महाराष्ट्रराजनीतिराज्यराष्ट्रीयस्थानीय खबरें

मुम्बई 07 अप्रैल*Interpretation Center का निर्माण और फायर ब्रिगेड की सहमति के बिना अधिभोग प्रमाणपत्र प्राप्त किया, ऐसें डेवलपर की गिरफ्तारी हो।*

मुम्बई 07 अप्रैल*Interpretation Center का निर्माण और फायर ब्रिगेड की सहमति के बिना अधिभोग प्रमाणपत्र प्राप्त किया, ऐसें डेवलपर की गिरफ्तारी हो।*
(आरपीआय डेमोक्रॅटिक डॉ. माकणीकर द्वारा मांग)

*मुंबई: दि (संवाददाता) रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रॅटिक) के राष्ट्रीय महासचिव पँथर डॉ. राजन माकणीकर ने आकृती हब टाऊन डेवलोपर विमल शाह की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है, जो पॉकेट नंबर 9 में पोडियम और बेसमेंट के लिए फायर ब्रिगेड की सलाह के बिना प्रशासन को गुमराह और धोखा देकर कबजे का प्रमाणपत्र प्राप्त किया हाई।*

पॉकेट नंबर ९ सरिपुत नगर में १८८६४ वर्ग मीटर का एक भूखंड है और यहां एक झुग्गी सुधार योजना लागू की जा रही है। डेवलपर ने यहां एफएसआई बिल्डिंग के “ए” और “बी” विंग में पार्किंग के लिए आरक्षित पोडियम और बेसमेंट के लिए फायर ब्रिगेड को भुगतान किए बिना अधिभोग का प्रमाण पत्र प्राप्त किया है और एक ही इमारत में व्याख्या केंद्र का निर्माण किए बिना। अनधिकृत कार्य डेवलोपर द्वारा किया गया हैं।

इसके अलावा, ईसी इमारत के “सी” विंग में, ६ वीं मंजिल पर फ्लैटों को अभी तक अधिभोग प्रमाणपत्र नहीं दिया गया है, लेकिन नागरिक यहां रह रहे हैं।

एमआयडीसी प्रशासन को गुमराह करके अधिवास प्रमाण पत्र प्राप्त करके फ्लैटों को बेच दिया गया है। जिन फ्लैट्स की बिक्री को “C” विंग में ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं मिला है, उन्हें तुरंत एमआयडीसी प्रशासन द्वारा से रोका जाना की दरखास्त डॉ राजन माकणीकर एवं राज्य महासचिव कॅ श्रावण गायकवाड द्वारा मुख्य कार्यकारी अधिकारी को दि गयी हैं।

डेवलपर विमल शाह और मास्टरमाइंड महादलाल मुरजी पटेल को इस सरकारी परियोजना से चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाणा चाहीये। डॉ. राजन माकणीकर और कॅ. श्रवण गायकवाड़ ने की हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button