राज्यराष्ट्रीयवीडियोस्थानीय खबरें

पंजाब 02 मार्च*गवाही देने वाले भालू व उनके साथियों पर धारा 307 के तहत झूठे पर्चे दे रही है पुलिस : सिमरनजीत कौर

पंजाब 02 मार्च*गवाही देने वाले भालू व उनके साथियों पर धारा 307 के तहत झूठे पर्चे दे रही है पुलिस : सिमरनजीत कौर

भीम हत्याकांड की गवाही देने वाले भालू व उनके साथियों पर धारा 307 के तहत झूठे पर्चे दे रही है पुलिस : सिमरनजीत कौर
अबोहर, 2 मार्च (शर्मा): संत नगरी निवासी भालू की बहन सिमरनजीत कौर पत्नी गुरदेव सिंह वासी पटेल नगर मलोट जिला मुक्तसर साहिब ने फाजिल्का के एसएसपी हरजीत सिंह को एक प्रार्थना पत्र लिखकर मांग की है कि मेरे भाई भालू, विजय कुमार पुत्र मदन लाल, छोटा माकू, अंकित वासी संत नगरी के खिलाफ धारा 307 का मुकदमा नगर थाना अबोहर में दर्ज किया गया है। सिमरनजीत ने बताया कि मेरा भाई व उसके दोस्त भीम हत्याकांड के मुख्य गवाह थे। अपनी पुरानी रंजिश निकालने के लिए मेरे भाई व दोस्तों के खिलाफ 307 का मुकदमा पुलिस ने दबाव में आकर किया है। उन्होंने एसएसपी से मांग की है कि इस मामले में से धारा 307 हटाई जाये व मामले की जांच बारीकी से की जाये। ताकि सच्चाई खुलकर सामने आ सके। उन्होंने बताया कि उनके भाई के साथ जिन लोगों को 20-20 साल की कैद हुई थी उन लोगों के साथ मुकदमा दर्ज करवाने वालों के संबंध साफ नजर आ रहे हैं। इसके अलावा सिमरनजीत ने मांग की कि पुलिस ने विकास पुत्र अश्वनी कुमार के बयानों के आधार पर मुकदमा नं. 9, 29.1.2019 पुलिस ने यह मामला 452, 323, 148, 149 के तहत अमन, अभी पुत्रान रवि कुमार, रोहित उर्फ मिढ़ा पुत्र अशोक कुमार, राहुल उर्फ बहादुर, हर्ष पुत्रान पप्पू प्रधान, हनी पुत्र रवि, गौरव पुत्र माली, अन्ना पुत्री माली, मोनू पुत्र बपल, राहुल पुत्र बपल, अजय उर्फ मिथन, तुषार जागड़, विजय कुमार बलकी उर्फ पप्पू, वासी संत नगर सहित 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। सिमरनजीत कौर ने एसएसपी से मांग की है कि इन आरोपियों के खिलाफ धारा 307 की बढ़ौतरी की जाये। मेरे परिवार, मेरे भाई को सिक्योरिटी प्रदान की जाये। हमारे परिवार किसी भी समय हमला हो सकता है। मेरी तथा मेरे परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाये। एसएसपी ने मामले की जांच डीएसपी अबोहर को सौंप दी है।
फोटो:5, जानकारी देती सिमरनजीत कौर व घायल युवक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button