December 8, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

मऊरानीपुर17जून*यूपीआजतक न्यूज़ से आज की खास खबरे

मऊरानीपुर । ग्राम पंचायत नयागांव से संबद्ध बरूआमाफ ग्राम में कक्षा पांच तक सरकारी स्कूल होने से यहां के बच्चे, बच्चियां आगे की पढ़ाई लिखाई नही कर पा रहे है। अभिभावकों का कहना है कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय गांव में नही होने से बच्चें आगे की पढ़ाई नहीं कर पा रहे है। वही ग्रामीणों के लिए खेल का मैदान न होने से बच्चों के शरीर का विकास ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा है। शिवदयाल कुशवाहा, लखनलाल, भानप्रताप, पंचमलाल, चतुर्भुज, हरप्रसाद पाल, ग्यारसी, रामकुमार, आशाराम, दयाराम कुशवाहा, टंटू अहिरवार, खचोरेलाल आदि ग्रामीणों ने बरुआमाफ ग्राम में कक्षा आठ तक विधालय खुलवाने की मांग बेसिक शिक्षा अधिकारी से की है।

मऊरानीपुर । ग्राम पंचायत धायपुरा में लगा सौ के वी ए के बिजली ट्रांसफॉर्मर में तकनीकी खराबी आ जाने से ग्रामीणों के रोजमर्रा के कार्य प्रभावित हो रहे है। शिवदयाल साहू, भूपेंद्र गुप्ता, अरुण रावत, गनेश गुप्ता, रोहित रावत, रामपाल राय, भानुप्रताप यादव, हरगोविंद सिंह, जितेंद्र साहू, शहीद खां, संतोष, मनीराम, बृजकिशोर, उद्देश आदि ग्रामीणों ने संबंधित विभाग के अधिकारियों से ट्रांसफार्मर में आई तकनीकी खराबी को जल्द दूर कराए जाने की मांग की है।

मऊरानीपुर । वर्षो पूर्व ग्राम पंचायत घाटकोटरा में स्थापित किए गए पूर्व माध्यमिक विद्यालय अब खस्ताहाल में पहुंच जाने से वहां कक्षाएं लगनी बंद हो गई है। जिससे 6 से लेकर 8 तक की कक्षाओं का संचालन एकल कक्षों में संकीर्णता में किया जाता है। ग्रामीणों ने संबंधित विभाग को पत्र भेजकर नवीन भवन बनवाये जाने की मांग बेसिक शिक्षा अधिकारी झांसी से की है। मऊरानीपुर शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत घाटकोटरा में वर्ष 1966 में जूनियर हाई स्कूल स्थापित कर शासन ने वर्ष 1968 में भवन बनवाया था। जो अब खस्ताहाल में पहुंच जाने से स्कूल का प्लास्टर अनेक जगह से टपकते रहने से विभाग के आला अधिकारियों के आदेश के बाद बंद कर, संबंधित विभाग के दिशा निर्देश पर 6 से 8 तक की कक्षाओं को प्राथमिक विद्यालय के एकल कक्षों में संकीर्णता में चलाया जा रहा है। इस संबंध में प्रधानाध्यापक रघुराज सिंह सोलंकी ने बताया कि नवीन भवन बनवाने के लिए विभाग एवं शासन को पत्र भेजा गया है।

  • मऊरानीपुर । भानपुरा, कदौरा संपर्क मार्ग में जगह-जगह गड्ढे होने के कारण राहगीर एवं क्षेत्रीय ग्रामीण बेहद परेशानी का सामना कर रहे है। भंडरा से करीब आधा दर्जन से अधिक गांव को एवं मध्य प्रदेश की सीमा से जोड़ने वाली एकमात्र सड़क सालों से अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है । ग्राम भंड़रा पुरवा, घाटकोटरा, कदौरा, भानपुरा एवं मध्य प्रदेश के तमाम गांवों को जोड़ने वाली यह एकमात्र सड़क है। लेकिन संपर्क मार्ग जगह जगह से टूट गया है। जिससे राहगीर गिरकर घायल होते रहते है। कई बार इस सड़क के बारे में तहसील से लेकर जिले तक के अधिकारियों को मीडिया एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा सूचित किया जा चुका है। फिर भी समस्या पर किसी भी अधिकारी का ध्यान नहीं जा रहा है। सड़क की दुर्दशा सही कराने के लिए क्षेत्र के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र भेजकर सड़क को जल्द से जल्द दुरुस्त कराने की मांग की है।

You may have missed