June 30, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

झाँसी 03 जून*एससी एसटी आयोग के डिप्टी डायरेक्टर ने किया बबीना ब्लॉक के बघौरा गांव का दौरा, चुनाव के दिन हुई घटना का लिया संज्ञान*

झाँसी 03 जून*एससी एसटी आयोग के डिप्टी डायरेक्टर ने किया बबीना ब्लॉक के बघौरा गांव का दौरा, चुनाव के दिन हुई घटना का लिया संज्ञान*

बबीना(झाँसी): एससी एसटी आयोग के डिप्टी डायरेक्टर द्वारा
झाँसी जिले के बबीना थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत बघौरा का दौरा किया जिसमें उन्होंने मतदान दिवस के दिन जो घटना घटित हुई थी उसकी जांच मौके पर पहुंचकर की गई और उन्होंने जाना कि घटना क्यों घटित हुई थी। बघौरा में मतदान दिवस 15 अप्रैल 2021 के दिन समय सुबह 11 बजे एक दलित प्रत्याशी के साथ गांव के ही पूर्व प्रधान व उसके पुत्र और कुछ सहयोगी द्वारा जाति सूचक शब्द बोले व जान लेवा हमला किया गया था । पूर्व थानाप्रभारी व
पूर्व सीओ सदर द्वारा दलित के प्रार्थना पत्र पर कोई कार्यवाही नही की गई थी फिर पीड़ित दलित प्रत्याशी ने एससी एसटी आयोग की शरण ली और एससी एसटी आयोग ने घटना की निष्पक्ष जांच कराई और बबीना थाने में एससी एसटी के तहत 5 नाम दर्ज व 6 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया।
आज जैसे ही डिप्टी डायरेक्टर पहुंचे तो गांव के दलित जनता ने अपने साथ हो रहे अत्याचारों के बारें बताया कि उन्हें आज तक किसी भी सरकारी योजना का लाभ नही दिया गया और पूर्व प्रधान के पुत्र और उसके सहयोगी के द्वारा जो उत्पीड़न आज तक हुआ है उसके बारें में विस्तार से बताया कि किस तरह से सरकारी पैसों का बंदरबांट होता आ रहा है मनरेगा में काम कोई करता है पैसा किसी के खाते में आता है कुआ किसी का खुदा पैसा किसी और के खाते में आया, सड़क नही डाली गई आदिवासी मोहल्ले में, एक गांव वाले ने बताया कि गांव में वाटर कूलर के नाम से खर्चा पूर्व प्रधान ने दिखाया लेकिन गांव में कहीं वाटर कूलर नही लगा।
दलित आदिवासीयों को खुद के पट्टे पर मकान नही बनने दे रहे है गांव के दबंग लोग जिसकी शिकायत लखनऊ से आये अधिकारी से गांव के आदिवासी समुदाय के लोगो ने कही।
एक दलित महिला ने बताया कि उसकी नाबालिग बेटी है जिसे गांव के ही कुछ दबंग परेशान कर रहे है। कई और शिकायत गांव वालों ने खुलकर कहीं। लखनऊ व झाँसी से आये अधिकारियों ने समस्त शिकायतों पर संज्ञान लिया और कानूनी कार्यवाही करने की बात भी कही और कहा कि जो भी इस घटना में सम्मिलित होगा चाहे वह प्रत्यक्ष रूप से मिला हो चाहे पर्दे के पीछे बैठकर घटना को अंजाम कराया गया हो उसकी गहनता से जांच कराई जाएगी जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ़ कानूनी कार्यवाही अवश्य कराई जाएगी चाहे पर्दे के पीछे वाला कितना भी दबंग क्यों न हो सभी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होगी।
पूर्व थानाप्रभारी की लापरवाही के बारे में भी विस्तार से बताया कि उन्होंने कार्यवाही क्यों नही की थी
दलित प्रत्याशी के मुकदमे से संबंधित जाँच के लिए एससी एसटी आयोग के डिप्टी डायरेक्टर तरुण खन्ना, सीओ सदर अरुण कुमार चौरसिया, बबीना थानाप्रभारी विनोद कुमार मिश्रा, उपनिरीक्षक प्रभाकांत साहू, कॉन्स्टेबल पंकज जाट सहित अन्य पुलिस कर्मचारी मौजूद रहे।

You may have missed