April 24, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी23नवम्बर23*संपत्ति पर कब्जे को लेकर सौतेली मां की बेरहमी से हत्या*

कौशाम्बी23नवम्बर23*संपत्ति पर कब्जे को लेकर सौतेली मां की बेरहमी से हत्या*

कौशाम्बी23नवम्बर23*संपत्ति पर कब्जे को लेकर सौतेली मां की बेरहमी से हत्या*

*जमीनी विवाद में बढ़ रहे हत्याओं के मामले पर अंकुश लगाने में बिफल शासन प्रशासन*

*जमीनी विवाद के मामले में राजस्व अधिकारियों की लचर व्यवस्था से अपराध बढ़ रहे हैं*

*हर्रायपुर कौशाम्बी* संदीपन घाट थाना क्षेत्र के नसीरपुर गांव में संपत्ति विवाद के चलते कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ हमला कर महिला की हत्या उसके सौतेले बेटे ने कर दी है सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है मृतक महिला अकेली थी कोई तहरीर देने वाला नहीं था पुलिस ने चौकीदार से तहरीर लेकर पोस्टमार्टम के लिए शव को भेज दिया है

जानकारी के मुताबिक संदीपन घाट थाना क्षेत्र के नसीरपुर गांव के राजेंद्र सिंह की पहली पत्नी से विजय सिंह का जन्म हुआ था लेकिन विजय सिंह के जन्म लेने के बाद राजेंद्र सिंह की पहली पत्नी की मौत हो गई उन्होंने दूसरी महिला सरोज देवी से शादी कर ली लेकिन सरोज देवी की कोई संतान नहीं हुई राजेंद्र सिंह की मौत के बाद उनके संपत्ति उनके बेटे विजय सिंह और दूसरी महिला सरोज देवी के नाम सरकारी अभिलेखों में दर्ज हो गयी लेकिन पहली पत्नी का बेटा विजय सिंह सौतेली मां को जमीन में हिस्सा बंटवारा नहीं देना चाहता था जिससे मामले में विवाद उत्पन्न हो गया महिला न्याय के लिए पुलिस थाना चौकी से लेकर अधिकारियों के चौखट तक पहुंची लेकिन उसे न्याय तो नहीं मिल सका और गुरुवार की सुबह कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर महिला को मौत के घाट उतार दिया गया है हत्या करने के बाद सौतेला बेटा विजय सिंह मौके से फरार हो गया है दिनदहाड़े हत्या की घटना के बाद इलाके में दहशत और भय का माहौल व्याप्त है मौके पर लोगों का मजमा लगा हुआ है सूचना पुलिस को दी गई है मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है अब सवाल उठता है कि महिला के जब कोई संतान नहीं है तो उसके मुकदमे की पैरवी कौन करेगा और हत्यारे को कठोर दंड कैसे मिलेगा इसके पहले भी संदीपन घाट थाना क्षेत्र के मोहिउद्दीनपुर गांव में तीन लोगों की जमीनी विवाद के चलते हत्या की जा चुकी है जमीनी विवाद के मामले में राजस्व अधिकारियों की लचर व्यवस्था से अपराध बढ़ रहे हैं राजस्व अधिकारियों की नकेल कसने की जरूरत है यदि राजस्व अधिकारियों की नकेल नहीं कसी जाएगी तो जमीन से जुड़े मामले पर रोक लगाती नहीं दिख रही है

About The Author