March 4, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

औरैया14नवम्बर22*चाचा नेहरू को याद कर मनाया गया बाल दिवस*

औरैया14नवम्बर22*चाचा नेहरू को याद कर मनाया गया बाल दिवस*

औरैया14नवम्बर22*चाचा नेहरू को याद कर मनाया गया बाल दिवस।

श्री गोपाल कृष्ण इंटर कॉलेज बमुरीपुर में हुआ मेला का आयोजन।

*औरैया।* विकासखंड क्षेत्र के ग्राम बमुरीपुर स्थित श्री गोपाल कृष्ण इंटर कॉलेज में सोमवार को बाल दिवस पर चाचा नेहरू का भावपूर्ण स्मरण किया गया। विद्यालय की प्रधानाचार्य देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के चित्र पर माल्यार्पण किया। विद्यालय के छात्र- छात्राओं ने आयोजित बाल मेला में अपनी-अपनी दुकानें लगाई। इसके साथ ही छात्र- छात्राओं ने चाचा नेहरू से संबंधित गीत, कविताएं व कहानियां सुनाई। विद्यालय के प्रधानाचार्य आशुतोष यादव ने पंडित जवाहरलाल नेहरू को आधुनिक भारत का राष्ट्रवादी बताया। उन्होंने पंडित नेहरू के कृतित्व व व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए पंडित नेहरू को दुनिया की नायब मिसाल बताया।ग्राम बमुरीपुर के प्रसिद्ध विद्यालय श्री गोपाल कृष्ण इंटर कॉलेज में बाल दिवस के अवसर पर सोमवार को कुछ छात्र-छात्राओं ने अपनी दुकान लगाई। छात्र-छात्राओं द्वारा खरीदारी की गई। देखते ही देखते दुकानों का सामान बिक्री हो गया। इसके उपरांत छात्र-छात्राओं द्वारा चाचा नेहरू से संबंधित गीत, कहानियां व कविताएं सुनाई। इसके साथ ही म्यूजिक का आनंद लिया। इस अवसर पर दौड़ का भी आयोजन हुआ तथा बच्चों को खेल खिलाया गया।
विद्यालय के प्रधानाचार्य आशुतोष यादव ने छात्र- छात्राओं को समझाते हुए कहा कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिवस पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है।बच्चों से प्रेम करने के कारण बच्चे उन्हें चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे। श्री यादव ने पंडित जवाहरलाल नेहरू को आधुनिक भारत का राष्ट्रवादी बताते हुए कहा कि चाचा नेहरू सच्चे अर्थों में राष्ट्रवादी थे, उनके लिए पहले भी भारत था और बाद में भी। भारत उनकी भारतीयता का आधार था। अनेकता में एकता और एकता में अनेकता। कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू धर्मनिरपेक्ष प्रजातंत्र के प्रतिपालक थे। सांस्कृतिक बहुलवाद उनके चिंतन का प्रमुख अंग था। वर्ष 1947 के बाद उन्होंने पूरी ताकत और सत्ता से भारतीय राजनीति समाज एवं अर्थव्यवस्था पर चिंतन किया। अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उपनिवेशवाद, साम्राज्यवाद एवं फासीवादी का उन्होंने डट कर विरोध किया। उनकी रुचियों का दायरा विशाल था। वह सचमुच स्वयं में पुनर्जागरण पुरुष थे। जनता नेहरू जी की विरासत पर गर्व करेगी। विद्यालय में दौड़ एवं खेलों का भी आयोजन हुआ, वही छात्र-छात्राओं एवं स्टाफ ने म्यूजिक का आनंद लिया। इस दौरान प्रमुख रुप से विद्यालय के स्टाफ अजब सिंह सहायक अध्यापक, नरेंद्र सिंह, बाल गोविंद, प्रदीप कुमार उपाध्याय, राम गोपाल, दीपक कुमार, कमलेश कुमारी व सुनीता कुमारी आदि का विशेष सराहनीय सहयोग रहा।

About The Author

Taza Khabar