June 30, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

औरैया14जून*बिधूना में हुए गोलीकांड का एसपी ने किया खुलासा*

औरैया14जून*बिधूना में हुए गोलीकांड का एसपी ने किया खुलासा*

*औरैया।* जिले की एसओजी व थाना बिधूना पुलिस द्वारा 09 जून 2022 को थाना बिधूना क्षेत्रान्तर्गत हुए गोली काण्ड की घटना का अनावरण करते हुए घटना के मास्टरमाइण्ड घायल अनुराग दुबे, उसके पिता वादी मुकदमा व उसके साथी झोलाछाप डॉक्टर को फर्जी 307 बनाने में उपयुक्त दवाईयां और उपकरणों सहित गिरफ्तार करते हुए फर्जी गोलीकाण्ड का सफल अनावरण किया गया।
पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने मंगलवार को मुख्यालय पर प्रेस वार्ता के दौरान उपरोक्त घटना का खुलासा करते हुए पत्रकारों को बताया कि 9 जून 2022 को वादी संजय कुमार पुत्र छोटेलाल नि० ग्राम मिरूअन मडहा थाना इठिया जनपद कन्नौज द्वारा थाना बिधूना पुलिस को सूचना दी गयी कि उनके पुत्र अनुराग दुबे को इटावा से घर वापस लौटते समय करीब साढे 09 बजे उनके गांव के ही 03 लोगों द्वारा जान से मारने की नियत से गोली मार दी गयी है। वादी की तहरीर के आधार पर थाना बिधूना पर जानलेवा हमला समेत विभिन्न धाराओं में आरोपी गौरव दुबे, सुधांशु दुबे व सतीश दुबे नि०गण मिरूअन मडहा थाना ठठिया जनपद कन्नौज अभियोग पंजीकृत कर वैधानिक कार्यवाही प्रारम्भ की गयी।
जनपद में हुई उपरोक्त गोलीकाण्ड जैसी गम्भीर घटना को दृष्टिगत रखते हुए घटना के अनावरण के लिए पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा के निर्देशन में अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल तथा क्षेत्राधिकारी बिधूना महेन्द्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में एसओजी टीम तथा थाना बिधूना से संयुक्त टीम का गठन किया गया था।उक्त घटना में मज़रूब की नोट तथा घटना स्थल को प्रथमदृष्टया सदिग्ध प्रतीत होते हुए पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा द्वारा घटना स्थल का जोन फॉरेंसिक टीम व जनपदीय फॉरेंसिक टीम के साथ स्वयं भी निरीक्षण किया गया था, जिसमें उक्त घटना के संदिग्ध होने के पर्याप्त साक्ष्य मिले थे। गठित टीमों द्वारा जाच की गयी तो जानकारी प्राप्त हुई कि वादी तथा प्रतिवादी पक्ष दोनों मूल रूप से जनपद कन्नौज के निवासी है तथा पुलिस द्वारा कढाई से पूछताछ करने पर वादी पक्ष द्वारा बताया गया कि दोनों के बीच विगत कई वर्षों से आपसी मुकदमेवाजी चल रही है। जिसमें पुराने मुकदमों में दबाव बनाकर राजीनामा करने की नियत से। उक्त घटना योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया गया था। उक्त प्रकरण में वादी तथा मजरूब से पूंछतांछ में कई तथ्य प्रकाश में आये जिसके आधार पर वादी, मजरूब तथा एक अन्य फर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार किया गया है तथा उपरोक्त अभियोग वादी, मजरूब व उसके साथियों के विरूद्ध धोखाधड़ी , लूट व अन्य धाराओं की बढ़ोत्तरी की गयी है। गिरफ्तार अभियुक्त अनुराम दुबे ने पुलिस पूंछतांछ में बताया कि हमारा विपक्षीगणों की विगत काफी समय से मुकदमेवाजी चल रही है। विपक्षीगणों द्वारा वर्ष 2019 में थाना इंडिया जनपद कन्नौज में मेरे व मेरे परिवारीजनों के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था, जिसमें अभियुक्त अनुराग दुबे जेल गया था मेरे द्वारा वर्ष 2021 में विपक्षीगणों के विरुद्ध थाना ठठिया पर जानलेवा हमला समेत अन्य धाराओं में अभियोग पंजीकृत कराया गया था।
इसी क्रम उपरोक्त हत्या की धारा के अभियोग में विपक्षियों पर दबाव बनान तथा राजीनामा करने के लिए हम सब ने मिलकर फर्जी 307 भादवि का मुकदमा जनपद औरैया में लिखाने की योजना बनाई, जिसमें मेरे साथी नीरज पाण्डेय ने मुझे अवैध कारतूस (गोली) उपलब्ध करायी थी एवं अभियुक्त दीवान सिंह फर्जी डॉक्टर के सहयोग से योजनाबद्ध तरीके से अभियुक्त अनुराग दुबे के शरीर में सुजे से मेरे गांव में खेत के पास बनी समर पर छेद करके गोली को रख दिया था एवं इसक उपरान्त रास्ते में पूर्व नियोजित जगह पर आकर गिर गया था तथा राहगीरों द्वारा पूलिस को सूचना दिलायी गयी थी।गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में प्रमुख रूप से अनुराग दुबे पुत्र संजय दुबे नि० मिरुअन मडहा थाना ठठिया जनपद कन्नौज (मजरूब) , संजय कुमार पुत्र छोटेलाल नि० ग्राम मिरूअन मडहा थाना ठठिया जनपद कन्नौज (मुकदमा वादी) , दीवान सिंह शाक्य पुत्र जयसिंह नि० दिलियाभूड थाना गुसरायगंज जनपद कन्नौज। (फर्जी डॉक्टर) आदि शामिल हैं। जबकि अभियुक्त नीरज पाण्डेय पुत्र महेन्द्र पाण्डेय नि० चांदापुर थाना कोतवाली जनपद कन्नौज की गिरफ्तारी होनी है। पकड़े गये अभियुक्तों का आपराधिक इतिहास रहा है। पकड़े गये अभियुक्तों के कब्जे से एक अदद सूजा घाव बनाने हेतु छेद करने के लिये, विभिन्न प्रकार की दवाईयां तथासिरंज बरामद हुई है।गिरफ्तार करने वाली टीम में निरीक्षक सत्येन्द्र सिंह यादव प्रभारी एसओजी, हे०कां० प्रवीन यादव, हे०का० रुपेन्द्र कुमार हे०का० संजय कुमार, कां० धर्मेन्द्र कुमार, कां० प्रभात मणि त्रिपाठी, कां० दीपक कुमार, कां० अमित कुमार, कां० सुबोध कुमार, कां० ललित कुमार, कां० विवेक कुमार कां० धर्मेन्द्र शर्मा।सुजीत कुमार वर्मा प्रभारी निरीक्षक थाना बिधूना, उ0नि0 भागीरथ सिंह, उ०नि० मुलेन्द्र सिंह मय टीम। उक्त शातिर ईनामी वांछित अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को उत्सावर्धन के लिए पुलिस अधीक्षक औरया अभिषेक वर्मा द्वारा10 हजार रुपए के नगद पुरस्कार से पुस्कृत करने की घोषणा की गयी है।

You may have missed