उत्तर प्रदेशउत्तराखंडराज्यस्थानीय खबरें

गोण्डा 10 मार्च*यूपी आजतक न्यूज़ से आज की खास खबरे

[10/03, 4:21 PM] +91 88586 08720: गोण्डा-दिनांकः 10.03.2021

*अधिकारी सुनिश्चित करें कि मंडल में न रहे कोई बंधुआ मजदूर – आयुक्त*

*श्रम विभाग की योजनाओं का कोई अपात्र लाभ न उठाने पाएं, इसके लिए होगी रेंडम जांच* – *आयुक्त*

आयुक्त, देवीपाटन मंडल एसबीएस रंगाराव ने श्रम विभाग की समीक्षा के दौरान प्रवर्तन कार्य से संबंधित क्षेत्रीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे हर जनपद से बंधुआ मजदूरों से संबंधित सूचनाएं एकत्रित करने तथा उनके संबंध में प्रमाण पत्र प्राप्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा है कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि मंडल के ग्रामीण क्षेत्रों में भी झारखंड, छत्तीसगढ़ सहित अन्य प्रदेशों के यदि कहीं पर बंधुओं मजदूर हो तो उसकी सूचना जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के साथ ही क्षेत्रीय राजस्व कर्मियों व अन्य शासकीय कर्मियों से प्राप्त होते ही तत्काल कार्यवाही की जाए, इसके लिए उन्होंने मीडिया बंधुओं से भी इस कार्य में सहयोग की अपील की है । आयुक्त ने मुक्त कराएं गए बंधुआ मजदूरों व उनसे संबंधित वादों की भी समीक्षा की।
आयुक्त ने बैठक में उपश्रमायुक्त को निर्देशित किया कि वे सभी क्षेत्रों से संबंधित पंजीकृत श्रमिकों की सूचना दो दिन के भीतर उन्हें उपलब्ध कराएं तथा ईट- भट्ठों के पंजीकृत श्रमिकों का सत्यापन समय – समय पर कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना तथा श्रम कल्याण परिषद की योजनाओं की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि पात्रों को इन योजनाओं से शीघ्रतिशीघ्र लाभान्वित कराया जाए। उन्होंने पंजीकृत श्रमिकों के भौतिक सत्यापन कराने तथा वाणिज्य कर विभाग से सूचनाओं का आदान- प्रदान करने के साथ ही मंडल में रजिस्टर्ड फर्म से टैक्स जमा कराएं जाने की स्थित की क्रास चेकिंग कराए जाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने श्रम विभाग द्वारा दी जा रही साइकिल, शादी अनुदान व आर्थिक सहायता के संबंध में मंडल के सभी जिलाधिकारियों से अपेक्षा की है कि वे इसकी रेंडम जांच कराते रहें ताकि मानक और पात्रता के अनुसार पात्र लोगों को ही योजनाओं का लाभ मिले। किसी भी दशा में अपात्र लाभार्थी लाभान्वित न होने पाए। उन्होंने स्टांप शुल्क जमा कराए जाने की भी रेंडम जांच कराए जाने के निर्देश दिए हैं।
बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त श्री वीरेंद्र प्रसाद पांडे तथा उप श्रम आयुक्त रचना केसरवानी सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।
[10/03, 4:21 PM] +91 88586 08720: गोण्डा-दिनांकः 10.03.2021
*उचित दर दुकानों का 2 माह से अधिक प्रकरण लंबित रखने वाले उप जिलाधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी तथा खंड विकास अधिकारियों से स्पष्टीकरण*

*मंडल में 246 गेहूं क्रय केंद्र बनाए गए।*

*गेहूं क्रय केंद्रों पर पानी व छाया की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए _आयुक्त*

*घपलेबाज धान क्रय केंद्रों के प्रभारी कदापि न बने गेहूं क्रय केंद्रों के प्रभारी*
– *आयुक्त*

