July 21, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

मथुरा2जुलाई24*केएमयू ने राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर किया डॉ विधानचन्द्र रॉय को याद

मथुरा2जुलाई24*केएमयू ने राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर किया डॉ विधानचन्द्र रॉय को याद

मथुरा2जुलाई24*केएमयू ने राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर किया डॉ विधानचन्द्र रॉय को याद

केक काटकर केएमयू ने दी देशभर के समस्त डाक्टरों को शुभकामनाएं

मथुरा। केएम मेडीकल विश्वविद्यालय पाली डूंगरा सौंख रोड पर डॉ विधानचंद्र रॉय की स्मृति में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया गया। केएम विश्वविद्यालय और हॉस्पिटल के प्रशासनिक अधिकारीगणों ने डाक्टर्स के साथ केक काटकर देशभर के चिकित्सकों को नेशनल डाक्टर्स डे की शुभकामनाएं दी।
डॉ विधानचंद्र राय का जन्म 1 जुलाई को हुआ और निधन भी 1 जुलाई को ही सन 1962 को हुआ। चिकित्सा क्षेत्र में उनके योगदान को सम्मान देने के मकसद से 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाने की शुरुआत की गई थी। इसी कड़ी में आज केएम विवि के कॉन्फ्रेंस हॉल में कृष्ण मोहन मिलन कार्यक्रम रखा गया।
इस दौरान विवि के वाइस चांसलर डा. डीडी गुप्ता, मेडीकल प्राचार्य डा. पीएन भिसे, एडीशनल मेडीकल सुप्रीडेंट डा. आरपी गुप्ता और केएम हॉस्पिटल के डाक्टर और पीजी डाक्टर्स ने केक काटकर नेशनल डाक्टर्स डे की समस्त डाक्टरों को शुभकामनाएं दी।
विवि के वाइस चांसलर डा. डीडी गुप्ता ने कहा कि डाक्टर अपने मरीज के लिए 24 घंटे 7 दिन हमेशा उनकी सेवा के लिए तैयार रहते हैं क्योंकि डॉक्टर का काम करने का कोई निश्चित समय नहीं होता है क्योंकि मरीज कभी भी आ सकता है, अन्य किसी भी नौकरी में हमारा काम करने का निश्चित समय होता है पर डॉक्टरी पेशे में डॉक्टर के लिए कोई निश्चित समय नहीं होता है, तो आज डॉक्टर दिवस पर डॉक्टरों को कुलाधिपति की ओर से डॉक्टर दिवस की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं देता हूं। मेडीकल प्रिंसीपल डा. पीएन भिसे ने चिकित्सकों को संबोधित करते हुए कहा इस धरती पर भगवान के बाद अगर दूसरा स्थान किसी का है तो वह डॉक्टर का ही है। इसी लिए डाक्टर को भगवान का स्वरूप माना गया है। रजिस्ट्रार पूरन सिंह ने कहा कि डाक्टर को मरीज को बचाने की पूरी कोशिश करनी चाहिए, जिससे परमात्मा मरीज को बचा ले। केएम प्रशासनिक अधिकारी डा. एसपी गोस्वामी ने कहा डा. विधान चन्द्र रॉय के जन्म और मरण के उपलक्ष्य में हम सभी राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाते है, इस दौरान एसपी गोस्वामी ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए डाक्टरों को अवगत कराया। डा. तारीक बली ने कहा कि जिस प्रकार से मरीज के लिए डाक्टर भगवान है, उसी प्रकार से डाक्टरों के लिए मरीज भी भगवान के सामान होता है, चाहे वह गरीब हो तो भी डाक्टर का पहला कर्तव्य उसे इलाज देकर उसकी जान बचाना है।
कृष्णा मोहन मिलन कार्यक्रम में वाइस चांसलर डा. डीडी गुप्ता, मेडीकल प्रिंसीपल पीएन भिसे, एडीशनल मेडीकल सुप्रीडेंट डा. आरपी गुप्ता, रजिस्ट्रार पूरन सिंह, सब रजिस्ट्रार सुनील अग्रवाल, हॉस्पिटल की जनरल मैनेजर स्वाति शर्मा, आशीष शर्मा, रनवीर सिंह के अलावा चिकित्सक, पीजी डाक्टर्स एवं विवि का स्टाफ मौजूद रहा।

About The Author

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.