उत्तर प्रदेशउत्तराखंडराज्यस्थानीय खबरें

बाँदा 09 मार्च*सांडी खदान खण्ड संख्या 4 में प्रशासन की मिलीभगत से केन नदी में हो रहा है अवैध खनन

बाँदा 09 मार्च*सांडी खदान खण्ड संख्या 4 में प्रशासन की मिलीभगत से केन नदी में हो रहा है अवैध खनन

पैलानी।पैलानी तहसील क्षेत्र के सांडी खदान संख्या 4 में प्रशासन की सहय में हो रहा है पोकलैंड मशीनों से अवैध खनन।बाँदा जनपद में नदियों में हो रहे अवैध खनन को रोकने के लिए विभिन्न गाँवो की ग्रामीण महिलाओं ने जलसखी मोर्चा बनाया है।जलसखी मोर्चा की उषा निषाद ने आरोप लगाया है कि सांडी की खदान संख्या 4 में जिला व तहसील प्रशासन की सह में हो रहा है अवैध खनन।इस खदान में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की गाइड लाइन को दरकिनार करते हुए रिवरबेड पर ओवरलोडिंग परिवहन की जाती हैं।साथ ही आरटीओ विभाग,सेलटैक्स जांच के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है। बाँदा के पैलानी के सांडी खण्ड संख्या 4 में बेखौफ होकर सत्ता समर्थित सिंडिकेट अवैध खनन की सल्तनत को पोकलैंड से आबाद कर बुंन्देलखण्ड को खोखला, जल विहीन करने पर आमादा है और जलशक्ति मंत्री डाक्टर महेंद्र सिंह जलचौपाल करके कोटा पूरा करते नजर आते है। मुख्यमंत्री योगी प्रदेश में कहीं भी जाने से पहले इन अफसरों खाशकर बुंन्देलखण्ड के इलाके में मौरम खदानों पर सीधा हस्तक्षेप क्यों नही करते यदि वास्तव उन्हें यहां के जलसंकट व सिंचाई योजनाओं की खैरख्वाह है ? जब नदी रेगिस्तान बन जाएगी तो तालाब,नहर की बड़ी योजनाओं को कारगर कैसे किया जा सकता है सवाल यह लाजमी है ? क्या सर्किट हाउस में बैठकर या कलेक्टर के निर्देश मात्र से बाँदा का भला हो सकता है ? आज का वीडियो गौर करें और सवाल करिये खुद से की हमारा जल भविष्य कितना सुरक्षित है ।

यूपी आज तक बांदा ब्यूरो मदन गुप्ता की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button