September 25, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

झांसी 23 सितंबर*पितृ हमारे जन्म का कारण होते है और हमें समय समय पर गलत मार्ग से हटाकर सही दिशा देते है।

झांसी 23 सितंबर*पितृ हमारे जन्म का कारण होते है और हमें समय समय पर गलत मार्ग से हटाकर सही दिशा देते है।0

 

पितृ हमारे जन्म का कारण होते है और हमें समय समय पर गलत मार्ग से हटाकर सही दिशा देते है। इसलिए जीवन को सही दिशा में बनाये रखने के लिए समय-समय पर हमें अपने पितरों के लिए पूजा-पाठ व दान धर्म जरुर करना चाहिए। यह बात ज्योतिषाचार्य पंडित नरेन्द्र कृष्ण शास्त्री ने करते हुए बताया कि कलयुग में पितृ सम्बन्धी दोषों की उत्तपत्ति सबसे ज्यादा होती है। इसलिए इस दोष की शान्ति के लिए समय समय पर आवश्यक कर्म व उपाय जरुर करते रहना चाहिए। पितृ दोष को शान्त करने के लिए और पितरों का आर्शिवाद प्राप्त करने के लिए पितृ गायत्री मंत्र सबसे श्रेष्ठ है। पितृ पक्ष में इस मंत्र का जाप करने से रुष्ट पितृ तृप्त होकर अपनी कृपा मंत्र जाप करने या कराने वाले के ऊपर जरुर कृपा करते है। उन्होंने कहा कि मंत्र का जाप पितृ पक्ष और अमावस्या के दिन करने से पितृ शान्ति होती है। इस मंत्र का जाप करते समय भगवान विष्णु के चरणों का ध्यान करने से नारायण पितरों को परम शान्ति देकर पितृ पक्ष सभी के लिए शुभ माने जाते है।

झांसी से सुरेन्द्र द्विवेदी की रिपोर्ट यूपी आज तक।

You may have missed