February 27, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कौशाम्बी04दिसम्बर23*जल निगम के बेलगाम ठेकेदारों पर अफसर नहीं कर सके कार्यवाही*

कौशाम्बी04दिसम्बर23*जल निगम के बेलगाम ठेकेदारों पर अफसर नहीं कर सके कार्यवाही*

कौशाम्बी04दिसम्बर23*जल निगम के बेलगाम ठेकेदारों पर अफसर नहीं कर सके कार्यवाही*

*हर घर जल योजना में पाइप लाइन का गड्डा खोदकर अधूरा कार्य कर फरार हुए ठेकेदार पर आखिर क्यों मेहरबान है अधिकारी*

*सड़क की गली और पटरी में गड्ढा होने से राहगीरों को आने जाने में होती है दिक्कत,आए दिन लोग होते हैं लहूलुहान*

*कौशाम्बी।* जल निगम द्वारा हर घर जल योजना के अंतर्गत करोड़ों की लागत से पाइप लाइन बिछाए जाने का कार्य चायल तहसील क्षेत्र के बलीपुर टाटा गांव में कई महीने पूर्व शुरू कराया गया था। पाइप लाइन बिछाए जाने की इस कार्य में शिथिलता की शिकायत अधिकारियों से बार बार हुई जिस पर जेसीएमसी के निर्माण कार्यों की जांच करने मुख्य विकास अधिकारी भी मौके पर पहुंचे थे। जहां तमाम खामियां जांच के दौरान मिली थी। इस पर विभागीय अधिकारियों के साथ ठेकेदारों को फटकार लगाते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने समय सीमा के भीतर गुणवत्तापूर्ण पाइपलाइन बिछाए जाने का निर्देश दिया था। लेकिन मुख्य विकास अधिकारी का निर्देश जल निगम के अधिकारी और ठेकेदारों ने ठेंगा दिखाते हुए अधूरा कार्य कर के फरार हो गए हैं। जल निगम के ठेकेदारों का यह कारनामा पूरे जिले में इसी तरह से संचालित हो रहा है बेलगाम ठेकेदार आम जनता को मुसीबत में डाल रहे हैं अफ़सर तमाशबीन बने हैं आखिर अफसर से जल निगम के ठेकेदारों का क्या रिश्ते हैं जिससे ठेकेदारों पर कार्यवाही होती नहीं दिख रही है कई महीने बीत जाने के बाद बेलगाम ठेकेदारों की लगाम अफसर टाइट नहीं कर सके हैं जिसका खामियाजा आम जनमानस को भुगतना पड़ रहा है।

बेलगाम ठेकेदारों का आलम यह है कि पूरे जिले के गांव-गांव में अव्यवस्था के साथ-साथ बलीपुर टाटा गांव में जल वन मिशन के अंतर्गत फेस टू जेसीएमसी के द्वारा पाइप लाइन बिछाए जाने का कार्य अधूरा छोड़ कर ठेकेदार फरार है। करोड़ों की लागत के पाइपलाइन बिछाए जाने में विभागीय खेल शुरू हो रहा है। गांव में ठेकेदार गड्ढे खोद कर विलुप्त हो गए हैं। लेकिन पाइप ना डाले जाने से गड्ढे पूरे नहीं हो सके हैं। ठेकेदार अधूरा कार्य छोड़कर 8 माह से फरार हो गया है। ठेकेदारों पर विभागीय अधिकारियों का चाबुक नहीं चल पा रहा है। सूत्रों की मानें तो विभागीय अधिकारी और ठेकेदारों के बीच कमीशन- खोरी का हिस्सा विवाद का कारण बन गया है। जिससे पाइपलाइन बिछाए जाने का कार्य अधूरा पड़ा हुआ है। गांव में पाइप लाइन बिछाए जाने के नाम पर गड्डा खोद दिए जाने के बाद रास्ते अवरुद्ध हो गए और ग्रामीणों को खेती किसानी के कार्यों में आने जाने में दिक्कतें होती है। जिससे आए दिन ग्रामीण व राहगीर चोटहिल होते रहते हैं। कई बार ग्रामीणों ने अधिकारियों से शिकायत की लेकिन उसके बाद भी 8 माह पूर्व रास्ते में खुदाई करके फरार हुए ठेकेदारों के कारनामों पर कठोर कार्यवाही नहीं हो सकी है। जिससे ग्रामीण लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

About The Author

Taza Khabar