UncategorizedWorldउत्तर प्रदेशउत्तराखंडराजनीतिराज्यराष्ट्रीयस्थानीय खबरें

अयोध्या 27 फरवरी ब्रेकिंग न्यूज़ upaajtak से

[2/27, 7:00 PM] +91 94155 29848: *EC की घोषणा के तुरंत बाद ममता ने 8 चरणों में चुनाव पर उठाए सवाल*

चुनाव आयोग द्वारा तारीखों की घोषणा के तुरंत बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सवाल उठाए हैं. उन्होंने पूछा है कि 8 चरणों में चुनाव किसको फायदा पहुंचाने के लिए रखा गया है. गौरतलब है कि 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए वोटिंग 27 मार्च को 30 सीट, 1 अप्रैल को 30 सीट, 6 अप्रैल को 31 सीट, 10 अप्रैल को 44 सीट, 17 अप्रैल को 45 सीट, 22 अप्रैल को 43 सीट, 26 अप्रैल को 36 सीट और 29 अप्रैल को 35 सीट पर होगी. पश्चिम बंगाल में भी काउंटिंग 2 मई को की जाएगी.

याद दिला दें साल 2011 में तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल की राजनीति में इतिहास रच दिया था. ममता बनर्जी के नेतृत्व में पार्टी ने 34 साल बाद लेफ्ट की सरकार को उखाड़ फेंका. इसके बाद से लेकर अब तक ममता लगातार 2 बार बंगाल की मुख्यमंत्री बन चुकी हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या दीदी इस बार जीत की हैट्रिक लगाएंगी या फिर बंगाल में भगवा लहराएगा.
[2/27, 7:00 PM] +91 94155 29848: *गृह मंत्रालय का आदेश- 31 मार्च तक जारी रहेंगी कोरोना गाइडलाइन*

कोरोना वायरस को लेकर सरकार अलर्ट मोड पर है. आज गृह मंत्रालय ने आदेश जारी कर मौजूदा गाइडलाइंस को आगामी 31 मार्च तक बढ़ाने के आदेश दिए हैं. साथ ही गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने के आदेश भी दिए हैं. लगातार कम हो रहे कोरोना मामलों में बीते दिनों में कुछ इजाफा देखा गया है. महाराष्ट्र, केरल के अलावा कई और राज्यों में भी मामलों में इजाफा हुआ है.

आज सरकार ने निगरानी, कंटेनमेंट और सावधानी को लेकर पहले से लागू गाइडलाइंस को बढ़ाने के आदेश दिए हैं. ये गाइडलाइंस अब 31 मार्च तक जारी रहेंगी. इसके संबंध में गृहमंत्रालय ने आदेश जारी कर दिया है. वहीं, सरकार बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकारों को भी सलाह दे रही है. सरकार ने कहा है कि गिरते मामलों के बीच हमें निगरानी और कंटेनमेंट बनाए रखने की जरूरत है.

मंत्रालाय की तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कंटेनमेंट जोन को सावधानी के साथ सीमांकित किया जाना जारी रखा जाएगा. इन जोन में कंटेनमेंट उपाय का सख्ती से पालन करना होगा. इसके साथ ही कोरोना को लेकर ठीक व्यवहार को बढ़ावा दिया जा रहा है और नियमों को सख्ती से लागू कराया जा रहा है. सरकार ने कहा है कि 27 जनवरी 2021 को जारी गाइडलाइंस का ध्यान रखा जाना चाहिए.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गृहमंत्रालय ने कहा जब एक्टिव और नए कोरोना मामलों में गिरावट देखी जा रही है, तो निगरानी और कंटेनमेंट बनाए रखने की जरूरत है. सरकार ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को लक्षित आबादी को दिए जा रहे टीके लगाने की प्रक्रिया को तेज करने की सलाह दी है. देश में बीती 16 जनवरी से दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन प्रोग्राम शुरू हो गया था. सरकार पहले चरण में स्वास्थकर्मियों को टीका दे रही है.
[2/27, 7:00 PM] +91 94155 29848: *अर्थव्यवस्था पर आई अच्छी खबर, तीसरी तिमाही में 0.4 फीसदी रही जीडीपी ग्रोथ*

केंद्र सरकार ने आज शाम को इस वित्त वर्ष की दिसंबर में खत्म होने वाली तीसरी तिमाही के लिए ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट यानी जीडीपी के आंकड़े को जारी किया. भारत की अर्थव्यवस्था की ग्रोथ अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में पहले से बेहतर रही. तीसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 0.4 फीसदी रही. इससे पहले की 2 तिमाहियों के दौरान कोरोना वायरस महामारी की वजह से इसमें बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी.