आयुक्त, देवीपाटन मंडल श्री एस बी एस रंगाराव ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत रिक्त दुकानों का व्यवस्थापन, आवंटित उचित दर दुकानों के सापेक्ष दुकानों का निलंबन तथा बहाली की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया है कि 2 माह से निलंबित व रिक्त दुकानों के संबंध में संबंधित अधिकारी तत्काल निरस्तीकरण व बहाली का निर्णय ले लें ताकि वितरण व्यवस्था ठीक प्रकार से संचालित होती रहे। उन्होंने ऐसे प्रकरण लंबित रखने वाले उप जिलाधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी तथा खंड विकास अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं।
आयुक्त ने गेहूं खरीद वर्ष 2021 – 22 में अब तक देवीपाटन संभाग में कुल 246 गेहूं क्रय केंद्र अनुमोदित होने की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया है कि गेहूं क्रय केंद्रों पर गर्मी के मौसम के दृष्टिगत पेयजल और छाया की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं की धान क्रय केंद्रों पर घपले बाजी करने वाले केंद्र प्रभारियों की तैनाती गेहूं क्रय केंद्रों पर कदापि न की जाए।आयुक्त ने जिन धान क्रय केंद्रों पर धान अवशेष हैं उसे राइस मिलों को तत्काल भिजवाने हेतु संबंधित जिलाधिकारी से दूरभाष पर वार्ता कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने संबंधित क्रय एजेंसियों को निर्देशित किया है कि किसी भी धान क्रय केंद्र पर धान अवशेष नहीं रहना चाहिए। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि उनके द्वारा एक सप्ताह के भीतर इसकी समीक्षा की जाएगी। उन्होंने किसानों का अवशेष भुगतान भी शीघ्रतिशीघ्र कराने के भी निर्देश दिए हैं।
बैठक में बताया गया है कि देवीपाटन संभाग में अब तक 246 गेहूं क्रय केंद्र बनाए जा चुके हैं जिसमें जनपद गोंडा 93, बलरामपुर 44, बहराइच 71 तथा श्रावस्ती जनपद में 38 गेहूं क्रय केंद्र बनाए गए हैं। रबी विपणन वर्ष 2021 – 22 में मूल्य समर्थन योजना के अंतर्गत गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य रुपए 1975 प्रति कुंतल निर्धारित है, जबकि गत वर्ष 2020- 21 में गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य रुपए 1925 प्रति कुंतल निर्धारित किया गया था। प्रभारी संभागीय खाद्य नियंत्रक श्री दिनेश शर्मा ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2021 – 22 में गेहूं की खरीद आगामी एक अप्रैल 2021 से किया जाना प्रस्तावित है। गेहूं खरीद हेतु देवीपाटन संभाग में खाद्य विभाग, पी0सी0एफ, पी0सी0यू0, यू 0पी0 एस 0एस0, मंडी परिषद तथा भारतीय खाद्य निगम सहित कुल 6 संस्थाओं को गेहूं खरीद हेतु शासन द्वारा नामित किया गया है। गेहूं खरीद ई – पाप(electronic point off purchase) मशीन का प्रयोग करते हुए किया जाएगा। उन्होंने बताया कि समस्त गेहूं क्रय केंद्रों पर गेहूं की सफाई हेतु डस्टर की उपलब्धता अनिवार्य कर दिया गया है।
बैठक में प्रभारी संभागीय खाद्य नियंत्रक श्री दिनेश शर्मा, उपायुक्त खाद्य श्री अशोक कुमार सहित मंडल के विपणन व क्रय एजेंसियों से संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।
[10/03, 4:21 PM] +91 88586 08720: गोण्डा-दिनांकः 10.03.2021

*आयुक्त की अध्यक्षता में मंडलीय उद्योग बंधु की बैठक संपन्न*

*उद्योग विभाग की योजनाओं में 20 मार्च तक लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की जाए _आयुक्त*

