World

इटावा 06 फरवरी*सैफई के सुघर सिंह पत्रकार के विरुद्ध दर्ज मुकदमे में जांच करने कानपुर पहुंचेगी आयोग की टीम*

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम 8 से 12 फरबरी को कानपुर में रहेगी मौजूद*

इटावा 06 फरवरी*सैफई के सुघर सिंह पत्रकार के विरुद्ध दर्ज मुकदमे में जांच करने कानपुर पहुंचेगी आयोग की टीम*

*राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम 8 से 12 फरबरी को कानपुर में रहेगी मौजूद*

*सुघर सिंह ने कई अधिकारियों पर लगाया है फर्जी मुकदमे दर्ज कर जेल भेजने का आरोप*

*पुलिस महकमे में मचा हडकंप, न्यायालय व डीआईजी कार्यालय में दिन भर साक्ष्य इकठ्ठे करने के जुटे पुलिस अधिकारी*

*कानपुर आईजी जी मोहित अग्रवाल व डीआईजी करा सकते है मेरी हत्या : सुघर सिंह*

कानपुर नगर । 18 मार्च को नजीराबाद थाना क्षेत्र के कोकाकोला चौराहे से गिरफ्तार करके जेल भेजे गए सैफई के पत्रकार सुघर सिंह के मामले में मानवाधिकार आयोग की जांच टीम 8 फरबरी को कानपुर पहुंचेगी।

डीआईजी कानपुर प्रीतिंदर सिंह ने मुकदमे में सीओ नजीराबाद समेत एसओ मनोज रघुवंशी व मुकदमे के विवेचकों व गवाहों को सूचना भी भिजवा दी है।
सैफई के सुघर सिंह पत्रकार ने फोन पर बताया कि 17 मार्च को डीजीपी कार्यालय लखनऊ से फोन आया कि आपको डीजीपी सर ने मिलने का समय दिया है तो आप 18 मार्च को सुबह 10 बजे आ जाओ में 10 बजे लखनऊ पहुंच गया जैसे ही लखनऊ में घुसा तो डीजीपी मुख्यालय से पुनः फोन आया कि डीजीपी को मुख्यमंत्री जी ने बुला लिया है आप 3 बजे आइये तो में लगभग तीन बजे डीजीपी से मिला और कानपुर के एप्पल मोबाइल वर्कर सौरभ को फोन किया क्यो कि मेरा मोबाइल खराब था जो सर्विस सेंटर पर सही होने दिया गया था तो सौरव ने वह मोबाइल सर्विस सेंटर से उठा लिया उसे कानपुर से लेते हुए सैफई निकलना था। इसी बीच एसओ नजीराबाद मनोज रघुवंशी का व्हाट्सएप्प पर कॉल गया और बोले कि सुघर सिंह आपके द्वारा थाना फजलगंज में मुअस 152/18 धारा 420, 500, 507, 120बी, 65, 66डी, 67ए, 3(1)(यू) दर्ज कराया गया था और उसमें पांच अभियुक्तो के विरुद्ध चार्जसीट भी भेज दी गयी है उसी मुकदमे के मामले में सीओ गीतांजलि आपसे बात करना चाहती है तो हमने बताया कि हमें कानपुर मोबाइल उठाने आना है और सीओ मैडम से मिल लूंगा एसओ ने कोका कोला चौराहा पर आने को बोल दिया।
लगभग 8 बजे में कोकाकोला चौराहे पर पहुंचा तो देखा कि लगभग एसओ मनोज रघुवंशी व उसके 10 -15 पुलिसकर्मी मौजूद थे और एसओ मेरी गाड़ी के सामने आकर खड़ा हो गया। और गिरफ्तार करके थाने ले जाया गया। थाने में मेरे मुकदमो के लगभग 10 अभियुक्त थाने में मौजूद थे एसओ ने मेरी व मेरे साथियो की थर्ड डिग्री मारपीट की ड्राइवर के मामा के पैर के नाखून उखाड़ लिए। मेरे मुकदमे के विरोधियों से मुझे पिटवाया गया। मेरे रिवाल्वर से व अवैध तमंचे से फायर भी किये गए।
उन्होंने आरोप लगाया है कि इसमें मुख्य भूमिका आई जी कानपुर मोहित अग्रवाल व डीआईजी अनंत देव की है यह दोनों मेरा एनकाउंटर करना चाहते थे।
उन्होंने आरोप लगाया कि सैफई में मेरे द्वारा 5 मुकदमे दर्ज कराए गए है जिसमे विवेचकों द्वारा लापरवाही वरती गयी इस जिसकी शिकायत करने आईजी कानपुर से गया तो उन्होंने गंदी गंदी गाली दी और जेल भेजने की धमकी दी। उनके ही आदेश पर पुलिस ने मेरे मुकदमे के अभियुक्तो से मिलकर फर्जी फंसाया है।
उन्होंने आरोप लगाया कि मेरे मुकदमे के विवेचक सीओ मस्सा सिंह व एस एन बैभव पांडेय आईजी के खास है और मेरे द्वारा इनकी कई शिकायतें की गई तत्कालीन पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने तत्कालीन आईजी लोकशिकायत मोहित अग्रवाल में मेरे विवेचना के मामले की हीला- हवाली के हड़काया था इसकी बजह से मोहित अग्रवाल रंजिश मानते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने जब फर्जी फंसाये जाने की शिकायत की रिवाल्वर की बेलस्टिक जांच के लिए पत्र लिखे तो मेरी रिवाल्वर डीएम इटावा को पत्र भेजकर निरस्त करवा दी।
उन्होंने कहा कि मानवधिकार आयोग की टीम के जांच करने से अब उन्हें न्याय की उम्मीद जगी है उन्होंने आरोप लगाया कि आईजी ने उनके ऊपर अपराधियों से मिलकर दो बार जानलेवा हमला करवाया। सैफई थाने का टॉपटेन अपराधी अरुण यादव उर्फ लऊआ आईजी का खास है और उसके द्वारा जान से मारने की नीयत से हमला कराया गया जिसमें खुद पुलिस ने चोटो की डॉक्टरी कराई लेकिन आईजी के दबाब में पुलिस ने मुकदमा खत्म कर दिया जब कि लऊआ पर इटावा और मैनपुरी में 15 मुकदमे दर्ज है और दर्जन बार जेल जा चुका है सुघर सिंह ने बताया कि उन्हें 200 मोबाइल नम्बर से जान से मारने की धमकी मिल चुकी है 5 बार जानलेवा हमला हो चुका है अभियुक्तो के विरुद्ध 10 मुकदमे लिखाये गए है जिनमें दो में चार्जसीट जा चुकी है बाकी में आईजी ने कार्यवाही नही होने दी और न ही मेरे मुकदमे की विवेचना किसी अन्य जिले में स्थानांतरित की क्यो कि मेरे मुकदमे के अभियुक्तो से आईजी की मिलीभगत हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button