July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

गोण्डा 26 मई*यूपी आजतक न्यूज़ से गोण्डा की खास खबरे

गोण्डा 26 मई*यूपी आजतक न्यूज़ से गोण्डा की खास खबरे

*सूचना विभाग गोंडा*
26.05.2021

▶️👉 *जिले के 1207 ग्राम प्रधानों को डीएम ने लिखा मार्मिक खत, भेदभाव के बिना विकास कार्य शुरू करने का किया आह्वान*

▶️👉 *कोरोना से लड़ाई में आगे आएं ग्राम प्रधान, सबका साथ, सबका विकास तथा सबका विश्वास के संकल्प के साथ काम करें ग्राम प्रधान- डीएम*

जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने जिले के नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को मार्मिक पत्र लिखकर कोरोना से लड़ाई एवं गांव के विकास कार्य को तेज गति देने का आहवान किया है। डीएम ने अपने अर्द्धशासकीय पत्र में ग्राम प्रधानों से कहा है कि आपको गांव की कमान संभालने पर हार्दिक बधाई। हो सकता है चुनाव में अन्य उम्मीदवार भी रहे हों परन्तु अब आप पूरे गांव के सभी जाति व धर्म के लोगों के प्रधान हैं। सबके कल्याण की जिम्मेदारी अब आपकी है। अतः आपको उदारमना होकर सबका साथ, सबका विश्वास हासिल कर सबका विकास करना हैं। गाॅव के कमजोर वर्ग के लोगों महिलाओं और बच्चों के प्रति आपको विशेष ध्यान देना होगा।
गांव के विकास के लिए संसाधनों की कमी नहीं है। राज्य स्तर, केन्द्र स्तर की विभिन्न योजनाओं को सही रूप से, सही व्यक्तियों तक पहुंचाने से गांव की तस्वीर बदल सकती है। गरीब कमजोर व वंचित के कल्याण से आपको असीम दुआएं मिलेगी और आपको सुखद अनुभूति होगी।
आजकल जब गांव, प्रदेश और देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है और मानव पर गंभीर संकट आन पड़ा है, गांव के मुखिया की कमान संभालना बहुत चुनौतीपूर्ण है। सभी गांववासी आपकी ओर संकट की इस घड़ी में बहुत उम्मीद से देख रहे हैं। मुझे विश्वास है कि आप उन्हें निराश नहीं होने देंगे। इस समय मानव को बचाना सबसे जरूरी है और यही मानवता का तकाजा भी है।
वर्तमान में मानव मात्र को महामारी से बचाने के लिए सबसे पहले आपको सफाई और स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा। आप सबसे पहले अपनी गांव पंचायत के स्वास्थ्य उपकेन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को गोद लेकर उसका जीर्णोद्वार अधोसंरचना विकास सुन्दरीकरण कराकर, उसका बेहतर उपयोग कर सकते हैं। दूसरे नम्बर पर आंगनवाड़ी केन्द्र, पंचायत भवन व प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय का कायाकल्प करा सकते हैं। गाॅव के नाले, नालियों, गलियों सार्वजनिक स्थलों की साफ-सफाई, जल भराव वाले जगहों पर छिड़काव, हैण्डपम्पों का क्लोरीनेशन, इण्डिया मार्का-प्प् के स्वच्छ जल का उपयोग, शौचालय के प्रयोग, ब्लीचिंग पाउडर, चूना आदि का छिड़काव, फागिंग आदि कराकर एवं सभी तरह के टीके लगवाकर गांव को बीमारी से बचा सकते हैं तथा इलाज की बेहतर व्यवस्था से मानव के समक्ष आए इस संकट से अपने गांव को सुरक्षित कर सकते हैं। बच्चे हमारा भविष्य हैं। आंगनवाड़ी केन्द्रों का प्रभावी संचालन कराकर हम माताओं, बच्चों के पोषण स्तर को बढ़ा सकते हैं। विद्यालयों का निकट पर्यवेक्षण कर अपने भविष्य को स्वस्थ, साक्षर बना सकते हैं। विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं, पेंशन और जरूरतमंद पात्र व्यक्तियों को राशन व पात्रता के आधार पर विकास योजनाओं का लाभ दिलाकर, रोजगार दिलाकर आप गांव की तदवीर, तस्वीर व तकदीर बदल सकते हैं। उन्होंने कहा है कि आवश्यकता है सही मन से दृढ़ संकल्प लेने की और अपनी नेतृत्व क्षमता साबित करने की। मुझे विश्वास है कि आप इसे अवश्य साबित करेंगे, और अपने गांववासियों का निराश नहीं होने देंगे।
[26/05, 7:00 PM] +91 88586 08720: *सूचना विभाग गोंडा*
26.05.2021