आयुक्त, देवीपाटन मंडल एसबीएस रंगाराव अध्यक्षता में आयुक्त सभागार में मंडलीय उद्योग बंधु की बैठक संपन्न हुई। जिसमें आयुक्त ने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना तथा एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना आदि रोजगारपरक योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।समीक्षा के दौरान आयुक्त ने इन योजनाओं में लाभार्थियों के स्वीकृत आवेदन पत्र के सापेक्ष शत – प्रतिशत बैंकों द्वारा मार्जिन मनी वितरण का कार्य आगामी 20 मार्च तक पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा 20 मार्च तक वितरण न होने पर इसे गंभीरता से लेकर संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी
आयुक्त ने बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को स्पष्ट रूप से कहा है कि सभी योजनाओं में पात्र लाभार्थियों को इसी वित्तीय वर्ष में लाभ मिल जाना चाहिए। उन्होंने एक जनपद एक उत्पाद योजना के अंतर्गत मंडल के सभी जनपदों से संबंधित उत्पादों के *”लोगो”* तैयार कराकर मंडल स्तर पर प्रदर्शित किए जाने के भी निर्देश दिए। समीक्षा के दौरान विभिन्न योजनाओं में अपेक्षाकृत जनपद गोंडा की प्रगति ठीक पाई गई किंतु मण्डल के सभी जनपदों से 20 मार्च तक शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने के निर्देश दिए गए।
बैठक में संयुक्त आयोग उद्योग श्री एच0पी 0सिंह मंडल के उद्योग विभाग के अधिकारी, लीड बैंक अधिकारी तथा महेश गुप्ता सहित अन्य उद्यमी गण उपस्थित रहे।
[10/03, 4:21 PM] +91 88586 08720: गोण्डा-दिनांकः 10.03.2021

*आयुष्मान पखवाड़ा की अवधि में बनाए जाने वाले नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड का विवरण दो दिन के अंतराल पर उपलब्ध कराएं अधिकारी – आयुक्त*

आयुक्त, देवीपाटन मंडल एसवीएस रंगाराव ने आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के अंतर्गत आगामी 24 मार्च तक मनाए जा रहे आयुष्मान पखवाड़ा के संबंध में अपर निदेशक स्वास्थ्य को निर्देशित किया कि वे योजना से आच्छादित आयुष्मान कार्ड विहीन लाभार्थी परिवारों के नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड बनाने हेतु प्रत्येक ब्लॉक में ग्राम पंचायत व निर्धारित माइक्रो प्लान के अनुसार जन सेवा केंद्र संचालकों के माध्यम से कैंप लगाकर नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड बनवाना सुनिश्चित कराएं तथा इससे संबंधित प्रगति आख्या 2 दिन के अंतराल पर उन्हें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि माननीय मुख्यमंत्री जी के इस प्राथमिकता के अभियान के अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी पात्र लाभार्थी परिवार नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड बनाए जाने से वंचित न रहे।
बैठक में अपर निदेशक स्वास्थ्यश्री डॉक्टर आनंद ओझा, मंडलीय परियोजना प्रबंधक स्वास्थ श्री राहुल पटेल सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।
[10/03, 5:25 PM] +91 88586 08720: गोण्डा-दिनांकः 10.03.2021,

👉 *समाज कल्याण मंत्री के हाथों सहायक उपकरण पाकर गदगद हुए दिव्यांग*

👉 *दिव्यांग बच्चों के लिए किए जा रहे बेहतर प्रयासों की डीएम ने की सराहना*

👉 *दिव्यांगों के लिए माध्यमिक शिक्षा स्तर के आवासीय विद्यालय हेतु शासन को भेजा जाएगा प्रस्ताव-समाज कल्याण मंत्री*

