July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

जोधपुर 25 मई*विश्व थायराइड दिवस*

जोधपुर 25 मई*विश्व थायराइड दिवस*
*लायंस क्लब इंटरनेशनल के प्रांत 3233 ई 2 के प्रांत पाल लायन संजय भंडारी जी ने प्रांत के सभी क्लबों को 25 मई विश्व थायराइड दिवस पर क्लब स्तर पर वर्चुअल जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने का आव्हान किया इसी के तहत संभाग 14 के संभागीय अध्यक्ष लायन प्रमोद राज जैन व क्षेत्रीय अध्यक्ष कुसुम लता परिहार ने अपने अंतर्गत आने वाले क्लबों को थायराइड जागरूकता के पैंप्लेटस के द्वारा बताया कि थायराइड ग्रंथि के ठीक से काम ना करने की स्थिति में शरीर किस प्रकार प्रभावित होता है पैंफलेट्स में थायराइड रोग क्या है, बचाव, उपचार, खानपान व जीवन शैली तरीके शिक्षा व रोकथाम के प्रचार प्रसार के लिए लोगों को 200 पैंफ्लेटस बांटकर लोगों को जागरूक किया*

*विश्व थायराइड दिवस*

*हर साल 25 मई को विश्व थायराइड दिवस मनाया जाता है जिससे मनाने का मुख्य कारण लोगों को थायराइड के प्रति जागरूक करना है*
*इस बीमारी को साइलेंट किलर कहती है*
*यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक होती है*

*वर्ष 2008 में अमेरिकन थायराइड एसोसिएशन और यूरोपियन थायराइड एसोसिएशन ने प्रत्येक वर्ष 25 मई को विश्व थायराइड दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की*
*पहली बार विश्व थायराइड दिवस 25 मई 2009 को मनाया गया* l

*थायराइड क्या है*
*थायराइड तितली के आकार का एक ग्रंथि है* *जो गर्दन के निचले हिस्से में स्थित इंडोक्राइन ग्रंथि में होती है*
*यह ग्रंथि शरीर में थायराइड उत्तेजक हार्मोन “टी एस एच” नामक हारमोंस बनाती है* *उससे शरीर की एनर्जी प्रोटीन उत्पादन और दूसरे हार्मोन के प्रति होने वाली संवेदनशीलता नियंत्रित करती है* *शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करती है* *यानी जो हम भोजन खाते हैं उसको ऊर्जा में बदलने का काम करती है* ।
*कारण*
*आयोडीन की कमी*, *जनेटिक*, *विकिरण थेरेपी*,
*तनाव*, *अत्यधिक दवाइयों का सेवन*, *मोनोपॉज*, *प्रेगनेंसी* *इत्यादि*

*कैसे पहचाने*( *लक्षण) *वजन कम होना*,
*गर्मी बर्दाश्त ना होना*,
*पेट में बार-बार गड़बड़ी*,
*कंपकंपी, *घबराहट और चिड़चिड़ापन, *थायराइड ग्रंथि का बढ़ जाना*,
*नींद में गड़बड़ी*, *थकान इत्यादि*

*थायराइड के दौरान जीवन शैली व खानपान*

*नियमित प्राणायाम करें*
*तनाव मुक्त जीवन जीने की कोशिश करें*
*योगासन करें *धूम्रपान, अल्कोहल नशीले पदार्थों से बचें*
*जंक फूड ना लें *तला भोजन कम से कम*
*अधिक चीनी खाने से बचें*
*कॉफी नहीं पिए*
*हर प्रकार की गोभी खाने से बचें*
*सोया नहीं खाए*
*आयोडीन युक्त आहार का सेवन करें *सूखे मेवे व सूरजमुखी के बीजों का सेवन*
*विटामिन ए वाले फलों का सेवन करें *साबुत अनाज का सेवन करें*
*विटामिंस भरपूर मात्रा में लें*
*मुलेठी के इस्तेमाल से थायराइड के कैंसर को बढ़ने से रोकता है*
*गेहूं और ज्वार का सेवन करें*
*फलों व हरी पत्तेदार सब्जियों का प्रयोग करें*
*खाली पेट लौकी का जूस पिए*
*दूध में हल्दी पका कर पीना*
*प्रतिदिन एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का सेवन करें*
*दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिलाकर सेवन करें *अश्वगंधा चूर्ण गुनगुने दूध के साथ ले*
*इस प्रकार अपनी जीवन शैली व खानपान से थायराइड से बचा जा सकता है*

*अगर आप योगासन करना चाहे तो थायराइड में निम्न योगासन कर सकते हैं*
*सूर्य नमस्कार* *पवनमुक्तासन* *सर्वागासन* *उष्ट्रासन*
*हलासन* *मत्स्यासन* *भुजंगासन*

*लायंस क्लब इंटरनेशनल क्षेत्रीय अध्यक्ष*
*मातृशक्ति सेवा संस्थान अध्यक्ष कुसुम लता परिहार*