August 7, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

अयोध्या03अगस्त*सीमा विस्तार के विरोध में पालिका अध्यक्ष और सभासद सहित ग्रामीण भी सामने आए*

*अब्दुल जब्बार एडवोकेट व अनिल कुमार मिश्रा व डॉ0 मो0 शब्बीर*

अयोध्या03अगस्त*सीमा विस्तार के विरोध में पालिका अध्यक्ष और सभासद सहित ग्रामीण भी सामने आए*

*नगर क्षेत्र में शामिल होने से गांव का विकास तेजी से होगा……भाजपा*

भेलसर(अयोध्या)नगर पालिका परिषद के सीमा विस्तार के विरोध में पालिका अध्यक्ष और सभासद सहित ग्रामीण भी सामने आए है वहीं भजपा से जुड़े नेताओ ने सीमा विस्तार को जरूरी बताया है।नगर क्षेत्र के विस्तार की अधिसूचना को लेकर राजनीतिक जीवन का समीकरण विगड़ने का खतरा नेताओ पर मंडरा रहा है।
अल्पसंख्यक बाहुल्य नगर पालिका परिषद के सीमा विस्तार के बाद एक सम्प्रदाय विशेष का प्रभुत्व समाप्त हो सकता है।नगर पालिका अध्यक्ष जब्बार अली व सभासद मो0 इरफान सहित भेलसर गाँव निवासी साद अख्तर,महताब आलम,मो0 शाहिद व अरशद हुसैन सहित तमाम ग्रामीणों ने सीमा विस्तार पर सीमा विस्तार पर आपत्ति भी दाखिल की है।नगर विकास के प्रमुख सचिव को भेजी गई आपत्ति में पालिकाध्यक्ष ने पांच बिंदुओं पर आपत्ति दाखिल की गई।सीमा विस्तार को जन आकांक्षाओं के विपरीत और नगर पालिका की आय कम होने से विस्तार होने से नए शामिल क्षेत्र को नगरीय सुविधा देने मे आने वाली समस्य,ग्राम पंचायतों में प्रधानों का कार्यकाल चार वर्ष अवषेश होने,नगर पालिका बोर्ड के दो बार सीमा विस्तार का प्रस्ताव निरस्त करने का उल्लेख किया गया है।
अध्यक्ष ने कहा की सीमा विस्तार में नगर के मध्य केंद्र से चारों दिशाओं में एक समान त्रिज्या की दूरी के क्षेत्र को शामिल न किये जाने का प्रस्ताव जन विरोधी है।कहा कि सरकार शहर के गौरवशाली इतिहास को समाप्त करने में जुटी है।ख़्वाजाहाल के सभासद मो. इरफान ने नपाप सीमा विस्तार के विरोध में आपत्ति दाखिल की है।सीमा विस्तार को मनमाने तरीके से जनता की भावनाओं से खिलवाड़ बताया है।उन्होंने बताया कि आपत्ति दाखिल की है।अगर आपत्ति पर विचार नहीं हुआ तो वह न्यायालय की शरण लेंगे।युवा व्यापार मंडल महामंत्री मो0 शारिक ने पालिका सीमा विस्तार पर अपनी शिकायत दर्ज कराई।कहा कि सीमा विस्तार में जिन गावो को शमिल करने का प्रस्ताव है उनके कई गाव को आंशिक शामिल किया गया है।भेलसर और भौली गाव को आंशिक रूप से शामिल किया जाना जन विरोधी है।नगर पालिका विस्तार की मुहिम चलाने वाले भजापा के पूर्व नगर अध्यक्ष सतिन्द्र प्रकाश शास्त्री ने कहा कि सीमा विस्तार से शहर के आस पास के गाव का विकास होगा।कहा कि 20 वर्ष पूर्व विस्तार में शामिल होने वाले 24 गांवों सहित शहर के भवन मानचित्र स्वीकृत का कार्य नगर पालिका से वापस लेकर सरकार द्वारा गठित विनियमित क्षेत्र रूदौली के नियत प्राधिकारी उपजिलाधिकारी रूदौली को सौपा गया था।विनियमित क्षेत्र में सहर के 25 वार्डों सहित आसपास के 24 गाव को शामिल किया जाना पालिका विस्तार की पूर्व तैयारी रही है।अब इन गांवों के नगर क्षेत्र में शामिल होने विकास तेजी से होगा।भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष आशीष शर्मा ने कहा कि नगर के विस्तर से गाव में शहर की सुविधा हो जावेगी। जीवन स्तर में सुधार होगा।कहा जो विस्तार का विरोध कर रहे उनके राजनीतिक जीवन पर संकट मंडरा रहा है।
वहीं भेलसर गांव के आंशिक भाग को शामिल किए जाने से असन्तुष्ट भेलसर गांव निवासी साद अख्तर सहित दर्जनों ग्रामीणों ने प्रमुख सचिव पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश व उपजिलाधिकारी के माध्यम से शिकायत कर किए गए सीमा विस्तार को निरस्त किए जाने व सीमा विस्तार में शामिल आंशिक ग्राम पंचायतों की जगह सम्पूर्ण ग्राम पंचायतों को शामिल किए जाने की मांग की है।उनकी शिकायत है कि नगर पालिका परिषद रुदौली की जनसंख्या वर्ष 2011 में लगभग 50 हज़ार थी जो इस समय एक लाख तक पहुंच चुकी है।साद अख्तर ने बताया कि मौजूदा समय मे नगर पालिका परिषद रुदौली सीमा विस्तार मनमाने व नियम विरुद्ध तरीके से किया गया है किए गए सीमा विस्तार में 24 गांवों को शामिल किया गया है जिनके अधिकतर आंशिक भाग को ही शामिल किया गया है।जबकिं उन सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधान पद हेतु चुनाव सम्पूर्ण अंश का हुआ है।इसके अलावा नगर पालिका परिषद सीमा विस्तार में रूदौली नगर पालिका केंद्र से एक निश्चित दूरी की त्रिज्या में क्षेत्र को न शामिल करके सांप्रदायिक व जातीय समीकरण से सत्ता पक्ष को लाभ पहुंचाने की नीयत से किया गया है।लगभग तीस वर्ष पूर्व भेलसर गांव सहित अन्य दर्जनों गांवों को मानक के विरुद्ध शामिल करके रूदौली को विनियमित क्षेत्र घोषित किया गया था।लेकिन आज तक विनियमित क्षेत्र में शामिल ग्राम पंचायतों में विनियमित क्षेत्र से किसी भी ग्राम पंचायत में कोई भी विकास कार्य देखने को नहीं मिला।इसलिए नगर पालिका परिषद रुदौली सीमा विस्तार निरस्त किया जाए। ग्राम पंचायत भेलसर के ग्राम प्रधान मोहम्मदअलीम गय्यम,साद अख्तर,महताब आलम,मोहम्मद शाकिब,सिराज अहमद,मुजाहिद इस्लाम, मो,शाहिद,अरशान हुसैन,राम प्रताप,सुनील कुमार,तुफैल अहमद,मोहम्मद शाहिद सहित दर्जनों ग्रामीणों ने हस्ताक्षर युक्त शिकायती पत्र देकर नगर पालिका परिषद रुदौली का सीमा विस्तार निरस्त किए जाने की मांग की है।