▶️👉 *स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर डीएम के औचक निरीक्षणों से मचा हड़कम्प*

▶️👉 *डीएम ने सीएचसी छपिया, बभनजोत, पीएचसी मसकनवा तथा ब्लाक बभनजोत का किया औचक निरीक्षण*

▶️👉 *कई महीने से नदारद मेडिकल अफसर की सेवा समाप्ति के आदेश*

▶️👉 *सीएचसी अधीक्षक को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के साथ ही स्थानांतरित करने के आदेश*

▶️👉 *स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी को तत्काल कोविड कन्ट्रोल रूम में सम्बद्ध करने के आदेश*

▶️👉 *डीएम के निरीक्षण में गैर हाजिर मिले कई कर्मचारी, वेतन रोकने के साथ विभागीय कार्यवाही के आदेश*

स्वास्थ्य सेवाओं में व्यापक स्तर पर सुधार को लेकर डीएम मार्कण्ढेय शाही का औचक निरीक्षण और कार्यवााहियों का दौर जारी है। मंगलवार को डीएम श्री शाही ने सीएची छपिया, बभनजोत,काजीदवेर तथा प्रााथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मसकनवा एवं ब्लाक बभनजोत का औचक निरीक्षण किया तथा निरीक्षण में मिली खामियों पर जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही के आदेश दिए हैं तथा छपिया सीएचसी के एक डाक्टर द्वारा अस्पताल में ड्यूटी करने के बजाय बिना लाइसेन्स के ओपीडी चलाने पर डीएम ने सम्बन्धित के खिलाफ एफआईआर दज कराने के आदेश तथा क्लीनिक को बन्द कराने के आदेश एसडीएम मनकापुर को दिए हैं।
मंगगलवार को डीएम के औचक निरीक्षण स्वास्थ्य महकमें में हड़कम्प मचा रहा। छपिया सीएचसी पर पहुंचे डीएम को तमाम खामियां मिलीं। मेडिकल अफसर डा0 संदीप वर्मा कई महीने से बिना किसी सूचना के अनुपस्थित मिले। डीएम ने एमओ डा0 संदीप वर्मा की सेवा समाप्त करने के आदेश दिए है। इसके साथ ही एमओ डा0 आजाद श्रीवास्तव, डाॅ0 जय प्रकाश का वेतन बाधित करते हुए स्पष्टीकरण तलब करने के आदेश दिए हैं तथा एमओ डा0 मधु मालवीय की कार्यप्रणाली बेहद खराब पाए जानेे पर उन्हें तत्काल छपिया सीएचसी से हटाकर किसी अन्य सीएचसी पर तैनात करने एवं अग्रिम आदेशों तक वेतन न निर्गत किए जाने केे आदेश सीएमओ को दिए हैं।
डीएम के औचक निरीक्षण के दौरान उपस्थित पंजिका चेक करने पर सीएचसी अधीक्षक द्वारा कई कर्मियों को फील्ड में होनेा बताया गया परन्तु इस बावत वे डीएम को कोई आदेश या मूवमेंट रजिस्टर नहीं दिखा सके। इससे नाराज डीएम ने सीएमओ को आदेश दिए कि सीएचसी में तैनात अतिरिक्त कर्मियों को तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मसकनवा में तैनात कर ओपीडी का कार्य शुरू कराया जाय तथा लापरवाह एमओ डा0 पवन पटवा, डा0 संजय कुमार, लैब असिस्टेंट शिव कुमार तिवारी व वाई0के0 राय, स्टाफ नर्स प्रभावती मौर्य, रेखा सोनी तथा रोमा कश्यप, एएनएम हंसा देवी, गैर हाजिर एमओ डा0 जय प्रकाश, एएनएम विजय लक्ष्मी व संदीप सिंह गैर हाजिर बीपीएम करिश्मा सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी कर विभागीय कार्यवाही की संस्तुति की है। इसी प्रकार फार्मासिस्ट एम0के0 श्रीवास्तव, आयुष फार्मासिस्ट श्री प्रकाश शुक्ल, कर्मी हीरा देवी को कारण बताओ नोटिस जारी कर कार्यवाही के आदेश दिए हैं।
