August 7, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

औरैया 01 अगस्त *मिशन शक्ति फेज- 4 में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षक हुए सम्मानित*

औरैया 01 अगस्त *मिशन शक्ति फेज- 4 में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षक हुए सम्मानित*

*महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए चलाई जा रही योजनाओं का करें प्रचार-प्रसार-बीएसए*

*औरैया।* उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जनपद में जिलाधिकारी प्रकाश चंद्र श्रीवास्तव के दिशा निर्देशन में बालिकाओं एवं महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान मिशन शक्ति फेज-4 के तहत विशेष कार्य करने वाले शिक्षकों को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विपिन कुमार द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।
मिशन शक्ति फेज -4 के अंतर्गत 100 दिन के विशेष अभियान के दौरान विशेष कार्य करने वाले शिक्षकों को पुरस्कृत करने के लिए डाइट प्राचार्य जी एस राजपूत के दिशा निर्देशन में मिशन शक्ति की नोडल ऑफिसर रचना यादव, जिला समन्वयक बालिका शिक्षा विनीता दीक्षित, जनपद के समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों एवं एसआरजी सुनील दत्त राजपूत, अलका यादव की समिति द्वारा जनपद भर से मिशन शक्ति फेज -4 में उत्कृष्ट कार्य करने वाले विद्यालयों का चयन किया गया। सराहनीय कार्य करने वाले तीन विद्यालयों प्राथमिक विद्यालय नगला वैश्य, उच्च प्राथमिक विद्यालय गोहना तथा प्राथमिक विद्यालय कोठीपुर को पुरस्कृत किया गया, वहीं प्राथमिक विद्यालय जैतापुर, उच्च प्राथमिक विद्यालय सिंगी स्योरा, कंपोजिट विद्यालय गुलरिहा, उच्च प्राथमिक विद्यालय मुड़ी, कन्या उच्च प्राथमिक विद्यालय अटसू, उच्च प्राथमिक विद्यालय विधूना, प्राथमिक विद्यालय पुठिया, प्राथमिक विद्यालय गणेश पार्क, कंपोजिट विद्यालय अरियारी को सांत्वना पुरस्कार दे कर सम्मानित किया गया। इस दौरान बीएसए विपिन कुमार द्वारा पुरस्कृत सभी प्रतिभागियों के साथ बैठक करके उनके द्वारा किये गए कार्यों एवं भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी ली गयी। इस दौरान उन्होंने शासन द्वारा बालिकाओं के लिये चलाई जा रही योजनाओं के व्यापक प्रचार – प्रसार की बात की। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति जागरूकता कार्यक्रम से समाज में बहुत बदलाव आया है। महिलाएं निडर, साहसी, सशक्त एवं मुखर होकर अपना लक्ष्य हासिल कर रही हैं। पुरस्कृत होने वाले शिक्षकों में सुभाष रंजन दुबे, चंद्रप्रकाश, निशा शुक्ला, संजय सेंगर, इंद्रजीत, सुनील यादव, राकेश कुमार, गुंजन शुक्ला, चंद्रकला प्रमुख थे।