July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

ब्रेकिंग रायबरेली 01 जून 21*डीएम साहब भ्रष्टाचारी केंद्र प्रभारी पर कब होगा एक्शन

डीएम साहब भ्रष्टाचारी केंद्र प्रभारी पर कब होगा एक्शन

 

 

सत्ता के दलालों की कठपुतली बना इंचार्ज

 

कोटेदार से उठान में होती है एक कुंटल की कटौती

 

बछरावां व महराजगंज में कानून का उड़ रहा है मजाक

 

 

महराजगंज रायबरेली/

कोरोना महामारी के संकट से अभी गांव के गरीब उबर नहीं पाए हैं कि महराजगंज के खाद्य एवं रसद के गोदाम प्रभारी प्रदीप शर्मा का चाबुक गरीबों की रोटी पर चलने लगा उठान में उनके हिस्से के राशन की हो रही जबरन कटौती में उनकी रातों की नींद उड़ा दी है गोदाम प्रभारी हुआ गोदाम के ठेकेदार रमेश मौर्या द्वारा कोटेदार वा राशन कार्ड धारको अपना निवाला बना अपना निवाला बना रहे हैं और सरकार की पारदर्शी व्यवस्था को तार-तार कर अपनी जेबें गर्म कर रहे हैं कलेक्टर साहब यहां गोदाम प्रभारी प्रदीप शर्मा व्हाट ए ठेकेदार रमेश मौर्य के गठजोड़ के शिकार बने कोटेदार वा राशन कार्ड धारकों को प्रताड़ित किया जा रहा है तथा राशन कार्ड धारकों में हाय तौबा मची हुई है सत्ता के दलालों के संरक्षण में चल रहे इस काले धंधे की शिकायतें कोई सुनने को तैयार नहीं है अगर छेत्री पीड़ितों की माने तो उनका गठन है सब चोर चोर मौसेरे भाई अगर डीएम साहब चाहेंगे तभी कुछ हो सकता है वरना यह लुटेरे अपना काला धंधा चलाते रहेंगे भ्रष्टाचार को रोकने व न्याय के लिए डीएम का एक्शन जरूरी हो गया है यहां बताते चलें कि महराजगंज विकासखंड के महराजगंज कस्बा स्थित खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम के गोदाम प्रभारी प्रदीप शर्मा को विगत डेढ़ महापुर महराजगंज गोदाम प्रभारी का दिया गया जबकि गोदाम प्रभारी प्रदीप शर्मा विगत 4 वर्षों से बछरावां के गोदाम प्रभारी के पद पर तैनात हैं और बसों में रहते हुए भी अपनी खाओ कमाओ नीति के चलते पहले भी सुर्खियों में रहे ऐसे में खाद्य विभाग के जिले के अधिकारी द्वारा ऐसे खाऊ कमाऊ नीति को महराजगंज गोदाम प्रभारी की कमान सौंप दी गई जो भ्रष्टाचार के दलदल में डूब रहा है गौरतलब होगा कि महराजगंज विकासखंड के 57 कोटेदार दबी जुबान अपनी बात पत्रकारों को बता रहे हैं और कह रहे हैं कि राशन उठान से पहले ही गोदाम प्रभारी प्रति कोटेदार एक एक कुंटल राशन कार्ड देते हैं और मना करने पर कोटा निरस्त करवाने की धमकी भी दे देते हैं ऐसे में साफ जाहिर होता है कि जहां पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है वही गरीबों के लिए निशुल्क राशन वितरण की व्यवस्था प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई है जिस पर पलीता लगाने का काम गोदाम प्रभारी या फिर यह भी कहा जा सकता है कि सत्ता के संरक्षण में गोदाम प्रभारी व ठेकेदार द्वारा यह घिनौना कार्य किया जा रहा है तथा राशन के समय राशन उठान के समय गोदाम प्रभारी प्रदीप शर्मा की गैरमौजूदगी यह बयां करती है कि उनके चंद चाटुकार ही गोदाम पर रहकर राशन उठान करवाते हैं जिनका गोदाम से कोई लेना-देना नहीं वही सरकार द्वारा शुरू की गई कोटेदारों को घर तक राशन भिजवाने की व्यवस्था में पलीता लगाने का काम ठेकेदार रमेश मौर्य द्वारा किया जा रहा है जिसके चलते कोटेदारों को शासन द्वारा चयनित 18 रुपए प्रति कुंतल के बजाय ठेकेदार द्वारा मात्र ₹8 कुंटल ही दिया जा रहा है जिससे कोटेदारों में आक्रोश व्याप्त है अब देखना यह है कि ऐसे भ्रष्ट गोदाम प्रभारी व ठेकेदार पर तेजतर्रार जिलाधिकारी कब कार्रवाई करेंगे यह बात संपूर्ण क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई

You may have missed