Worldउत्तर प्रदेशउत्तराखंडराज्यस्थानीय खबरें

ब्रेकिंग बांदा 03 मार्च*जसपुरा के बड़े सेवाला में हो रही संगीतमय रामकथा में सेवाला के महाराज जी ने सुनाई श्रीराम भगवान की कथा

जसपुरा के बड़े सेवाला में हो रही संगीतमय रामकथा में सेवाला के महाराज जी ने सुनाई श्रीराम भगवान की कथा

 

पैलानी।कथावाचक संत व सेवाला के कृष्ण दास महाराज जी ने बुधवार को यज्ञ के आखिरी दिन राम और भरत के मिलन कथा सुनाया। उन्होंने इस पर बोलते हुए और बताया कि अयोध्या वासियों ने निर्णय लिया था कि जब तक राम और भरत का मिलन नहीं होगा या प्रभु श्रीराम वापस अयोध्या नहीं आएंगे वे एक समय ही आहार लेंगे,जमीन पर सोएंगे । इस तरह के एक साथ कई निर्णय लिया तत्पश्चात भी यह मिलन हो ना पा रहा था ,तब नारद ऋषि यों के पास गए तब नारद मुनि को ऋषियों ने बताया कि जब तक मन ,बुद्धि ,चित्त और अहंकार गिरेंगे नहीं तब तक यह मिलन संभव न होगा| और जब यह गिरे तब जाकर फिर भगवान ने भरत को उठकर गले से लगायाऔर दोनों भाई एक हुए फिर कहीं राम और भरत मिलन हो पाया | इस मौके पर संत ने तुलसी के महत्व पर भी गहरी चर्चा की। उन्होंने बताया कि तुलसी का जितना अध्यात्म में महत्व है उतना ही महत्व विज्ञान में भी है, तुलसी के पत्तों का रोज सुबह खाली पेट पांच पत्ता खाली पेट में खाने से भविष्य में कैंसर और अन्य बीमारियां होने की संभावना नहीं होती और अगर हो तो भी इसके इस्तेमाल से वह रोग बहुत जल्द ठीक होता है। ऐसा बाबा ने बताया ,साथ ही बाबा ने आज योग शास्त्र का भी ज्ञान दिया क्रोध आग समान होता है, ऐसा संत ने कहा और वैज्ञानिक प्रमाणिकता भी दिया | क्रोध से बचने का तरीका भी बताया, नीचे वाले अधर को थोड़ी देर दांत से दबाना चाहिए। इससे तत्काल क्रोध पर विजय की प्राप्ति होती है| आज नवेद इन भक्तों का जन सैलाब अपने उन्माद पर हजारों की संख्या में भीड़ जमा थी बाबा को सुनने के लिए और भरत और राम प्रभु के मिलन पर नम आंखों से सबों को सुनते देखा गया । इस मौके पर कमेटी के द्वारा महाभोग का वितरण किया गया जिससे भक्तों ने बहुत ही श्रद्धा के साथ ग्रहण किया। संत ने ज्ञान और जानकारी का विश्लेषण किया सृष्टि और रचना का विश्लेषण किया | कमेटी ने भविष्य में ऐसे ही कार्यक्रम और भी करवाने का भरोसा भक्तों को दिया है इससे भक्त बहुत हीं खुश नजर आए|

 

 

यूपी आज तक बांदा ब्यूरो मदन गुप्ता की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button