बुधवार को ब्लाक संसांधन केन्द्र नवाबगंज के प्राथमिक विद्यालय नगवा में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से समेकित शिक्षा और समग्र शिक्षा अभियान के तहत 231 दिव्यांग बच्चों को निःशुल्क सहायक उपकरण प्रदान किए। सहायक उपकरण कार्यक्रम का शुभाम्भ प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री,  डीएम मार्कंडेय शाही व पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम कानुपर के सहयोग से आयोजित सहायक उपकरण वितरण कार्यक्रम में विशिष्ट श्रेणी के 231 बच्चों को उनकी जरूरत के मुताबिक उपकरण प्रदान किये गए जिसमें 11 ट्राईसाइकिल, 34 व्हीलचेयर, 04 बैसाखी, 06 सीपी चेयर, 67 एमएसआईडी किट, 76 श्रवण यंत्र, 08 ब्रेलकिट, 06 फोल्डिंग केन, 02 स्मार्ट केन, 12 रोलेटर, 02 एल्बोक्रच, 02 बे्रल स्लेट तथा 01 एडीएल किट दिए गये।
इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने कहा कि सरकार समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पित है और इस दिशा में लगातार काम भी कर रही है। उन्होंने कहा कि दिव्यांग बच्चों को दिए जा रहे उपकरण उनके लिए बहुत ही सहायक सिद्ध होंगे। इस अवसर पर उन्होंने घोषणा की कि शीघ्र ही जनपद के दिव्यांग बच्चों के लिए माध्यमिक शिक्षा स्तर के आवासीय विद्यालय शुरू कराने हेतु शासन स्तर से प्रयास शुरू करेंगे।
इस अवसर पर जिलाधिकारी मार्कंडेय शाही नेे बेसिक शिक्षा विभाग और भारतीय  कृत्रिम अंग निर्माण निगम के सार्थक प्रयासों की सराहना करते हुए कहा की बेसिक शिक्षा विभाग और एलिम्को दिव्यांग बच्चों के जीवन में नई रोशनी लेकर आया है। उन्होंने कहा कहा कि दिव्यांग बच्चों के प्रति हमारी नैतिक जिम्मेदारी है कि हम उन्हें हीनभावना से ग्रसित न होने दें बल्कि सामान्य बच्चों की तरह ही उन्हें बराबरी का दर्जा दें। उन्होंने जिले के हलधरमऊ ब्लाक के तीन दिव्यांग बच्चों जिन्होंने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ओलम्पिक मेें गोल्ड, सिल्वर व कांस्य पदक जीतकर जिले का मान बढ़ाया है का उदाहरण भी दिया। उन्होंने स्पेशल एजूकेटर्स को निर्देश दिए कि वे लोग और अधिक परिश्रम करें तथा यह सुनिश्चित करें कोई भी दिव्यांग बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहने पावे।
जिलाधिकारी ने मण्डल स्तर पर दिव्यांगों के लिए माध्यमिक शिक्षा स्तर का आवासीय विद्यालय बनाए जाने हेतु शीघ्र प्रस्ताव भेजने की बात कही। उन्होंने निर्देश दिए कि दिव्यांग बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए लगातार मेडिकल चेकअप कराते रहें तथा गर्भवती महिलाओं का प्रसव पूर्व पर चेकअप करातेे रहें।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडे ने कहा कि ईश्वर यदि किसी के शरीर में कोई अपंगता देता है तो भी कुछ विशेष गुण भी देता है और वह विशिष्ट गुण हमारे जिले के दिव्यांग बच्चों में दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह बच्चे निश्चित ही अपने पैरों पर खड़े होकर दिखाएंगे।
सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा/जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विनय मोहन वन ने कहा कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत 06-14 वर्ष तक की उम्र के बच्चों को शिक्षा का अधिकार दिया गया है। इसी योजना के तहत वर्तमान में जिले में 6107 दिव्यांग बच्चे पंजीकृत हैं जिन्हें हर तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं। इस अवसर पर खण्ड शिक्षा अधिकारी आरपी सिंह ने अतिथियों का स्वागत पौधे व पुष्पगुच्छ भेंट कर किया। कार्यक्रम का संचालन जिला समन्वयक समेकित शिक्षा राजेश सिंह ने किया।
इस दौरान माननीय मंत्री के अनुज श्री बाबूलाल शास्त्री, सांसद गोंडा के प्रतिनिधि कमलेश पांडे, पीआरओ वेद प्रकाश दुबे, जनार्दन तिवारी, एडी बेसिक विनय मोहन वन, खण्ड शिक्षा अधिकारी ओएन वर्मा, जिला समन्वयक एमडीएम गणेश गुप्ता, एलिम्को से डा0 नीरज कुमार वर्मा व डा0 मनोज कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
[10/03, 6:36 PM] +91 88586 08720: गोंडा 10.03.2021

