May 24, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

कानपुर नगर13मई24*देश भर में मौसम प्रणाली:

कानपुर नगर13मई24*देश भर में मौसम प्रणाली:

कानपुर नगर13मई24*देश भर में मौसम प्रणाली:

[13/05, 10:05 pm] Monu shivrajpur: CSAU Weather: शिर्फ़ आज राहत ,अभी नहीं मिलेगी गर्मी से राहत, बढ़ेगी कानपुर वासियों की परेशानी; तापमान 42 डिग्री के होगा पार

सीएसए मौसम विभागएवं आईएमडी का अनुमान है कि मंगलवार को कानपुर मंडल सहित गंगा के मैदानी भागों से अब पश्चिमी विछोभ भी आगे निकल गया है जिसके कारण बादल हटेंगे और असमान साफ़ होने से धूप खिलीगी ,कानपुर मंडल के तापमान में धीरे-धीरे इजाफा होगा। हालांकि इस पूरे सप्ताह कानपुर वासियों को गर्मी से राहत मिलने के आसार बिल्कुल नहीं हैं। 17 मई तक अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

अरबसागर और बंगाल की खाड़ीं से आ रही आर्द्र हवाओं से
वेट बल्ब तापमान और टेम्परेचर बढ़ेंगे जिसके कारण से ३९ डिग्री के टेंपरेचर मैं ४३ डिग्री तापमान की गर्मी महसूस होती रहेगी ।

 

 

सीएसए मौसम विभाग का अनुमान है कि सोमवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। कहीं कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। वहीं, दिनभर धूप खिली रहने अब कानपुर मंडल के तापमान में धीरे-धीरे इजाफा होगा। 17 मई तक अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।
कृषि मौसम वैज्ञानिक बूंदाबांदी और पुरवाई हवा की वजह से कम हुआ पारा अब फिर से चढ़ेगा मौसम में एक बार फिर से बदलाव होने जा रहा है। मंगलवार से तापमान में वृद्धि दर्ज की जाएगी। ऐसे में एक बार फिर से गर्मी बढ़ने वाली है।
कृषि मौसम वैज्ञानिक
देश भर में मौसम प्रणाली:
चक्रवाती परिसंचरण के रूप में पश्चिमी विक्षोभ अब जम्मू कश्मीर और आसपास के क्षेत्रों में औसत समुद्र तल से 3.1 किलोमीटर ऊपर है, जिसकी धुरी मध्य और ऊपरी क्षोभमंडल में पश्चिमी हवाएँ के साथ समुद्र तल से 5.8 किलो मीटर ऊपर 73° पूर्व 32° उत्तर अक्षांश के उत्तर में चल रही है। ।
पश्चिमी उत्तर प्रदेश और आसपास के इलाकों पर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
पूर्व-पश्चिम ट्रफ पश्चिमी उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों पर चक्रवाती परिसंचरण से लेकर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल होते हुए दक्षिणी असम तक फैली हुई है।
दक्षिणी राजस्थान और उससे जुड़े इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
झारखंड के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है.
पूर्वोत्तर असम पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
एक ट्रफ/हवा का विच्छेदन पूर्वी मध्य प्रदेश से लेकर विदर्भ, मराठवाड़ा, आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु तक कोमोरिन क्षेत्र तक फैला हुआ है।
दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
दक्षिण पाकिस्तान और इससे सटे उत्तरपूर्वी अरब सागर पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
17 मई से एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को प्रभावित करेगा।
कृषि मौसम वैज्ञानिक
चंद्र शेखर आज़ाद कृषि वि०वि०
कानपुर

About The Author

Taza Khabar

Copyright © All rights reserved. | Newsever by AF themes.