July 18, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

बाराबंकी4जुलाई24*डॉयल-112 आपात सेवाओं की रैंकिंग में बाराबंकी को मिला प्रदेश में प्रथम स्थान-*

बाराबंकी4जुलाई24*डॉयल-112 आपात सेवाओं की रैंकिंग में बाराबंकी को मिला प्रदेश में प्रथम स्थान-*

बाराबंकी4जुलाई24*डॉयल-112 आपात सेवाओं की रैंकिंग में बाराबंकी को मिला प्रदेश में प्रथम स्थान-*

बाराबंकी से शोभित शुक्ला की रिपोर्ट यूपीआजतक

पुलिस अधीक्षक बाराबंकी श्री दिनेश कुमार सिंह के कुशल नेतृत्व में, अपर पुलिस अधीक्षक, उत्तरी/नोडल अधिकारी- डॉयल-112 श्री चिरंजीव नाथ सिन्हा के पर्यवेक्षण में डॉयल-112 प्रभारी निरीक्षक श्री उमेश बहादुर सिंह और उनकी टीम के अथक परिश्रम से *जनपद की डॉयल-112 टीम ने प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया ।*

प्रदेश के समस्त जिलों की डॉयल-112 आपात सेवाओं के कार्यों की गुणवत्ता की डॉयल-112 मुख्यालय द्वारा निम्न मानकों पर माह-जून की समीक्षा की गई:- इंवेंट एक्नालेज, एनरूट, आरओआईपी एक्टिविटी, रेस्पांस टाइम, संतुष्टि फीडबैक, इंवेंट क्लोजर, PREMPT EVENT आदि।
उपरोक्त समीक्षा में जनपद बाराबंकी की डॉयल-112 आपात सेवा टीम ने कुल 90 अंकों में से 59 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। उल्लेखनीय है कि यूपी-112 मुख्यालय द्वारा *निर्धारित स्टैण्डर्ड रिस्पांस टाइम 15 मिनट का है, जबकि बाराबंकी की डॉयल 112 की टीम ने इसे 8.56 मिनट में ही इस लक्ष्य को प्राप्त किया है।* इस प्रकार बाराबंकी की डॉयल 112 टीम ने पीड़ित/शिकायतकर्ता को *निर्धारित समय सीमा से 40% पहले ही त्वरित सहायता* प्राप्त कराने का लक्ष्य अहर्निश ड्यूटी कर प्राप्त किया। इसी के साथ-साथ जनपद बाराबंकी का *निगेटिव फीड बैक प्रतिशत भी प्रदेश में सबसे कम है।* जनपद बाराबंकी के रेडियो ओवर इण्टरनेट प्रोटोकॉल (आरओआईपी) का क्लोज मॉनीटरिंग रात-दिन किया गया, जिसके परिणाम स्वरूप कौन सी पीआरवी मौके पर सबसे कम समय में पहुंचकर पीड़ित को सहायता पहुंचा सकती है, को सुनिश्चित किया गया, जिसके फलस्वरूप *PREMPT EVENT शीर्षक में भी जनपद को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।* PREMPT EVENT का तात्पर्य यह है कि यदि मुख्यालय स्तर से कोई इवेंट किसी पीआरवी को आवंटित हुआ है और वह किसी कारण से उक्त इवेंट के मौके से दूर है तो उसे स्थानीय स्तर पर तुरन्त दूसरी सबसे नजदीक की पीआरवी को स्थानान्तरित करना, यह मॉनीटरिंग आरओआईपी पर मिनट टू मिनट की जाती है।

➡जनपद में इस समय 48 फोर व्हीलर पीआरवी व 24 टू व्हीलर पीआरवी कार्यरत हैं।
➡जून महीने में जनपद में 16,934 इवेंट प्राप्त हुए और शत प्रतिशत इवेंट को अटेण्ड करते हुए पीड़ित को तत्काल सहायता पहुंचाना सुनिश्चित किया गया।

*माह-जून में डॉयल 112 बाराबंकी द्वारा किये गये प्रमुख सराहनीय कार्यों का विवरण निम्नवत है-*
*1. गुमशुदा महिला को अल्प समय में ढूंढकर परिजनों से मिलाना-* दिनांक 23.06.2024 को कॉलर द्वारा डॉयल 112 के माध्यम से सूचना दी गई कि थाना टिकैतनगर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम बरायन से उसके भाई की पत्नी शाम से बिना किसी को बताये घर से गायब हो गई है। उक्त सूचना पर पीआरवी 5495 पर नियुक्त कर्मचारीगण ने सूचना प्राप्त होने के 01 घण्टे के अन्दर उसे खोजकर परिजनों के सकुशल सुपुर्द किया। गुमशुदा महिला को पाकर उसके परिजनों काफी खुश हुए और गुमशुदा महिला भी अपने आप को अपने परिजनों के बीच पाकर बहुत खुश हुई।

*2. दुर्घटना में घायल एक माह के शिशु को गोल्डेन ऑवर में हॉस्पिटल पहुंचाकर उसकी जीवन रक्षा करना-* दिनांक 26.06.2024 को कॉलर द्वारा सूचना दी गई कि थाना घुंघटेर क्षेत्रान्तर्गत सिद्धार्थनगर दीनपनाह मोड़ के पास एक वैन चालक द्वारा उसकी मोटरसाइकिल में टक्कर मार दी गई है जिससे कॉलर व उसकी पत्नी एवं एक माह का बच्चा गम्भीर रूप से घायल हो गये हैं। उक्त सूचना पर पीआरवी 5490 पर नियुक्त कर्मचारीगण द्वारा गोल्डेन ऑवर के अन्दर पीआरवी से इलाज हेतु सीएचसी घुंघटेर में भर्ती कराया गया, जिससे उस नन्हें शिशु की जान बच सकी। *मानवीयता से ओत-प्रोत इस कार्य हेतु पीआरवी 5490 को डॉयल-112 मुख्यालय द्वारा पीआरवी ऑफ द डे घोषित किया गया था।*

*3. आत्महत्या करने जा रहे नवयुवक को बचाया-* दिनांक-25.06.2024 को कॉलर द्वारा सूचना दी गई कि मेरा बेटा किसी बात को लेकर घर से नाराज होकर ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या करने के लिए घर से कह कर गया है। चूंकि उस लड़के को मिनटों के अन्दर में ऐसा करने से रोकना था। अतः मौके पर उपलब्ध पीआरवी 1723 ने पीआरवी को हाई स्पीड में रफीनगर बिन्दौरा ट्रैक की ओर ले गये। वह लड़का उन्हें रेलवे ट्रैक पर दिखाई दिया, जहां कुछ ही समय में ट्रेन गुजरने वाली थी, उसे किसी तरह समझा-बुझाकर ट्रैक से बाहर निकाला गया एवं उसकी जान बचाई गई।
*जून माह में सड़क दुर्घटना में 156 घायल व्यक्तियों को पीआरवी ने स्वयं एवं यूपी-108 आपात स्वास्थ्य सेवाओं की सहायता से बिना समय गंवाये हॉस्पिटल पहुंचाया, जिससे उनकी जीवन रक्षा हो सकी।*

*प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त होने पर पुलिस अधीक्षक बाराबंकी द्वारा जनपद बाराबंकी के डॉयल-112 टीम की सराहना की गई एवं डॉयल-112 में नियुक्त समस्त कर्मचारीगण को उत्तम प्रविष्टि दी गई।*

About The Author

Taza Khabar

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.