August 5, 2021

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

बांदा 15 जुलाई 21*तहसील परिसर में महंगाई, भ्रष्टाचार के विरोध में सपाइयों का धरना-प्रदर्शन,उपजिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

तहसील परिसर में महंगाई, भ्रष्टाचार के विरोध में सपाइयों का धरना-प्रदर्शन,उपजिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

 

पैलानी।पंचायत चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी ने आज गुरुवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देश पर देश व प्रदेश में महंगाई, भ्रष्टाचार के विरोध में पैलानी तहसील परिसर में एक दिवसीय धरना- प्रदर्शन किया।दीपा सिंह गौर पूर्व जिला पंचायत सदस्य के नेतृत्व में सपाइयों ने 16 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन पैलानी के उपजिलाधिकारी रामकुमार को सौपा।समाजवादी पार्टी के नेताओं का आरोप है कि उनको बड़े पैमाने पर जीत मिली मगर जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में बीजेपी ने धांधली करके चुनाव जीत लिया है। समाजवादी पार्टी का यह कहना था कि बीजेपी ने छल बल से सपा के सदस्यों को तोड़ दिया या पर्चा दाखिल करने नहीं दिया, जिसकी वजह से समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख नहीं जीत पाई।सपाइयों ने आरोप लगया की त्रिस्तरीय पँचायत चुनाव में जो हुआ उसकी कल्पना किसी ने भी नही की थी।8 जुलाई को ब्लॉक प्रमुख के नामांकन के समय व मतदान के दिन प्रत्याशी,प्रस्तावक तथा समर्थकों महिलाओ के साथ शर्मनाक घटना,अभद्रता,पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडे के साथ धक्का मुक्की की गई।किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिया जाए एवं न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) की गारंटी दी जाए।

प्रदेश में किसानों का गन्ने का बकाया भुगतान 15 हजार करोड़ रूपये तत्काल दिये जाए।

किसानों के ऊपर जो काला कृषि कानून थोपा जा रहा है उसे तत्काल वापस लिया जाए।

बढ़ती मंहगाई (डीजल-पेट्रोल, रसोईं गैस, खाद, बीज, कीट नाशक दवाएं, कृषि यंत्र इत्यादि) पर रोक लगाई जाए।बेरोजगार नौजवानों को रोजगार दिया जाए।

उत्तर प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था को दुरूस्त किया जाए।महिलाओं के साथ हो रहे अपराध पर रोक लगाई जाए।समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मोहम्मद आजम खां सांसद जी और उनके परिवार व पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न बन्द हो तथा उनके ऊपर फर्जी मुकदमें दर्ज करना तत्काल बंद किया जाए।उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार द्वारा किए जा रहे संगठित अपराध को अविलम्ब बंद किया जाए।उत्तर प्रदेश की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को तत्काल दुरुस्त किया किया जाए।बढ़ते भ्रष्टाचार पर रोक लगाई जाए। कोरोना काल में सरकार द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की जांच कराई जाए और मृतकों के परिजनों को मुआवजा दिया जाए।जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में हुई धांधली एवं हिंसा की जांच कराई जाए। जांच में पाए गए दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाई की जाए और पुनः मतदान कराया जाए।पत्रकारों के ऊपर लगातार हो रहे हमले और हत्याओं पर रोक लगाई जाए।दलित वर्ग तथा अल्पसंख्यक वर्ग पर हो रहे अत्याचार बन्द हों।पिछड़े वर्ग को अनुमन्य 27 प्रतिशत आरक्षण में कटौती बन्द हो।इस दौरान दीपा सिंह गौर, विधानसभा अध्यक्ष अमर सिंह यादव,अशोक सिंह गौर,अच्छे लाल निषाद, नरेंद्र सिंह गौतम,संतराम बाल्मीकि,नारायण दास यादव,उमा सिंह, रश्मि सिंह, सभाजीत यादव सहित सैकड़ों पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

 

यूपी आजतक बांदा ब्यूरो मदन गुप्ता की रिपोर्ट

You may have missed