May 22, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी27अप्रैल24*दो ईंटों को आपस में टकराने से टूट जाने के चलते इंस्पेक्टर के काम रुकवाने के बाद भी हो रहा निर्माण*

कौशाम्बी27अप्रैल24*दो ईंटों को आपस में टकराने से टूट जाने के चलते इंस्पेक्टर के काम रुकवाने के बाद भी हो रहा निर्माण*

कौशाम्बी27अप्रैल24*दो ईंटों को आपस में टकराने से टूट जाने के चलते इंस्पेक्टर के काम रुकवाने के बाद भी हो रहा निर्माण*

*उद्यान मंत्री का चहेता ठेकेदार चाहर दिवारी बनाने में लूट रहा है उद्यान विभाग का खजाना*

*कौशाम्बी।* योगी सरकार के भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था पर उद्यान विभाग के मंत्री का चहेता ठेकेदार भारी पड़ गया है उद्यान निदेशालय से कौशांबी जिले के राजकीय उद्यान विभाग की नर्सरी बालीपुर टाटा में चारों ओर चाहर दीवारी का निर्माण करने के लिए 50 लाख रुपए से अधिक का बजट स्वीकृत करने के बाद ठेकेदार को निर्माण की जिम्मेदारी दी गई बताया जाता है कि ठेकेदार उद्यान मंत्री का कारखास है और उन्हीं के निर्देश के चलते यहां विभागीय अफसर को बलाए ताक पर रखता है उद्यान विभाग की नर्सरी में तीसरे दर्जे के पीली ईट से निर्माण किया जा रहा है सीमेंट बालू के मिश्रण का अनुपात भी नियम विरुद्ध किया जा रहा है सीमेंट की जुड़ाई के बाद जोड़े दीवार को पानी से पूरी तरह तराई नहीं किया जा रहा है जिससे सीमेंट बालू का मिश्रण राख बन कर रह जाएगी।

उद्यान विभाग की नर्सरी में जब घटिया निर्माण की जानकारी उद्यान विभाग के अधिकारियों को लगी तो इंस्पेक्टर प्रमोद को विभाग ने निर्माण स्थल पर भेज कर निर्माण के गुणवत्ता की जांच कर हकीकत देखने का निर्देश दिया प्रमोद ने निर्माण स्थल पर पहुंचकर ठेकेदार द्वारा लगाए जा रहे दो ईट को आपस में टकराया तो ईट चूर-चूर हो गया मौके पर तीसरे दर्जे की घटिया क्वालिटी के पीली ईट का दो चट्टा लगा हुआ था सीमेंट बालू का मिश्रण भी मानक से बहुत खराब था जिस पर प्रमोद ने चाहर दिवारी के निर्माण रोकने का ठेकेदार को निर्देश दिया लेकिन ठेकेदार तो उद्यान मंत्री का चहेता है उसके लिए विभागीय अधिकारी कर्मचारी ठेंगे पर हैं उसने विभाग के इंस्पेक्टर की बात नहीं मानी और घटिया क्वालिटी के तीसरे दर्जे की पीली ईट से चाहर दीवारी का निर्माण शुरू रखा है उद्यान मंत्री का यह चहेता ठेकेदार निर्माण लागत का 30 प्रतिशत में निर्माण पूरा कर 70 प्रतिशत की रकम घोट जाना चाहता है घटिया निर्माण को विभागीय अफसर विवशता से देख रहे हैं वह ठेकेदार के साथ कुछ कर नहीं पा रहे हैं और मंत्री का चहेता ठेकेदार विभाग की रकम पर खुलेआम डाका डाल रहा है अब मंत्री जी तो कौशांबी के निर्माण की गुणवत्ता देखने नहीं आएंगे जिससे उन्हें ठेकेदार गुमराह करने में सफल हो जाएगा और सरकारी बजट लूटकर वह फरार हो जाएगा फिर शिकायत होती रहे जांच होती रहे जांच में लीपापोती होती रहेगी इसलिए घटिया निर्माण को रोकना होगा और मंत्री के चहेते ठेकेदार पर मुकदमा दर्ज करा कर उस पर कठोर कार्रवाई किए जाने की जरूरत है।

घटिया निर्माण पर रोक लगाए जाने की आवाज आम जनता ने भी बुलंद की है अधिकारी को भी शिकायती पत्र दिया गया था लेकिन उसके बाद भी घटिया निर्माण पर रोक नहीं लग सका है जिससे योगी सरकार में भ्रष्टाचार मुक्त की बात करना बेमानी लगने लगा है ठेकेदार के निर्माण पर यदि रोक नहीं लगाई गई तो उद्यान विभाग का खजाना ठेकेदार के लूटने से कोई नहीं रोक सकता निर्माण की हकीकत उजागर करनी होगी जिससे उद्यान मंत्री को भी मालूम हो सके कि उनके साथ में रहने वाले लोग स्वार्थी है और उन्हें भी गुमराह करने से नहीं चूक रहे हैं इस संबंध में जिला उद्यान अधिकारी से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन अवकाश का दिन होने के चलते उनसे बात नहीं हो सकी है।

About The Author

Taza Khabar

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.