May 19, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी22अप्रैल24*अफसर और ठेकेदार मिलकर किसानों की करोड़ों की उठा ले गए हरी लकड़िया*

कौशाम्बी22अप्रैल24*अफसर और ठेकेदार मिलकर किसानों की करोड़ों की उठा ले गए हरी लकड़िया*

कौशाम्बी22अप्रैल24*अफसर और ठेकेदार मिलकर किसानों की करोड़ों की उठा ले गए हरी लकड़िया*

*राष्ट्रीय राजमार्ग चौड़ीकरण के नाम पर एनएचएआई अफसर के जूते के नीचे पल रहा है पंचम लकड़ी ठेकेदार*

*कोखराज कौशाम्बी* राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण में किसानों के घर के सामने उनके जो हरे पेड़ खड़े थे उसे हटाने का निर्देश किसानों को दिया गया लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी और उनके ठेकेदारों ने किसानों को पेड़ नहीं हटाने दिया बल्कि किसानों का पेड़ अधिकारियों के संरक्षण में लकड़ी ठेकेदार हटाने लगे हैं और पेड़ बेचकर करोड़ की रकम एकत्रित कर ली है इस घोटाले पर कब रोक लगेगी पुलिस भी किसानों की सुनने को तैयार नहीं है देखते-देखते किसानों की करोड़ों रुपए की लकड़ी जबरिया ठेकेदार उठा ले गए हैं राष्ट्रीय राजमार्ग के नाम पर किसानों के साथ हुए करोड़ों के घोटाले के मामले में अभी तक ठेकेदार पर कार्रवाई नहीं हुई है किसानों की लकड़ी उठा ले जाने वाले ठेकेदार को गिरफ्तार कर अभी तक जेल नहीं भेजा गया है पंचम नाम के लकड़ी माफिया अपने दबंग सहयोगियों के साथ राम वन गमन मार्ग के किसानों को डरा धमका कर पेड़ काटकर करोड़ो की लकड़ी उठा ले जा रहा है अपनी लकड़ी बचाने के लिए किसान परेशान है

एनएचआई भूमि आधिपत्य के अधिकारी ने किसानों को मुआवजा देकर समयावधि में रोड़ जमीन से,वृक्ष को हटाने व रोड़ खाली करने के आदेश दिए लेकिन विभाग के गुप्ता नाम के एक अधिकारी कर्मचारी ने इस पंचम लकड़ी माफिया को बल दे दिया हैं और गुप्ता के संरक्षण में लकड़ी माफिया पंचम किसानों की लकड़ियों को बिना उनके आदेश के जबरिया उठा ले जा रहा है जबकि एनएचआई की ओर से कोई लिखित आदेश ठेकेदार को नहीं दिया गया है खुलेआम पूरे दिन 2 महीने से ठेकेदार की गुंडई चल रही है और किसान परेशान है आखिर किसानों के साथ करोड़ों का घोटाला हुआ है और किसान अपनी लकड़ी की कीमत वापस चाहते हैं लेकिन गुप्ता व अधिकारी बडे़ मुश्किल में अपना नाम अजय सिंह बता रहे हैं इनके और पंचम ठेकेदार के साठगाँठ के चलते किसानों को उनकी लकड़ी वापस नहीं मिल रही कोखराज थाना क्षेत्र के अन्तर्गत गिरसा चौराहे पर दो लकड़ी माफिया वा अपने वृक्ष बेचने वाले किसानों से झड़प होने लगी है पंचम नाम के लकड़ी माफिया अपने दबंग साथियों के साथ मिलकर एनएचआई में अधिग्रहण किसानों की भूमि में लगे फलदार बेशकीमती वृक्ष को किसानों को डरा धमका कर मुआवजा किसानों को बताकर वा सरकारी वृक्ष की बात कर किसानों की एनएचआई द्वारा राम वनगमन मार्ग में अधिग्रहित किसानों के वृक्ष का पी डबल्यू डी व चर्चा में एन एच आई के गुप्ता नाम के कर्मचारी के नाम पर किसानों के पेड़ की लकड़ी उठा ले गया है कई करोड़ के लकड़ी घोटाले पर अधिकारी गंभीर नहीं है किसान परेशान है थाना और चौकी पुलिस भी किसानों की सुनने को तैयार नहीं है जिससे कभी भी ठेकेदार और एनएचआई के अधिकारियों को किसानों के आक्रोश का शिकार होना पड़ सकता है किसानों की लकड़ी किसानों को मिले उनकी लकडी ले जाने वाले ठेकेदार और विभागीय अधिकारियों की गिरफ्तारी कराई जाए लकड़ी बरामद कराई जाए और राष्ट्रीय राजमार्ग के नाम पर किसानों के साथ हो रहे शोषण को बंद कराया जाए लेकिन उसके बाद भी विभाग किसानों के साथ न्याय करने को तैयार नहीं है न्याय और कानून की बात करने वाले जन प्रतिनिधि भी किसानों के दुख दर्द पर पीड़ित होते नहीं दिखाई पड़ रहे हैं एनएचआई मेंने लकड़ी घोटाले के लिए शासन स्तर से यदि जांच हुई तो एनएचआई के कई अधिकारी और ठेकेदार की गठजोड़ का खुलासा होना तय है और अफसर के साथ-साथ ठेकेदार की गिरफ्तारी हो सकती है लेकिन क्या योगीराज में भ्रष्ट अफसरो के चलते किसानों को उनका हक मिल पाएगा बड़ा सवाल खड़ा हो
गया है |

About The Author

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.