May 16, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

औरैया23जनवरी*युपीआजतक न्यूज़ से खास खबरे

[23/01, 7:36 PM] Ram Prakash Sharma: *एक क्लिक पर जाने अपने कैंडीडेट का आपराधिक इतिहास*

*एक क्लिक पर उपलब्ध है कैंडिडेट का आपराधिक रिकॉर्ड*

*औरैया।* राजनैतिक पार्टियों के लिए अपराधिक पृष्टभूमि वाले उम्मीदवार को चुनाव लड़ने के लिए चुने जाने सम्बन्धी वाजिब स्पष्टीकरण प्रकाशित करने को लाज़िमी बनाने के बाद भारत निर्वाचन आयोग ने वोटरों के लिए किसी भी उम्मीदवार के विवरण और अपराधिक पृष्टभूमि के बारे जानने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन ‘नो योर कैंडीडेट’ लांच की है। यह जानकारी उप जिला निर्वाचन अधिकारी रेखा एस चौहान ने दी है।जनपद वोटरों को इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने की अपील करते हुये उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि यह एप निर्वाचन लड़ रहे उम्मीदवारों के अपराधिक पृष्टभूमि संबंधी व्यापक प्रचार और अधिक से अधिक जागरूकता प्रदान करने के लिए तैयार की गई है जिससे पारदर्शी मतदान को यकीनी बनाया जा सके। इस एप को गुग्गल प्ले स्टोर और एपल एप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और इसका लिंक आयोग की वैबसाईट पर भी उपलब्ध है।
[23/01, 7:41 PM] Ram Prakash Sharma: *विज्ञापन चलवाने के लिए एमसीएमसी से लेनी होगी अनुमति*

*बिना अनुमति विज्ञापन चलवाने पर होगी कार्रवाई*

*एमसीएमसी कमेटी देगी विज्ञापन की अनुमति*

*औरैया।* चुनाव में उतारे गए उम्मीदवारों को अखबारों, इंटरनेट मीडिया और टीवी चैनलों पर चलाए जाने वाले विज्ञापनों के लिए पहले मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमेटी (एमसीएमसी) की तरफ से अनुमति लेनी होगी। इसके बाद ही प्रत्याशी विज्ञापन चलवा सकेंगे। यह बात एमसीएमसी कमेटी के चेयरमैन जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने बैठक के दौरान कही। उन्होंने बताया कि इसके लिए जिला निर्वाचन कार्यालय ककोर मुख्यालय स्थित दूसरी मंजिल पर इसका कंट्रोल रूम बनाया गया है। जहां से उम्मीदवार इसकी अनुमति ले सकता है। इसके अलावा उम्मीदवार की टीवी न्यूज चैनल, पेपर और इंटरनेट मीडिया पर चलने वाली खबरें आदि पर पल-पल की नजर रखी जा रही है। कंट्रोल रूम में 24 घंटे नजर रखने के लिए 11 मेंबरों का स्टाफ तैनात है। कंट्रोल रूम में इलेक्ट्रोनिक मीडिया न्यूज चैनल सेक्शन, न्यूज पेपर सेक्शन और इंटरनेट मीडिया सेक्शन बनाया गया है।विभिन्न टीवी चैनलों पर चलने वाली न्यूज देखी जा रही है। कंट्रोल रूम पर कंट्रोल रखने के लिए अपर जिला सूचना अधिकारी अनिल कुमार सिंह को तैनात किया गया है। चुनाव आयोग की टीम इस बार खास तौर पर इंटरनेट मीडिया पर भी नजर रखे हुए है। इंटरनेट मीडिया पर जो भी विज्ञापन चलते हैं, उसकी निगरानी की जा रही है। सोशल मीडिया एवं नेटवर्किंग साइटों पर भी विज्ञापन चलाने के लिए कमेटी से अनुमति लेनी होगी। उम्मीदवारों को जो भी विज्ञापन चलाना होगा, वह चेक किया जाएगा और उसके बाद उसे चलाने की परमिशन दी जाएगी। अगर ऐसा नहीं होता है तो सम्बंधित पर कार्रवाई होगी।
[23/01, 7:44 PM] Ram Prakash Sharma: *कल राजनीतिक दलों की बैठक ककोर में*

*औरैया।* उप जिला निर्वाचन अधिकारी रेखा चौहान ने बताया कि कल 24 जनवरी सोमवार को सभी राजनैतिक दलों के साथ ककोर मुख्यालय पर बैठक की जाएगी। बैठक में राजनीतिक दलों को आदर्श आचार संहिता के बारे में अवगत कराते हुए उनसे आदर्श आचार संहिता का शत-प्रतिशत पालन करने की अपील की जाएगी। उन्होंने बताया कि साथ ही सभी चुनाव लड़ने वाले राजनीतिक दलों को चुनाव व्यय के बारे में भी अवगत कराया जाएगा।
[23/01, 7:47 PM] Ram Prakash Sharma: *विकास भवन में आयोजित होगा प्रशिक्षण कार्यक्रम*

*औरैया।* उप जिला निर्वाचन अधिकारी रेखा एस चौहान ने बताया कि सोमवार कल 24 जनवरी को विकास भवन के सभागार में सूचनाओं के संकलन एवं एमआईएस में लगे कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने सभी रिटर्निंग ऑफिसर एवं प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले सभी कर्मियों को प्रतिभाग करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने वाले कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।
[23/01, 7:58 PM] Ram Prakash Sharma: *महिला ने पति पर लगाया मारपीट करने का आरोप*

*बिधूना,औरैया* एक विवाहिता ने अपने पति पर आए दिन गाली- गलौज कर मारपीट किए जाने का आरोप लगाया है। पीड़िता का आरोप है, कि रविवार को भी उसके पति ने उसके साथ गाली गलौज कर मारपीट की और इस दौरान उसका गला दबाकर जान से मारने की कोशिश की। कोतवाली पुलिस ने पीड़िता की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच कर आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया है| कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सामपुर निवासी अंजलि पत्नी राजेश कुमार यादव ने कोतवाली पुलिस को दी तहरीर में कहा है, कि रविवार की सुबह वह चूल्हे पर चाय बना रही थी। इसी बीच उसके पति राजेश ने उसे गाली गलौज कर मारना पीटना शुरु कर दिया। इसी दौरान उसके पति ने उसे गला दबाकर मारने का प्रयास किया। शोर-शराबा सुनकर आसपास के लोग बचाने दौड़े तभी जान से मारने की धमकी देकर भाग गया।
कोतवाली पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर मामले की जांच कर रिपोर्ट दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
[23/01, 8:09 PM] Ram Prakash Sharma: *ट्रिपल हत्याकांड का खुलासा करने के लिए पुलिस सक्रियता से जुटी*

*बिधूना,औरैया।* 19 जनवरी को एसजीएस इंटर कालेज के प्रबन्धक एवं पूर्व प्रधानाचार्य गंधर्व सिंह यादव व उनकी पत्नी कमला देवी की विद्यालय परिसर में बने आवास की तीसरी मंजिल पर हुई हत्या एंव प्राथमिक विद्यालय के एक निष्प्रयोज्य कक्ष में मृत पाये गये एक तहसील कर्मी के पुत्र शमी की मौत के मामले में घटनाओं का पर्दाफाश किये जाने को लेकर कोतवाली पुलिस जहाँ पूरी सक्रियता के साथ जुटी हुई है। वहीं उच्च अधिकारी भी घटनाओं को लेकर प्रतिदिन की समीक्षा करने में जुटे हैं। गुरुवार को पुलिस महानिरीक्षक प्रशांत कुमार ने पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा एएसपी शिष्यपाल सिंह सीओ महेन्द्र प्रताप सिंह आदि अधिकारियों के साथ घटना स्थल का निरीक्षण किया था|इस अवसर पर उन्होने अतिशीघ्र घटनाओं का अनावरण किये जाने के कडे निर्देश दिये। 19 जनवरी की रात्रि कस्बे के किशोर गंज मोहल्ले में एसजीएस कालेज के प्रबंधक गंधर्व सिंह यादव व उनकी पत्नी कमला देवी की हत्या किये हुऐ शव तीसरी मंजिल पर उनके आवास पर मिले थे जबकि कमरे में सामान बिखरा पडा मिला था। बुधवार करीब दस बजे सुबह जब विद्यालय पहुंचे कार्यवाहक प्रधानाचार्य जितेन्द्र कुमार व कुलदीप जब विधालय के बाहर पहुंचे तो कोई जबाब नहीं मिला जब फोन किया तो फोन भी नहीं उठा। उन्होने घटना की सूचना पुलिस को दी जिस पर पुलिस ने घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को दी, जिसके बाद फोरेंसिक टीम समेत पुलिस के उच्चाधिकारी एसपी अभिषेक वर्मा ,एएसपी शिष्यपाल सिंह ,पुलिस क्षेत्राधिकारी महेन्द्र प्रताप सिंह ,कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शशि भूषण मिश्रा आदि मौके पर पहुंच गये।विद्यालय में लगी एक लोहे की खिड़की में लिखा मिला है कि ‘‘इस स्कूल में जो भी आएगा वो मर जाएगा रात्रि को 12 बजे।‘‘ पुलिस ने घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया जबकि दिवंगत दम्पत्ति के शव कब्जे में लेकर पीएम के लिये भेज दिये थे। बुधवार की सांय काल ही प्राथमिक विद्यालय बिधूना के एक निस्प्रयोज्य कक्ष में तीन दिन से गायब तहसील कर्मी चंद्रभान के 28 वर्षीय पुत्र का भी शव पडा मिला था। रविवार को अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल सिंह ने घटनाओं के खुलासे के लिये अभी तक के प्रयासों के बारे में जानकारी की और कुछ आवश्यक दिशा निर्देश दिये। दिवंगत दम्पति की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण इंसटान्गुलेशन आया है।