सरोज जी उपस्थित रहें। जयंती के दौरान मुख्य अतिथि राष्ट्रीय महासचिव श्री सरोज ने कहा कि शाहू “जिन्हें राजर्षि शाहू महाराज, छत्रपति शाहू महाराज या शाहू महाराज” भी कहा जाता है मराठा के भोंसले राजवंश के (26 जून, 1874 – 6 मई, 1922) राजा (शासनकाल 1894 – 1900) और कोल्हापुर की भारतीय रियासतों के महाराजा (1900-1922) थे।  उन्हें एक वास्तविक लोकतान्त्रिक और सामाजिक सुधारक माना जाता हैं। कोल्हापुर की रियासत राज्य के पहले महाराजा, वह महाराष्ट्र के इतिहास में एक अमूल्य मणि थे। सामाजिक सुधारक ज्योतिराव गोविंद राव फुले के योगदान से काफी प्रभावित, शाहू महाराज एक आदर्श नेता और सक्षम शासक थे जो अपने शासन के दौरान कई प्रगतिशील और न्याय पथ गतिविधियों से जुड़े थे। 1894 में अपने राजनेता से 1922 में उनकी मृत्यु तक, उन्होंने अपने राज्य में निचली जाति के विषयों के कारण अथक रूप से काम किया। जाति और पन्थ के बावजूद सभी को प्राथमिक शिक्षा उनकी सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकताओं में से एक थी। छत्रपति शाहूजी महाराज ने 1902 में अपने कोल्हापुर राज्य में कमजोर वर्गों के लिए 50% पहला आरक्षण देने का काम किया। और आप सभी से बड़े हर्ष के साथ बताना चाहता हूं कि आगामी दो जुलाई को अपना दल एस पार्टी के संस्थापक यशा: कायी: डॉ सोनेलाल पटेल जी की जन्म जयंती पर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जन स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाई जाएगी, आयोजित होने वाले समारोह में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने का आह्वान किया।

About The Author

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.