May 16, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

*दम है तो उठाओ आवाज पत्रकार हो तो कहो पत्रकार एकता जिंदाबाद*

*दम है तो उठाओ आवाज पत्रकार हो तो कहो पत्रकार एकता जिंदाबाद*

*अत्यंत दुख की बात है की आजादी के 75 वर्ष बीत जाने के बाद भी देश का चौथा स्तंभ पत्रकार मीडिया बंधु निशुल्क समाज सेवा का कार्य कर रहे हैं जिस पर किसी भी राजनैतिक दल के द्वारा अभी तक और वर्तमान में चुनावी घोषणा पत्र में किसी भी पार्टी ने यह नहीं कहा कि जब हम सत्ता में आएंगे तो पत्रकारों के लिए क्या करेंगे उनकी किस प्रकार सुरक्षा की जाएगी उन्हें किस प्रकार सुविधाएं दी जाएंगी जो सुविधाएं कार्यपालिका न्यायपालिका और विधायका को मिलती हैं ठीक उसी प्रकार से देश का चौथा स्तंभ पत्रकार मीडिया बंधु को भी मिलनी चाहिए बहुत सारे चैनल समाचार पत्र सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों एवं उनके अध्यक्षों से बराबर संवाद करते हैं और समाचार पत्र में खबरों का प्रकाशन भी करते हैं लेकिन क्या किसी भी पत्रकार की यह पूछने की हिम्मत हुई कि आप वर्ष 2022 में जब आप सत्ता में आएंगे तो पत्रकारों के लिए क्या करेंगे दम है तो उठाओ आवाज और कहो पत्रकार एकता जिंदाबाद पत्रकार सुरक्षा कानून बनाओ विधायक सांसद व जनप्रतिनिधियों की पेंशन बंद करो*