👉 *भ्रष्टाचारियों की खैर नहीं, डीएम ने की महिला अस्पताल की 1 डॉक्टर व 1 स्वीपर सहित 2 कर्मियों की सेवा समाप्त*

गोंडा।
स्वाथ्य विभाग में डीएम मार्कंडेय शाही की सर्जरी जा रही है। डीएम की साफ चेतावनी के बाद भी न सुधरने वाले महिला अस्पताल के दो कर्मियो पर बर्खास्तगी की गाज गिरी है।
डीएम मार्कंडेय शाही के आदेश पर महिला अस्पताल की डॉक्टर रश्मि शर्मा एवं स्वीपर अमन कुमार की सेवा समाप्त कर दी गई है।
बताते चलें कि ग्राम माझा तरहर निधऊ पुरवा मधईपुर गोंडा निवासी मनीष दुबे ने डीएम से शिकायत किया कि उसने अपनी भाभी ज्योति को इलाज हेतु जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया था। जिसका इलाज डॉक्टर रश्मि शर्मा कर रही थीं। मरीजों को बाहर से दवा ना लिखने की सख्त हिदायत के बाद भी महिला अस्पताल की डॉक्टर डॉ रश्मि शर्मा ने नया तरीका निकाल लिया और अस्पताल के स्वीपर अमन कुमार को मरीज के तीमारदार के साथ भेजकर मेडिकल स्टोर वाले से बात कराने को कहा। डॉक्टर से बात कराई गई जिस के क्रम में मेडिकल स्टोर से मरीज को साढ़े नौ सौ रुपए की दवाई दी गई। इसकी शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी ने संज्ञान लेते हुए महिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर एपी मिश्र को मामले की जांच कर तत्काल रिपोर्ट देने के आदेश दिए। जिसमें यह तथ्य सामने आया कि महिला अस्पताल की डॉक्टर डॉ रश्मि ने अस्पताल में कार्यरत स्वीपर अमन कुमार को मरीज के तीमारदार के साथ भेजा और उसी के मोबाइल से बात कर मेडिकल स्टोर वाले व्यक्ति को दवा देने के निर्देश दिए। जांच में शिकायत सही पाई गई जिस पर जिलाधिकारी के आदेश पर डॉ रश्मि शर्मा और स्वीपर अमन कुमार की सेवा समाप्त कर दी गई है। जिलाधिकारी ने कहा कि भ्रष्टाचारियों के खिलाफ उनका एक्शन लगातार जारी रहेगा जो भी अधिकारी कर्मचारी सरकार की मंशा अनुसार सुविधाओं को जनता तक पहुंचाने में आनाकानी करेंगे, वे कार्यवाही के लिए बिल्कुल तैयार रहें। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
[10/03, 9:06 PM] Raghvendra Singh Basti: ब्रेकिंग न्यूज बस्ती यूपी

जिले के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही पड़ सकती है भारी

शिवरात्रि मेले के वाबजूद रात्रि में बिजली कटौती से बढ़ी भक्तों की मुश्किलें

भदेश्वर नाथ में हजारों की संख्या में रात्रि में पूजा पाठ करने के लिए मंदिर पर मौजूद है भक्त

बिजली विभाग के जिम्मेदार अधिकारी दे रहे रोस्टर का हवाला

आखिर जिम्मेदार अधिकारियों ने क्यों नही उठाए जरूरी कदम।

राघवेन्द्र सिंह
8004723725

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button