July 25, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी25मई24*जेसीबी संचालक बने सरकारी जमीन के दुश्मन अधिकारी मौन*

कौशाम्बी25मई24*जेसीबी संचालक बने सरकारी जमीन के दुश्मन अधिकारी मौन*

कौशाम्बी25मई24*जेसीबी संचालक बने सरकारी जमीन के दुश्मन अधिकारी मौन*

*सरकारी जमीनों की सुरक्षा करने के लिए जेसीबी संचालकों पर मुकदमा दर्ज कराकर करना होगा मशीन सीज*

*कौशाम्बी।* सरकारी जमीनों की सुरक्षा करने में राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी लगातार लापरवाह बने हुए हैं जिससे सरकारी जमीन को नष्ट करके लोग मालामाल हो रहे हैं प्रत्येक गांव क्षेत्र में तमाम सरकारी जमीन पर पहले ही कब्जा हो चुके हैं इन दिनों जेसीबी मशीन संचालक सरकारी जमीन के दुश्मन बन गए हैं जेसीबी मशीन से सरकारी जमीन में मिट्टी खोदकर बेची जा रही है और उससे करोड़ों की कमाई का सपना देखा जा रहा है सब कुछ खुलेआम हो रहा है लेकिन राजस्व के कर्मचारी और अधिकारी द्वारा सरकारी जमीनों की सुरक्षा करने के लिए जेसीबी संचालकों पर मुकदमा दर्ज कराकर मशीन सीज नहीं कराई जा रही है सरकारी जमीन से मिट्टी खनन करने वाले जेसीबी मशीन संचालकों की गिरफ्तारी भी तहसील के राजस्व अधिकारी नहीं कर रहे हैं जिससे जेसीबी संचालकों के हौसले बुलंद है और राजस्व अधिकारियों पर सवाल खड़े हो गए हैं।

सराय अकिल थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में ससुर खदेरी नदी के किनारे बीते कई दिनों से सरकारी जमीन में जेसीबी मशीन द्वारा मिट्टी का खनन किया जा रहा है बताया जाता है कि एक ग्राम प्रधान की जेसीबी मशीन से अवैध खनन तेजी से हो रहा है सरकारी जमीन से खोदकर निकाली गई मिट्टी को बेचकर जेसीबी संचालक मालामाल हो रहे हैं मामले की शिकायत कई बार इलाके के लोगों ने स्थानीय पुलिस से भी की लेकिन पुलिस ने भी सरकारी जमीन की सुरक्षा करने के लिए जिम्मेदारी नहीं उठाई है।

जिम्मेदारों की उदासीनता से सरकारी जमीन सुरक्षित नहीं रह गई है माफिया कब्जा करने पर लगे हैं मिट्टी खनन करके माफिया सरकारी जमीन की शक्ल सूरत बदल रहे हैं सरकारी जमीनों में अवैध तरीके से किए जा रहे खनन के पीछे राजस्व विभाग की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे हैं बीते दिनों पिपरी थाना क्षेत्र के कई गांव में सरकारी जमीन की मिट्टी खनन कर जेसीबी संचालकों ने बेच लिया है लेकिन उसके बाद जेसीबी संचालकों पर कार्रवाई नहीं हुई है जो व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहा है कौशांबी जिले के विभिन्न क्षेत्र में सरकारी जमीनों से मिट्टी खनन में जेसीबी मशीन लगी हैं लेकिन राजस्व कर्मियों से लेकर के राजस्व अधिकारी तक मूकदर्शक बने हुए हैं जेसीबी संचालकों से मौन सहमत के चलते राजस्व विभाग कार्रवाई करने को तैयार नहीं दिखाई पड़ रहा है।

गौर तलब है कि बंजर ऊसर मरघट नवीन परती चारागाह खलिहान खेल के मैदान तालाबी नंबर में पहले ही कब्जा करवा कर राजस्व कर्मियों और राजस्व अधिकारियों ने मोटी रकम वसूली है देखते-देखते सैकड़ो राजस्व कर्मी करोड़ के मालिक बन गए हैं लेकिन उसके बाद राजस्व अधिकारियों को राजस्व कर्मियों का भ्रष्टाचार दिखाई नहीं पड़ रहा है जिससे राजस्व अधिकारियों के भी ईमानदारी की निष्ठा पर सवाल खड़े हो रहे हैं एक तरफ योगी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त की बात करती है दूसरी तक राजस्व विभाग पूरी तरह से भ्रष्टाचार में हिस्सेदार दिखाई पड़ रहा है सरकारी जमीनों को बचाना होगा जिम्मेदारों को आगे आना होगा और अवैध तरीके से मिट्टी खनन करने वाले जेसीबी संचालकों पर कठोर कार्रवाई करना होगा तभी सरकारी जमीन सुरक्षित होगी।

About The Author

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.