April 21, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

लखनऊ26नवम्बर23*देश में सबसे ज्यादा बोले जाने वाला झूठ कि कानून सबके लिए - बराबर है--भानुप्रताप सिंह

लखनऊ26नवम्बर23*देश में सबसे ज्यादा बोले जाने वाला झूठ कि कानून सबके लिए – बराबर है–भानुप्रताप सिंह

लखनऊ26नवम्बर23*देश में सबसे ज्यादा बोले जाने वाला झूठ कि कानून सबके लिए – बराबर है–भानुप्रताप सिंह

संविधान को अंग्रेजों ने अपने #प्रजातंत्र को जारी रखने लिए बनवाया था। फिर भी बाबा साहब ने “जनता की सरकार,जनता के द्वारा,जनता के लिए” लिख कर भारतीय जनता को लोकतंत्र स्थापित करने का रास्ता बना दिया था।
लेकिन कांग्रेस ने “भारत निर्वाचन आयोग” को संविधान की 9वी सूची में दर्ज कर आयोग को संवैधानिक दर्जा दे दिया। जिसकी वजह से “जनता की सरकार” वाले #लोकतंत्र की हत्या हो गई और #पार्टियों वाला #प्रजातंत्र स्थापित हो गया। आज भारत की जनता लोकतांत्रिक सरकार नहीं राजा का चुनाव करती है। आज राजा की चलती है राजा संविधान से ऊपर है।

26 नवंबर 1949 से लागू हुए देश के महान भारतीय संविधान (भारतीय कानून दिवस) को…

संविधान का अनुच्छेद धारा 140 के अनुसार ओबीसी कौन..?? कितने..?? उनका हक नही मिला कई आयोग बने सरकारे मौन हैं। कॉंग्रेस पार्टी ने, #10 अगस्त 1950 को यानी एक साल के अंदर ही,संविधान के अनुच्छेद 341 (SC आरक्षण) में पैरा (3) के मार्फत #धार्मिक पाबंदी लगाकर, भारत को “हिंदूराष्ट्र” घोषित कर संविधान को कलंकित कर दिया..

संविधान की वजह से पढ़े लिखे लोग आज राजसत्ता के गुलाम हैं…

उनको #लोकतंत्र नहीं बल्कि #लूटतंत्र में हिस्सेदारी भागेदारी के नाम पर जूठन चाहिए…

फिर भी सभी देशवासियों को संविधान दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं…?

भारतीय मतदाता संघ

About The Author