June 23, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

अयोध्या25फरवरी24*करतालिया बाबा की पुण्यतिथि पर विराट साधु संतो का भंडारा आयोजित

अयोध्या25फरवरी24*करतालिया बाबा की पुण्यतिथि पर विराट साधु संतो का भंडारा आयोजित

 

अयोध्या25फरवरी24*करतालिया बाबा की पुण्यतिथि पर विराट साधु संतो का भंडारा आयोजित

अयोध्या। नयाघाट स्थित करतालिया मंदिर के पूर्वाचार्य स्वामी करतालिया बाबा का पुण्यतिथि आज बड़े हर्ष और के साथ मनाया गया। इस दौरान संतों का विराट भंडारा हुआ। मंदिर के महंत रामदास महाराज की अध्यक्षता में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। अयोध्या के धर्म गुरुओ ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। बता दे कि प्रसिद्ध संत श्री करतलिया बाबा आश्रम संत तुलसीदास घाट अयोध्याधाम में सरयु तट गुरुदेव करतलिया बाबा अनुमानित दो अढाई सो वर्ष जगद् जननी पतित पावनि मां सरयु तट पर दुध व सरयु जल पीकर भजन तपस्या करते थे। राम नाम में लीन अनेको चमत्कारिक कार्य किया। कुछ शिष्यो के साथ लकड़ी का घर मे निवास करते थे। कभी कभी सरयु नदि में बाढ आ जाता, आश्रम में भी पानी भर जाता, बहुत संत बाबा से निवेदन करते बाबा गांव में चले, आपका सब ब्यवस्था वहा कर देते हें किन्तु बाबा सरयु तट नही छोडते, तख्ता चोकी पर आसन रख निरन्तर सीताराम सीताराम की धुन में मस्त रहते थे। अयोध्याधामवासी संत महान्त गृहस्थ सज्जन सब बाबाजी को बड़े श्रद्धा से संमान देते।
पुज्य गुरुदेव नित्य हनुमानगढी, कनक भवन दर्शन करने जाते। एक दिन कनक भवन में कनक बिहारी सरकार के सम्मुख सीताराम नाम में लीन करताल बजा बजा कर नाच नाचकर भावविभोर थे। बाबा जी पसीना से लथपथ। सीताराम नाम में मग्न थे। अचानक कनक बिहारी सरकार के पुजारी जी मंदिर से बाहर आकर बताऐ की भगवान श्री सीताराम जी के पोशाक भीगा हुआ है। यह चमत्कार देख पुजारी जी घबरा रहे थे। यह केसे हुआ। उस समय हनुमानगढी के बसंतिया पट्टी गुलचमनबाग के परम भजनानन्दी संत महान्त श्री बुलबुली बाबा पहलवान एवं काशी से दर्शन करने आए त्यागी बाबा महान्त बासुदेवदास जी महाराज आदि संत भी दर्शन करने आए थे। पुज्य करतलिया बाबा को पसीने तर वस्त्र देख पुजारी जी से बताऐ देखो करतलिया बाबा को शायद ठाकुर जी का पोशाक भीगने का चमत्कार सभी संतो ने करतलिया बाबा से आग्रह किए कुछ बिश्वास किजिए। ठाकुर जी पसीने से भीगे हूऐ है। तब बाबा बैठकर संकीर्तन करने लगे । कुछ देर बाद ठाकुर जी कनक बिहारी सरकार का पोशाक भी सुखा हुआ दिखने लगा। ऐसा अनेको चमत्कार बाबाजी के साथ होता रहता था। बाबाजी अपने माथे पर भी तिलक चंदन में सीताराम लिखते। प्रातः तिन बजे नित्य सरयु तट पर जोर जोर से सीताराम सीताराम गाते। जिससे अयोध्यावासी संत जाग जाते और सब सन्तो ब्रह्ममुहूर्त में स्नान करते भजन पुजा पाठ कर अपने अपने स्थान चले जाते, किन्तु गुरुदेव करतलिया बाबा अपने साधना भजन धून में मग्न रहते। महंत रामदास जी ने बताया की एक समय सरयु माता बड़े रोद्र रुप में बाढ लेकर आयी चारो तरफ पानी ही पानी यह सब देखकर अवध वासी कुछ संतो गृहस्थो ने सीद्ध संत श्री करतलिया बाबा से विनय पूर्वक कहा गुरुदेव अगर आप मां सरयु से प्रार्थना करेंगे तो माता सरयु अपना यह रोद्र रुप शान्त कर लेगी। यह बात सभी संतो का सुन सीद्ध संत श्री करतलिया बाबा जी माता सरयू से प्रार्थना किए मां अपना यह रोद्र रुप से सभी को क्यो दुख दे रही हो शान्त हो जाइए तत्काल ही माता सरयु शान्त हो गए और अवधवासी बाबा का जयघोष करने लगे। उस समय डिसटिक मजिस्ट्रेट श्री गया प्रसाद जी थे जो यह सब देखकर बहुत प्रभावित हुए ओर उन्होने अपने मित्रो के साथ मिलकर करीब पच्चीस तीस कमरे लकड़ी का बनवाकर आश्रम में रहने वाले संतो के लिए कमरा बनवाकर पुज्य गुरुदेव आदरणीय करतलिया बाबा को अर्पण किया। जहा सेकडो संत निवास भजन जप संकीर्तन करते। उनके साकेतवास के वाद गुरुदेव श्री मोनी बाबा हुए तत्पश्चात तीसरे पीढी में पुज्य स्वामी योगीराजजी महाराज महंत हुए जो अपने प्रिय शिष्य महंत बाल योगी जीमहाराज को समाजिक परंपरानुसार उस गदि पर अभिषेक किया जो वर्तमान महंत है। युवा संत है संत सेवा गो सेवा अभ्यागत सेवा में अग्रणीय है। कोविट महामारी में वेजुवान प्राणी गाय अन्य पशु एवं बन्दरो को नित्य घास चारा और भीगा हूआ चना खिलाकर सभी को क्षुधा तृप्त करते एवं अभी भी असहाय का सैवा करते ठंडी में गरीबो को गर्म कपडा कम्बल बांटे। साकेतवासी महंत करतालिया बाबा की पावन स्मृति में ही आज यहां पर भंडारा हुआ। जिसमें हजारों की संख्या में साधु संत भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। मंदिर के वर्तमान पीठाधीश्वर महंत रामदास जी महाराज ने सभी को अंग वस्त्र दक्षिणा देकर सभी का स्वागत सत्कार किया। इस मौके पर
महंत कन्हैया दास जी महंत विजय रामदास जी महाराज महंत सच्चिदानंद दास जी महाराज केदार यादव जी वाराणसी राधेश्याम यादव जी वाराणसी राजेंद्र यादव जी वाराणसी शिक्षक अभिषेक यादव आदि शामिल रहे।

About The Author

Taza Khabar

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.