April 12, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी27फरवरी24*धान क्रय केंद्र में लेखपाल द्वारा धान खरीद मे बड़ी गड़बड़ी बना जांच का विषय

कौशाम्बी27फरवरी24*धान क्रय केंद्र में लेखपाल द्वारा धान खरीद मे बड़ी गड़बड़ी बना जांच का विषय

कौशाम्बी27फरवरी24*धान क्रय केंद्र में लेखपाल द्वारा धान खरीद मे बड़ी गड़बड़ी बना जांच का विषय

इसके पहले भी कपिल मुनि करवरिया के नाम बेचा गया है धान, अभी तक विभाग करा रहा है जांच

इसके पहले भी धवाडा और विदाव धान क्रय केंद्र भी हुई थी करोड़ों का घोटाला

जांच के नाम पर लग रहा है हों गया खेल जांच हुई टांय टांय फिस

कौशांबी संदेश गणेश अग्रहरि ब्यूरो प्रमुख कौशांबी

जिले की हुई धान खरीद मे गड़बड़ी रुकने का नाम नहीं ले रही है। कभी सत्यापन को लेकर हुई गड़बड़ी तो कभी धान खरीद सेंटर पर हुई गड़बड़ी। कभी धान को फर्जी लोडिंग दिखाकर खाली ट्रक को राइस मिल भेजने का भी मामला आया सामने,लेकिन सब फाइलों में दफन हो कर रह गया। अभी हाल ही में सदर तहसील मे अजीत कुमार लेखपाल द्वारा दर्जनों किसानों का फर्जी सत्यापन करने का मामला सुर्खियों मे है । कई सौ कुंटन धान खरीद का फर्जी सत्यापन किसानों का करोड़ों रुपए डकार लिया गया है। गौसपुर टिकरी की निवासी गीता देवी का सत्यापन 21 जनवरी को डिजिटल सत्यापन किया गया है, जिसमे 11 किसान और भी है । गीता और कुछ लोगों का पैसा भी निकल गया है ।

आखिर अब सवाल यह उठता है कि तीन-चार वर्षो से लगातार किसानों के साथ धोखाधड़ी कर फर्जी वाड़ा कर लेखपाल और उच्च अधिकारी मिलकर धन को डकार लिया जा रहा है जनपद में कौन ऐसा अधिकारी है जो किसानों के साथ ऐसा धोखाधड़ी कर रहा है और ऐसे अधिकारियों पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है यह एक बहुत बड़ा जांच का विषय है आखिरकार जिला अधिकारी कौशांबी की कलम ऐसे अधिकारियों पर कार्रवाई करने के लिए क्यों रुक रही है जबकि तीन-चार वर्षो में लगभग 10 करोड रुपए का घोटाला हो चुका है इसके बावजूद भी जनपद के जिला अधिकारी अधिकारियों पर मेहरबान है जबकि कुछ धन खरीदारों के नाम मुकदमा भी दर्ज हो चुका है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।

About The Author

Taza Khabar