July 4, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

औरैया16जून*यूपीआजतक न्यूज़ से खास खबरे

[6/16, 16:38] Ram Prakash Sharma: *गेहूं खरीद के लिए 30 जून तक बढ़ाया गया समय*

*15 जून तक निर्धारित किया गया था गेहूं खरीद का समय*

*51 हजार मैट्रिक टन गेहूं खरीद का दिया गया था लक्ष्य, सिर्फ 790.37 मेट्रिक टन हुई खरीद*

*औरैया।* जिले में गेहूं की खरीद 15 जून से बंद हो चुकी है। गेहूं क्रय केंद्रों को जो लक्ष्य दिया गया था उसे पूरा नहीं किया जा सका। कुल मिलाकर केंद्रों पर 51 हजार मैट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य दिया गया था , लेकिन इसके सापेक्ष सिर्फ 790.37 मेट्रिक टन गेहूं की खरीद हो सकी। इसी के मद्देनजर प्रदेश सरकार द्वारा गेहूं खरीद का समय बढ़ाते हुए 30 जून 2022 किया गया है। गेहूं खरीद का लक्ष्य सिर्फ 1.55 फ़ीसदी पर पहुंचा है। यानी खरीद 2 फ़ीसदी भी नहीं हो पाई, जबकि बीते वर्ष बिना लक्ष्य के 45 हजार मैट्रिक टन गेहूं की खरीद हुई थी।अब देखना होगा इस एक पखवारा में कितना गेहूं और क्रय किया जा सकेगा।
जिले में शासन की ओर से 1 अप्रैल से गेहूं खरीद शुरू हुई थी। खरीद के लिए जिले भर में 65 केंद्र बनाये गये थे। जिले को 51 हजार मैट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य दिया गया था। शुरुआती दौर में सेंटर पर गेहूं नहीं पहुंचे थे। मंडी में आढ़तों पर गेहूं के रेट क्रय केंद्रों से अधिक थे जिसके चलते किसान आढ़तों पर अपना गेहूं बेच रहे थे। क्रय केंद्रों पर सन्नाटा रहता था। कम खरीद पर जिला विपणन अधिकारी ने क्रय केंद्र प्रभारियों को खरीद बढ़ाने के निर्देश दिए। इसके बाद प्रभारियों ने किसानों से गांव-गांव जाकर संपर्क किया। जिसके बाद गेहूं की खरीद शुरू हुई। गेहूं के निर्यात पर रोक लगते ही कुछ केंद्रों पर गेहूं खरीद की रफ्तार बढ़ी , लेकिन फिर भी खरीद पर खासा असर नहीं पड़ा। जानकारों का कहना है कि इस बार गेहूं कम मात्रा में पैदा हुआ है जबकि अधिकांश किसानों ने गेहूं रोक भी लिया है, जिसके चलते खरीद कम हुई है। जिला विपणन अधिकारी सुधांशु शेखर चौबे ने बताया कि जिले में 51 हजार मैट्रिक टन गेहूं का लक्ष्य दिया गया था , जिसके सापेक्ष में 790.37 मेट्रिक टन गेहूं की खरीद हुई। गेहूं की खरीद 1.55 फ़ीसदी पर पहुंची है। आपको बताते चलें कि बीते वर्ष बिना लक्ष्य के निर्धारित जिले में 45 हजार मैट्रिक टन गेहूं की खरीद हुई थी। जबकि इस वर्ष लक्ष्य हासिल करना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।
*इंसैट*-
*गेहूं की सरकारी खरीद 30 जून तक होगी-मुख्यमंत्री*
*औरैया।* सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में गेहूं खरीद की सुस्त चाल को गंभीरता से लिया है, उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि गेहूं खरीद की अंतिम तिथि 30 जून तक बढ़ाई जाए तथा अधिकारी सुनिश्चित करें कि किसानों को कोई दिक्कत ना होने पाए। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश बुधवार को अपने आवास पर हुई टीम-09 की बैठक में उच्च अधिकारियों को देते हुए कहा है कि किसानों के हित संरक्षण को सुनिश्चित करते हुए गेहूं खरीद की प्रक्रिया को आगामी 30 जून तक जारी रखा जाए। अधिकारी क्रय अवधि बढ़ाने का आदेश तत्काल प्रभावी करें , साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि आगामी दिनों में बारिश की संभावना को देखते हुए खरीदे जा रहे गेहूं की सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाएं।
[6/16, 16:39] Ram Prakash Sharma: *अज्ञात कारणों से डम्पर चालक की हुई मौत*

*बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर डम्पर चलता था युवक*

*औरैया।* यमुना एक्सप्रेस वे पर एक डंपर चालक गुरुवार की सुबह बेहोशी की हालत में पड़ा देखा गया , जिस पर उसके साथी उसे तुरंत जिला अस्पताल ले आये, जहां पर चिकित्सकों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
कोतवाली अजीतमल क्षेत्र के ग्राम खेतूपुर निवासी मोहित 32 वर्ष पुत्र नीरज कुमार जोकि निर्माणाधीन यमुना एक्सप्रेसवे थाना क्षेत्र के ग्राम नौरी के समीप एक्सप्रेस वे निर्माण के लिए डम्पर चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। गुरुवार की सुबह जब उसका साथी उसे जगाने गया तो उसे बेहोशी की हालत में पाया। जिस पर वह उसे आनन- फानन 50 शैय्या युक्त जिला संयुक्त चिकित्सालय ले आया और भर्ती कराया। जहां पर चिकित्सकों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए शव विच्छेदन गृह चिचौली भेज दिया। उपरोक्त डंपर चालक के साथी मोनू कश्यप ने दूरभाष के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया के रात भर एक्सप्रेस वे पर काम चलता रहा। सुबह करीब 3 बजे डम्पर खड़ा हुआ था और मोहित उसे लेटा मिला। जब उसने उसे जगाने का प्रयास किया तो वह कुछ भी नहीं बोला। जिस पर वह उसे अस्पताल ले आया जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित किया है। मोनू ने बताया कि मृतक के तीन संतानों में दो बेटियां क्रमसः 5 वर्ष व 7 वर्ष की हैं जबकि 1 पुत्र 2 वर्ष का है। डम्पर चालक की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया।