March 1, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

औरैया15नवम्बर*चाचा नेहरू की जयंती पर बच्चों को खाद्य सामग्री का वितरण व केक काटकर बाल दिवस मनाया*

औरैया15नवम्बर*चाचा नेहरू की जयंती पर बच्चों को खाद्य सामग्री का वितरण व केक काटकर बाल दिवस मनाया*

औरैया15नवम्बर*चाचा नेहरू की जयंती पर बच्चों को खाद्य सामग्री का वितरण व केक काटकर बाल दिवस मनाया*

*विचित्र पहल की जूनियर शाखा अनमोल ने कार्यक्रम का आयोजन किया*
*औरैया।* एक विचित्र पहल सेवा समिति रजि. औरैया की जूनियर शाखा अनमोल द्वारा गत् वर्षों की भांति वाल दिवस के पावन अवसर पर आज दिनांक 14 नवंबर 2022 दिन सोमवार को प्रातः 11.30 बजे नेविलगंज स्थित गणेश पार्क में संचालित प्राथमिक विद्यालय, औरैया में विद्यालय के बच्चों द्वारा प्रस्तुत रंगारंग कार्यक्रमों के साथ वाल दिवस धूमधाम से मनाया गया, शाखा के अध्यक्ष अजय पोरवाल ने बताया कि आधुनिक भारत के निर्माता व भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्म दिवस के अवसर पर हर वर्ष 14 नवंबर को संपूर्ण भारत में वाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
उन्होंने बताया कि नेहरू जी को बच्चों से अपार स्नेह था, बच्चे भी उन्हें चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे, खास तौर पर यह दिन बच्चों के सम्मान के रूप में मनाया जाता है, नेहरू जी जब भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने तो उनकी सबसे पहली प्राथमिकता बच्चों की उत्तम शिक्षा के लिए समर्पित रही, उन्होंने युवाओं के विकास, रोजगार व उनको आगे बढ़ाने के लिए कई तकनीकी शैक्षिक संस्थानों की स्थापना की, जबकि देश को आधुनिक बनाने में नेहरू जी की अहम भूमिका रही, उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है, इनके कैरियर के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। जूनियर अनमोल शाखा के सदस्यों ने बाल दिवस पर चाचा नेहरू की जयंती के अंतर्गत उनके चित्र पर माल्यार्पण एवं प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के साथ केक काटकर उनका जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ मनाया व जरूरतमंद बच्चों को बिस्कुट, चॉकलेट, पाठ्य सामग्री का वितरण किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से “सखी ग्रुप” की प्रभारी लक्ष्मी बिश्नोई, गुंजन शुक्ला, शालिनी वर्मा, पूर्व अध्यक्ष शिवम गुप्ता, रामचंद्र सोनी, अर्पित गुप्ता, रोहन पुरवार, राघवेंद्र वर्मा, यश पोरवाल, आदित्य, अभिनव पोरवाल (प्रिंस), शुभम शर्मा, रजत पुरवार, यश पुरवार, इसु पोरवाल, आदित्य लक्षकार तथा विद्यालय के तमाम बच्चे मौजूद रहे।

About The Author