UncategorizedWorldउत्तर प्रदेशउत्तराखंडराज्यराष्ट्रीयस्थानीय खबरें

औरैया 25 फरवरी *दिव्यागों के लिए बनाये जाये विशेष शौचालय- जिलाधिकारी*

औरैया 25 फरवरी *दिव्यागों के लिए बनाये जाये विशेष शौचालय- जिलाधिकारी*

*जल्द से जल्द पूरा किया जाये आपरेशन कायाकल्प- जिलाधिकारी*

*बच्चों को दी जाये बेहतर से बेहतर शिक्षा- जिलाधिकारी*

*औरैया।* सभी विद्यालयों में पेयजल की व्यवस्था पूर्ण रूप से सुनिश्चित की जाये। विद्यालयों में समर सेविल को हैण्डपम्प से अलग रिबोर कराया जाये। विद्यालयों में दिव्यांगों हेतु अलग विशेष शौचालय बनाये जाये। विद्यालयों में रनिंग वाटर की व्यवस्था हर समय उपलब्ध हो। बिजली का बकाया बिल दो दिन के अन्दर जमा करा दिया जाये। उक्त निर्देश जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट में आयोजित कायाकल्प योजना की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये। जनपद में परिषदीय विद्यालयों की दशा सुधारने के लिए आपरेशन कायाकल्प चलाया जा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा इसकी नियमित समीक्षा की जाती है। गुरूवार को समीक्षा करते हुए उन्होने बीएसए से कहा कि आपरेशन कायाकल्प के तहत विद्यालयों की दशा को सुधार कर बेहतर बनाया जाये । बीएसए स्वयं इसकी नियमित समीक्षा करें। समीक्षा के दौरान बीएसए चंदना राम इकबाल यादव ने बताया कि जनपद के 5152 अध्यापको द्वारा दीक्षा एप पर पंजीकरण कराया जा चुका है। 2424 अध्यापको ने कोर्स पूरा करा दिया है। आपरेशन कायाकल्प में 14 बिन्दुओं के आधार पर भाग्यनगर के 222 विद्यालयों में से 162, अजीतमल के 217 विद्यालयों में से 152, सहार के 199 विद्यालयों में से 139, बिधूना के 226 विद्यालयों में से 160, औरैया के 237 विद्यालयों में से 161, अछल्दा के 218 विद्यालयों में से 150, एरवाकटरा के 174 विद्यालयों में से 118 विद्यालयों में कायाकल्प हो चुका है। औरैया शहर के 23 विद्यालयों में से 15 विद्यालयों में कायाकल्प का कार्य चल रहा है। सारदा योजना के अन्तर्गत 6 से 14 वर्ष के 3464 बच्चों को चिन्हित कर विद्यालय में भर्ती किया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिन विद्यालयों में आपरेशन कायाकल्प का पूरा कार्य नही हो पाया है वहां पर तेजी से कार्य करते हुए आपरेशन पूरा किया जाये। उन्होने कहा कि कोई भी भुगतान दो जगह से नही होना चाहिये। जिन विद्यालयों में अभी तक टाइल्स सही न हुए हो उन विद्यालयों के टाइल्स सही कराये जाये।
ग्राम पंचायत एवं शिक्षा विभाग अलग अलग कार्य चिन्हित करके कार्य पूरा करें। उन्होने बीएसए को निर्देश दिये कि शासन द्वारा जो योजनायें शिक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए की जा रही है यदि अध्यापक उसमें सहयोग नही करे तो उनको चिन्हित किया जाये। शिक्षिकों द्वारा बच्चों को अच्छी शिक्षा दी जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button