April 17, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी23नवम्बर23*खुदाई के दौरान मिली बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म से जुड़ी कलाकृतियां व मूर्तियां*

कौशाम्बी23नवम्बर23*खुदाई के दौरान मिली बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म से जुड़ी कलाकृतियां व मूर्तियां*

कौशाम्बी23नवम्बर23*खुदाई के दौरान मिली बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म से जुड़ी कलाकृतियां व मूर्तियां*

*विवादित निर्माणाधीन मस्जिद के दरवाजे के नीचे मिली भगवान बुद्ध के मंदिर के भग्नाशेष हिंदू संगठनों में आक्रोष*

*15 दिन पूर्व लोगों ने अवैध मस्जिद निर्माण की थी शिकायत, नही रुका निर्माण पुरातत्व से खुदाई करने की मांग*

*कौशाम्बी।* करारी थाना क्षेत्र के बंधुरी रसूलपुर गांव में विवादित धर्म स्थल पर मस्जिद बनाए जाने की शिकायत ग्रामीणों ने एक पखवाड़े पूर्व पुलिस प्रशासन से किया था। मामले में पुलिस ने किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जबकि ग्रामीण यहां पर इस स्थान को मंदिर बताते हुए मस्जिद के निर्माण को रुकवाने की मांग कर रहे थे। गुरुवार को खुदाई के दौरान यहां से बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म से जुड़े मूर्ति व भग्नाशेष मिले हैं इसके बाद हिंदू धर्म के मानने वाले सैकड़ो लोग मौके पर इकट्ठा हो गए और मौके पर बना रही मस्जिद के आसपास की जमीन खुदवा कर पुरातत्व से मौके पर जांच करने की मांग की वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने निकले भग्नाशेष को मौके स्थल से कुछ दूरी स्थित हिन्दू मन्दिर परिसर में रखवा दिया है जिसके बाद लोगों ने इन अवशेषों को मंदिर में ना रख कर जिस स्थान पर रखे हैं वहीं पर रखे जाने की मांग उठाई। मामले को लेकर ग्राम सभा के साथ आसपास के गांव में भी तनाव का माहौल है।

मिली जानकारी के अनुसार तहसील मंझनपुर के थाना करारी स्थित बंधुरी रसूलपुर में निर्माणाधीन मस्जिद जिसे पिछले 15 दिन से गांव के लोग अवैध बताते हुए निर्माण करने निर्माण रोकने की मांग कर रहे थे। 19 नवम्बर को लिखित शिकायत भी किया थ। लेकिन निर्माण नहीं रोका गया आज गुरुवार को इसी स्थान पर खुदाई करने पर बौद्ध मंदिर के भग्नाअवशेष मिले। जिन्हें हिंदू मंदिर में रखवाने का प्रयास पुलिस प्रशासन के द्वारा किया गया। भगवान बुद्ध जिस स्थान पर प्रकट हुए उनको वहीं पर रखना चाहिए क्योंकि जिस स्थान पर मंदिर को खंडित कर निर्माण किया गया अवैध कब्जा किया गया वहीं इसका निर्माण होना चाहिए। मौके पर पहुंचे हजारों की संख्या में ग्रामीणों ने मांग उठाते हुए कहा कि इस स्थान में प्राचीन काल में बड़ा बौद्ध मंदिर था जिसे मुगल काल के दौरान तोड़ दिया गया था लोगों ने मांग उठाते हुए कहा कि मस्जिद निर्माण को रुकवा कर यहां पर पुरातत्व से खुदाई करा कर जांच कराई जाए कि इस स्थान पर किस धर्म का मंदिर था उसके बाद ही यहां पर किसी प्रकार का निर्माण हो मामले की जानकारी के बाद मौके पर प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंचने लगे थे। वैसे पूरे मामले को लेकर इलाके में तनाव का माहौल है।

 

About The Author

Taza Khabar