July 4, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

लखनऊ14जून*रोहतास प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक परेश कुमार पर हुई बड़ी कार्यवाही, एक अरब से अधिक की संपत्ति हुई जब्त!

लखनऊ14जून*रोहतास प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक परेश कुमार पर हुई बड़ी कार्यवाही, एक अरब से अधिक की संपत्ति हुई जब्त!

लखनऊ- खबर लखनऊ से है जहां कोर्ट के आदेश पर परेश कुमार की हजरतगंज पुलिस ने मंगलवार को गिरोहबंद व समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम की धारा 14(1) के तहत संपत्ति जब्त कर ली। जब्त की गई संपत्ति एक अरब, 16 करोड़, 23 लाख, 13 हजार 675 रुपये के करीब है। परेश रस्तोगी ने हाउसिंग सोसाइटी के नाम पर कंपनी खोली थी और यह संपत्‍त‍ि एकत्र की थी! एडीसीपी राघवेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि परेश रस्तोगी का लाला लाजपत राय मार्ग पर आवास है। उसके खिलाफ शहर में कुल 82 मुकदमें दर्ज हैं। हजरतगंज थाने में 62, गौतमपल्ली में एक, चिनहट में दो और विभूतिखंड में 18 मुकदमें हैं। इसके अलावा कुछ गोरखपुर और कानपुर में हैं। हजरतगंज इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ला ने बताया कि जब्त की गई सारी संपत्ति अपराध के जरिए परेश ने बनाई है। राणा प्रताप मार्ग स्थित कैलाश बिल्डिंग, बादशाहनगर मेट्रो स्टेशन के पास स्थित इमारत, राजा राम मोहन राय मार्ग के पास पशुपति अपार्टमेंट, कुर्सी रोड स्थित जेनेसिस कल्ब के नाम से एक बड़ा भूखंड है। केएस ट्राइडेंट के नाम से एक इमारत इसके अलावा चार लक्जरी गाड़ियां और बैंक में जमा हुई धनराशि है। इसको जब्त कर ल‍िया गया है।
इंस्पेक्टर ने बताया कि वर्ष 2007 में परेश रस्तोगी ने हाउसिंग सोसाइटी का काम शुरू किया था तभी उसने कंपनी खोली थी। इन 15 सालों में उसने अरबों की अवैध संपत्ति बना डाली। लोगों से प्लाट के नाम पर रुपये लिए और हड़प लिए। मामले में सीएमडी परेश रस्तोगी उसका भाई पीयूष, दीपक और पंकज रस्तोगी फरार चल रहे हैं। वर्ष 2019 में निदेशकों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई हुई और इसके बाद लुकआउट नोटिस जारी हुई थी।

रिपोर्ट-अंकुर गुप्ता लखनऊ से न्यूज़ यूपीआजतक