Worldउत्तर प्रदेशउत्तराखंडराज्यस्थानीय खबरें

ब्रेकिंग हरदोई 02 मार्च*बुलेट की साइलेंसर से पटाखे या गोली की आवाज निकली तो खैर नहीं

बुलेट की साइलेंसर से पटाखे या गोली की आवाज निकली तो खैर नहीं— प्रभारी क्राइम उमेश्वर प्रताप यादव

 

 

 

*पिहानी*

 

कस्बे में  रायल एनफील्ड बुलेट की साइलेंसर की आवाज़ व बाइक में अन्य बदलाव करने पर पुलिस सख्त हो गई है। कुछ लड़के हाई फाई स्पीड में बुलेट का साइलेंसर बदलकर कान फाडू आवाज से गलियों में बार बार चक्कर लगाते हैं। कस्बा पुलिस ऐसे बुलेट गाड़ियों व लड़को को चिन्हित रडार पर लेगी। प्रभारी क्राइम उमेश्वर प्रताप यादव ने सख्त लहजे में हिदायत देते हुए कहा कि सुधर जाएं वरना कार्रवाई निश्चित। गाड़ी को सीज कर मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गाड़ियों में मानक के अनुकूल बदलाव करे। तेज आवाज व सैलेंसर चेंज कराने वाली बुलेट गाड़ियों को चिन्हित किया जा रहा है

—-‐—–‐—————–

 

बुलेट से ऐसे बजता है पटाखा

 

बुलेट बाइक को तेज गति से चलाने के बाद साइलेंसर में गैस एकत्रित हो जाती है। पटाखा मारने से पहले दांई तरफ लगे स्विच को ऑफ-ऑन करने से साइलेंसर में एकत्रित गैस पटाखे का रूप ले लेती है। इस कारण तेज गति में बार-बार स्विच को ऑन-ऑफ करने से पटाखे की आवाज पैदा होती है।

 

—————————–

 

दरअसल ये कोई नई समस्या नहीं है। हर जगह हर कोने में ये देखने को मिलता है। खासकर शहरी युवाओं में बिना सायलेंसर या साइलेंसर का फिल्टर फाड़कर बाइक दौड़ाने का खास क्रेज है। इससे निकलने वाले पटाखा साउंड को बुलेट की शान माना जाता है। हालांकि इस आवाज से निश्चित ही अन्य लोगों को बहुत परेशान करती है।

—————————–

 

इससे निपटने के लिए पुलिस ने कड़े नियम भी बना रखे हैं। चालान के साथ-साथ एफआईआर का भी प्रबंध किया गया है। लेकिन स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही है।

————————–

 

लोगों में इस बात को लेकर जागरुकता तो दूर, लोगों में इसको लेकर क्रेज बढ़ता ही जा रहा है। युवा अपनी बाइक में तरह-तरह के साइलेंसर लगवाते हैं। इनमें बूस्टर, बुलेट, डबल साइलेंसर, स्ट्रोक वाले साइलेंसर खास हैं। लोग इसके लिए हजारों रुपए भी खर्च करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button