May 16, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

मैनपुरी23जनवरी*विधानसभा चुनाव पर विशेषः*

मैनपुरी23जनवरी*विधानसभा चुनाव पर विशेषः*

*चुनाव में बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा*

*- हाथ पर हाथ रखे बैठे है हजारों युवा*

*शिवेन्द्र शाक्य*

*मैनपुरी।* विधानसभा चुनाव आते ही मुद्दों की बात शुरू हो जाती है। शहर से लेकर गांव तक चौपालें लगती हैं और लोग सत्ता पक्ष और विपक्ष के कार्यों पर चर्चा करते हैं। विभिन्न मुद्दों के साथ इन दिनों जनपद में बेरोजगारी भी बड़ी चर्चा का विषय बनी हुई है। हजारों हाथ खाली है। मजदूरों को मजदूरी के लिए भी परेशान होना पड़ रहा है। स्थानीय कारोबार से जुड़े उद्योगों को बढ़ावा देने की मांग यहां के लोग सालों से करते आए हैं मगर अफसोस किसी भी सरकार ने रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए स्थानीय कारोबार को बढ़ावा देने की कोशिश नहीं की।
जिला में आलू, लहसुन और चावल की खेती के लिए भी जाना जाता है। एक जमाना था जब यहां मटर और गन्ना की खेती भी खूब होती थी। उस समय यहां गन्ना आधारित उद्योग की मांग उठी। जनपद भर के लोगों ने चीनी मिल की स्थापना की बात की। नेताओं ने भी चीनी मिल लगाने के वादे किए। मगर ऐसा नहीं हुआ। अब यहां आलू, लहसुन आधारित उद्योगों की मांग उठ रही है। ये बात अलग है कि सालों से उठ रही मांग को किसी भी सरकार ने पूरा नहीं किया है। यही वजह है कि यहां के बेरोजगार रोजगार की तलाश में दूसरे जिलों और दूसरे राज्यों में भटकने पर मजबूर होते हैं। लोग कह रहे हैं कि जो भी नई सरकार बने वो मैनपुरी में स्थानीय उद्योगों को बढ़ावा दे और स्थानीय स्तर पर ही रोजगार के अवसर पैदा किए जाएं तो यहां के युवाओं को काम मिल सकता है। घर बैठकर रोजगार के अवसर पैदा हो सकते हैं।