आंकड़ों से साफ है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब मंदी के दौर से निकल आई है. 2 तिमाही के बाद जीडीपी ग्रोथ पॉजिटिव जोन में आई है. 26 फरवरी को नेशनल स्टैटिस्टिकल ऑफिस ने आंकड़े जारी किए हैं.

एनएसओ के राष्ट्रीय लेखा के दूसरे अग्रिम अनुमान में 2020-21 में जीडीपी में 8 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया गया है. जनवरी में एनएसओ ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अर्थव्यवस्था में 7.7 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था.
[2/27, 7:00 PM] +91 94155 29848: *शेयर बाजार में कोहराम, साल की सबसे बड़ी गिरावट, 1939 अंक फिसला सेंसेक्स*

शेयर बाजार में आज भारी गिरावट देखने को मिली. कारोबार के अंत में सेंसेक्स 1932.30 अंक यानी 3.08 फीसदी टूटकर 49,099.99 के स्तर पर बंद हुआ है. वहीं निफ्टी 568.20 अंक यानी 3.76 फीसदी टूटकर 14,529.15 के स्तर पर बंद हुआ है.

उल्लेखनीय है कि शेयर बाजार में साल 2021 की यह यह सबसे बड़ी गिरावट है. एक दिन में इतनी बड़ी गिरावट पिछले साल 4 मई को देखने को मिली थी. बाजार में तेज गिरावट को लेकर जानकारों का कहना है कि यूएस में बॉन्ड यील्ड बढ़ने से ग्लोबल बाजारों में तेज बिकवाली आई है.

भारी गिरावट के बीच सेंसेक्स 2148.83 गिरकर दिन के सबसे निचले लेवल 48,890.48 को भी छुआ. जोरदार बिकवाली के दबाव से आज कारोबार के दौरान बाजार में इस साल की सबसे बड़ी गिरावट नजर आई. बढ़ते बॉन्ड यील्ड के अलावा अमेरिकी और ईरान के बीच बढ़ता तनाव भी गिरावट को सपोर्ट कर रहा.
[2/27, 7:00 PM] +91 94155 29848: *कोरोना काल में छूट गए 21 लाख बच्‍चों को अब लगेंगे जानलेवा बीमारियों के टीके*

साल 2020 में कोरोना ने न सिर्फ अन्‍य रोगों से जूझ रहे लोगों के इलाज में भी रुकावटें पैदा कर दीं बल्कि बच्‍चों को जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए लगने वाले जरूरी और नियमित टीके भी नहीं लग सके. इसकी वजह से पिछले साल करीब 21 लाख बच्‍चे इन टीकों से वंचित रह गए. हालांकि केंद्र सरकार ने कोरोना काल में नियमित वैक्‍सीन से छूटे इन बच्‍चों के लिए मिशन इंद्रधनुष 3.0 शुरू किया है.

मिशन इंद्रधनुष 3.0 में 90 फीसदी टीकाकरण का लक्ष्‍य रखा गया है. साथ ही 2020 में टीकाकरण में आई 26 फीसदी कमी को भरने का उद्धेश्‍य बनाया है. इसमें वैक्सीन ड्रापआउड बच्चों को दोबारा मिशन से जोड़ा जाएगा. आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019 की अपेक्षा वर्ष 2020 में टीकाकरण में 26 प्रतिशत की कमी देखी गई. हालांकि अब कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए एक बार फिर जरूरी जीवन रक्षक वैक्सीन दिए जाएगें.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले साल ही स्वास्थ्य सेवाओं पर लॉकडाउन के असर को देखते हुए गृह मंत्रालय ने 15 अप्रैल 2020 को जारी आदेश में कहा था कि नियमित टीकाकरण एक अनिवार्य प्रक्रिया है, इस पर लॉकडाउन का असर नहीं पड़ना चाहिए. इसके बावजूद साल 2020 में 21 लाख बच्‍चे टीके से वंचित रह गए थे.

कोरोना काल में कुछ जगहों पर स्वास्थ्य कर्मियों की कमी, मज़दूरों का पलायन और संक्रमण के जोखिम की वजह से टीकाकरण नहीं हो पाया था. हेल्थ मैनेजमेंट इंफारमेशन सिस्टम की ओर से 9 अक्टूबर 2020 को जारी आंकड़ों में बताया गया कि वर्ष 2019 में मार्च से जून के बीच कुल 8,440,136 बच्चों का टीकाकरण हुआ, जबकि वर्ष 2020 में मार्च से जून के बीच 6,276,798 बच्चों का टीकाकरण किया गया. ऐसे में साल 2019 के मुकाबले साल 2020 में 21,63,338 कम बच्चों का टीकाकरण किया गया या किसी वजह से वह टीकाकरण के लिए उपलब्ध नहीं हो पाए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button