March 1, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कानपुर नगर01दिसम्बर23*निर्दोषों को अपराधी बनाने में माहिर योगी की कानपुर पुलिस

कानपुर नगर01दिसम्बर23*निर्दोषों को अपराधी बनाने में माहिर योगी की कानपुर पुलिस

कानपुर नगर01दिसम्बर23*निर्दोषों को अपराधी बनाने में माहिर योगी की कानपुर पुलिस।

कानपुर से मोनू सिंह कुशवाहा की रिपोर्ट यूपीआजतक

इस पुलिसकर्मी को अपराधी की तरह गिरफ्तार करके इस पर थर्ड डिग्री का प्रयोग किया जाए तो बड़े तमंचा सप्लायरों का खुलासा होगा

पुलिस अधिकारी बार-बार अपने अधीनस्थों को ईमानदार और स्वच्छ छवि का बताने से गुरेज नहीं करते

कानपुर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार में कानपुर पुलिस किस तरह से बेलगाम हो गई है निर्दोष को पुलिस अपराधी बनाने लगी है जबकि कानपुर पुलिस खुद अपराध करने में उतारू हो गई है इसका जीता जागता उदाहरण वीडियो में देखा जा सकता है वाहन चेकिंग के दौरान एक निर्दोष व्यक्ति के हाथों में तमंचा पकड़वा कर पुलिस ने उसे तमंचा सप्लायर बना दिया है जबकि तमंचा पुलिस की जेब से निकला है और युवक के हाथ में पुलिस द्वारा तमंचा देते हुए वीडियो में दिखाई पड़ रहा है अब इससे ज्यादा योगी पुलिस की शर्मनाक करतूत क्या होगी पूरी पुलिस वर्दी को इस पुलिस कर्मी ने शर्मसार कर दिया है लेकिन पुलिस अधिकारी बार-बार अपने अधीनस्थों को ईमानदार और स्वच्छ छवि का बताने से गुरेज नहीं करते हैं और योगी आदित्यनाथ सरकार अपने पुलिस को साफ सुथरा मान रही है युवक के हाथ में तमंचा देते हुए पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल होने के बाद भी पुलिस अधिकारियो ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया हैं निर्दोष युवक के हाथ में तमंचा देने वाले पुलिसकर्मी को अभी तक गिरफ्तार करके कमिश्नरेटेट पुलिस कानपुर ने जेल नहीं भेजा है जिससे पूरी पुलिस वर्दी शर्मसार हो रही है

कानपुर में लाइव गुडवर्क देखने को मिला है-युवक के पास से तमंचा और कारतूस बरामद करने का दावा करने वाली कानपुर पुलिस की करतूत की कलई खुल गई है ट्रैफिक पुलिस ने युवक के हाथ में तमंचा और कारतूस देने के बाद तमंचे के साथ युवक को पकड़ा है युवक के हाथ में पुलिस ने तमंचा पकड़वा बनाया वीडियो,युवक ने कहा ‘तमंचा मेरा नहीं’ तो सिपाही ने दी भद्दी गालियां कानपुर के टाटमिल चौराहे का यह मामला है जो पुलिस की वर्दी को कलंकित कर रहा है सवाल उठता है कि तमंचा सप्लायर से इस पुलिसकर्मी के क्या रिश्ते हैं पुलिस कर्मी के पास तमंचा कहां से आए और इस पुलिसकर्मी का यह पहला गुनाह है या यह पुलिस लगातार गुनाह करता रहा है इसकी जांच कराए जाने की जरूरत यदि इस पुलिसकर्मी को अपराधी की तरह गिरफ्तार करके इस पर थर्ड डिग्री का प्रयोग किया जाए तो बड़े तमंचा सप्लायरों का खुलासा होगा लेकिन सवाल उठता है कि यह पुलिस कर्मी है इसके सारे गुनाह योगी राज में माफ है

About The Author