April 24, 2024

UPAAJTAK

TEZ KHABAR, AAP KI KHABAR

इटावा29अगस्त*सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी में कार्यरत बार्डबॉय व सुरक्षा कर्मी नही हटेंगे: कुलपति

इटावा29अगस्त*सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी में कार्यरत बार्डबॉय व सुरक्षा कर्मी नही हटेंगे: कुलपति

इटावा29अगस्त*सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी में कार्यरत बार्डबॉय व सुरक्षा कर्मी नही हटेंगे: कुलपति

नये वार्डवाय व सुरक्षाकर्मियों की भर्ती कोरी अफवाह : कुलपति

आंदोलित संविदा कर्मियों को समर्थन देने पहुंचे प्रसपा के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य यादव

(सुघर सिंह सैफई)

इटावा: उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में चल रहे कर्मियों के धरना प्रदर्शन में प्रसपा के प्रदेश अध्यक्ष ने पहुंचकर न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया।
उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में सुरक्षा की कमान संभाले पूर्व सैनिक कल्याण निगम सुरक्षा एजेंसी के माध्यम से पूर्व सैनिकों ने सोमवार को विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन के सामने टेंट लगाकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने का एलान कर दिया। विश्वविद्यालय में पूर्व सैनिक कल्याण निगम एजेंसी के माध्यम से 384 पूर्व सैनिक सुरक्षा की कमान संभाले थे। इसके अलावा करीब 200 वार्ड बॉय 58 सफाई कर्मचारी कार्यरत है। अब एक सितंबर 2022 से नए ठेकेदार को ठेका दिए जाने का निर्णय लिया गया है। जिंसमे 200 प्राइवेट गार्ड लगाए जाएंगे बाकी जगह पर सीसी कैमरे लगाए जाएंगे।
जिससे गुस्साए संविदा कर्मियों ने सामूहिक रूप से प्रदर्शन करना शुरू किया है। प्रदर्शन के दौरान पूर्व सैनिकों ने कहा अभी पूर्व सैनिक कल्याण निगम सुरक्षा की एजेंसी है जिसको सालाना साढ़े 12 करोड रुपए भुगतान किया जाता है। अब नया टेंडर जेम पोर्टल के माध्यम निश्चल सुविधा सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी प्रयागराज को मिला है। जिसको करीब साडे 16 करोड़ रुपए सालाना भुगतान किया जाएगा। अभी पूर्व सैनिक कल्याण निगम साढ़े 12 करोड़ में साल के हिसाब से काम कर रहा था अब सुरक्षा कर्मी भी घटा दिए गए हैं और पैसा बढ़ा दिया गया है। इसी का हम कर्मचारी विरोध कर रहे हैं।
धरने पर बैठे संविदाकर्मियों के समर्थन में प्रसपा के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य यादव ने पहुंच कर कहा कि नेताजी मुलायम सिंह यादव ने गरीबो के लिये इस अस्पताल का निर्माण कराया था। लेकिन कुछ लोग इसको खत्म करना चाहते है। आदित्य यादव ने कहा कि वें संविदाकर्मियों के साथ है,उन्होंने कहा कि वो उनकी समस्याओं के समाधान के लिये हर प्रयास करेंगे इसके लिये चाहे स्वास्थ मंत्री से बात करनी पड़े या मुख्यमंत्री से। उन्होंने बताया कि 2 दिन के अंदर प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव सैफई आएंगे और संविदाकर्मियों से मिलेंगे और उनकी समस्याओं को सरकार तक लेकर जाएंगे।

———–
मालूम हो बीते शनिवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से समस्त कर्मचारियों ने मुलाकात की थी जिस पर सपा मुखिया ने समाजवादी पार्टी की तरफ से ट्वीट करके प्रदेश सरकार पर साजिश के तहत यूनिवर्सिटी बंद करने का आरोप लगाया था।

———

प्रदर्शन के चलते विश्वविद्यालय की सुरक्षा में एक प्लाटून पीएसी व 4 थानों का फोर्स लगाया गया है।

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलसचिव सुरेश चंद्र शर्मा ने एसएसपी जयप्रकाश सिंह को पत्र लिखकर विश्वविद्यालय की सुरक्षा व्यवस्था के फोर्स मांगा था। सोमवार को एक प्लाटून पीएसी एवं सैफई सर्किल क्षेत्र के सभी थानों का फोर्स लगाया गया।

—–

प्रदर्शन के चलते अव्यवस्था फैली

सोमवार होने के चलते विश्वविद्यालय की ओपीडी में बड़ी संख्या में मरीज इलाज कराने के लिए पहुंचे लेकिन सुरक्षा गार्ड ना होने के कारण पर्चा काउंटर पर बड़ी संख्या में मरीज एक दूसरे से झड़पते नजर आए।
चारों तरफ मरीजों के साथ आए तीमारदारों ने बनाई पार के जगह-जगह वाहन खड़े किए तो लोगों को बड़ी परेशानी से जूझना पड़ा।

—————————————
किसी को नही निकाला जाएगा, संस्थान विरोधी तत्व फैला रहे अफ़वाह : कुलपति

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई के कुलपति प्रोफेसर डॉ पी के सिंह का कहना है कि कुछ संस्थान विरोधी तत्व अफवाह फैला रहे हैं कि जिन नई कंपनियों को टेंडर दिया गया है वह कंपनियां सुरक्षा कर्मियों व पूर्व में कार्यरत वार्डबॉय को नहीं रखेंगे और नए सुरक्षाकर्मी व वॉर्डबॉय की भर्ती की जाएगी यह सब कोरी अफवाह है। जिन नई कंपनियों को टेंडर दिए गए हैं उन्हें साफ बताया गया है कि पूर्व में कार्यरत अनुभवी वार्डवॉय व सुरक्षाकर्मी जिन्हें लंबे समय का अनुभव है उनमें किसी को नहीं हटाया जाएगा वह सभी बराबर कार्यरत रहेंगे लेकिन कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि वार्ड वाय व सुरक्षाकर्मियों की नई नियुक्तियां की जाएंगी और पुराने वार्डबॉय व सुरक्षाकर्मियों को हटाया जाएगा उन्होंने बताया कि सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में कोई भी सुरक्षाकर्मी वार्डबॉय की नई नियुक्ति अभी नहीं की जा रही है।

About The Author