महाराष्ट्रराज्यराष्ट्रीयस्थानीय खबरें

मुम्बई 20 मार्च*फर्जी तरीके से पुनर्वास के बिना FSI लेने के लिए डेव्हलपर विमल शाह को अरेस्ट करे। : – डॉ. राजन माकणीकर*

मुम्बई 20 मार्च*फर्जी तरीके से पुनर्वास के बिना FSI लेने के लिए डेव्हलपर विमल शाह को अरेस्ट करे। : – डॉ. राजन माकणीकर*

*मुंबई: दि (संवाददाता) डेवलपर विमल शाह ने अंधेरी एमआईडीसी पॉकेट नंबर 2, शांति नगर क्षेत्र और पॉकेट नंबर 6 माहेश्वरी नगर क्षेत्र में झोपड़ियों के पुनर्वास से पहले पुनर्वास के लिए एफएसआई का लाभ उठाया। धोखाधड़ी के लिए डेवलपर और उसके साथी मुरजी पटेल के खिलाफ अरेस्ट कर लिया जाये। आरपीआय राष्ट्रीय महासचिव डॉ. राजन माकनीकर की मांग।*

स्लम सुधार योजना के तहत, MIDC ने अस्थायी आधार पर पारगमन शिविरों के लिए जगह प्रदान की थी, लेकिन; डेवलपर विमल शाह ने खाली जमीन वापस किए बिना बिल्डिंग का निर्माण करके एफएसआई को बेच दिया है।

जब इतना बड़ा घोटाला चल रहा था तो एमआईडीसी के संबंधित अधिकारियों ने क्यों आंखें मूंद लीं? इसकी जांच करना बहुत जरूरी है और संबंधित अधिकारी, डेवलपर विमल शाह और इन सभी मामलों के मास्टरमाइंड महादलाल मुरजी पटेल की जांच की जरूरत है।

 

पॉकेट नं. 2 और 6 का पुनर्वास करे, ट्रांजिट कैंप के लिए आवंटित स्थान को वापस ले, डेवलपर और महादलाल मुरजी पटेल के खिलाफ धोखाधड़ी और गबन का मामला दर्ज करें। ऐसी मांग रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रॅटिक राष्ट्रीय महासचिव डॉ. राजन माकनिकर एवं राज्य महासचिव कैप्टन श्रवण गायकवाड़ ने MIDC के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पास शिकायत दर्ज कराई है।

इस मामले में, पिछले महीने एक मोर्चा आयोजित किया गया था; पुलिस के वरिष्ठ निरीक्षक जगदीश शिंदे और एमआईडीसी एसआरए परियोजना के प्रमुख संतोष करंडे ने कार्रवाई करणे का अस्वासन दिया और मोर्चा के बजाय कोविड की वजह से प्रतिनिधी मंडल आकर बातचीत करने का अनुरोध किया। मात्र: अबतक मामला हल ना हो चूका है इसलीये फिर से मोर्चा आयोजन करणे वाले है। ३० अपरेल तक मुरजी पटेल, डेव्हलपर विमल शहा व ऊस ऊस समय के भ्रष्ट आला अधिकारी पर कानुनंन कारवाई नहीं किये जाणे पर आत्मदाह का अलटीमेंटम पहलेही डिया है। डॉ. राजन माकनिकर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button