डीएम ने सीएचसी छपिया में एक-एक कक्ष को खुलवा कर गहन निरीक्षण किया। गंदगी और अव्यवस्थाओं से नाराज डीएम ने मौके पर उपस्थित सीएमओ को आदेश दिए कि सीएचसी अधीक्षक डा0 आलोक सिंह को चेतावनी व प्रतिकूल प्रविष्टि जारी करते हुए वहां से तत्काल स्थानांतरित करके किसी अन्य सीएचसी पर भेजें। आआरटी टीमों के गठन व टीमों के फील्ड में मूवमेन्ट व ज्यादातार कर्मचारी इस वक्त कहां पर ड्यूटी कर रहे हैं, की जानकारी भी सीएचसी अधीक्षक डीएम को नहीं दे सके। वहां पर तैनात स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी को तत्काल वहां से हटाकर जिला स्तरीय कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल रूम में तैनात कर रिपोर्ट देने के आदेश दिए। जननी सुरक्षा योजना और एएनएम के मानदेय भुगतान में भी गड़बड़ी मिली। एमओ मधु मालवीय वैक्सीनेशन के लिए फील्ड में क्यों नहीं गई, इसका कारण पूछने पर सीएचसी अधीक्षक निरूत्तर रहे। डीएम ने डा0 मधु मालवीय की एक दिन की सेवा बाधित करने के आदेश सीएमओ को दिए हैं।
निरीक्षण के दौरान की कुछ लोगों द्वारा डीएम को अवगत कराया गया कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के कर्मी डा0 संजय सिंह अस्पताल में न बैठकर बिना अनुमति व बिना लाइसेंस के अस्पताल के सामने की अपनी क्लीनिक चलाते हैं। डीएम तत्काल हार्दिक पैथोलॉजी एवं क्लीनिक पर पहुंच गए। मौके पर उपस्थित एसडीएम मनकापुर हीरालाल को आदेश दिए कि पैथोलॉजी के कागजात का निरीक्षण कर बताएं। एसडीएम की जांच में पैथोलॉजी व क्लीनिक बिना लाइसेंस के चलता पाया गया। डीएम ने एसडीएम व सीएमओ को आदेश दिए कि तत्काल क्लीनिक बन्द कराकर एफआईआर दर्ज कराएं तथा सीएमओ को आरबीएसके कर्मी डा0 संजय सिंह की सेवा समाप्ति की कार्यवाही सुनिश्चित कराएं तथा उन्हें भी रिपोर्ट दें।
छपिया सीएचसी का निरीक्षण करने के बाद डीएम सीधे मसकनवा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। वहां पर डीएम को कोई भी डाॅक्टर उपस्थित नहीं मिला। एक मात्र डाक्टर करूणा गुप्ता गैरहाजिर मिले। डीएम ने सीएमओ को आदेश दिए कि खण्ड विकास अधिकारी के सहयोग से परिसर के जर्जर भवनों का ध्वस्तीकरण कराकर परिसर का साफ-सुथरा सुन्दर बनवाने का काम 15 दिनों के अन्दर कराकर रिपोट दें। डीएम ने यह भी निर्देश दिए कि सीएचसी छपिया में तैनात अतिरिक्त स्टाफ को पीएचसी मसकनवा में तैनात करें तथा नियमित रूप से फुल फ्लैश ओपीडी का संचालन सुनिश्चित कराएं।
मसकनवा पीएचसी का निरीक्षण करने के बाद डीएम सीधे सीएचसी बभनजोत बुक्कनपुुर पहुंचे। वहां पर डीएम को परिसर की साफ-सफाई व व्यवस्था संतोषजनक मिली। आवश्यक दवाओं की लिस्ट अपडेअ नहीं मिली। एसीएमओ तथा सीएचसी अधीक्षक डीएम को ईडीएल की लिस्ट में कितनी दवाइयां होती हैं नहीं बता सके। डीएम ने निर्देश दिए कि सूचना बोर्ड पर आवश्यक सभी 243 दवाओं का नाम व उनकी उपलब्धता की सूचना रोजाना अपडेट कराई जाय। परिसर में पौधरोपण साफ-सफाई तथा सुन्दरी करण कराने के निर्देश बीडाओ बभनजोत को देते हुए कहा कि आगामी 15 दिनों के अन्दर सीएचसी व उसके अंतर्गत आने वाली तीनो पीएचसी को पूरी तरह से साफ सुथरा कराकर उन्हें अवगत कराएं। मुख्यालय वापसी के दौरान अचानक सीएचसी काजीदेवर पर पहुंच गए। वहां सीएचसी प्रभारी मिट्टी पटाई का काम कराते हुए मिले। डीएम ने कार्य में तेजी लाकर सीएचसी को आदर्श सीएचसी बनाने के निर्देश दिए।
निरीक्षणों के दौरान एसडीएम मनकापुर हीरालाल, सीएमओ डा0 आर0एस0 केसरी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 देवराज तथा खण्ड विकास अधिकारीगण,ओएसडी शिवराज शुक्ला, एसओ छपिया राकेश सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
[26/05, 7:41 PM] +91 88586 08720: .
सराहनीय कार्य
पुलिस अधीक्षक कार्यालय गोंडा
दिनांक 26.05.2021

फ्रॉड की गई धनराशि साइबर सेल ने करायी वापस, पीड़ित ने गोण्डा पुलिस का हृदय से किया धन्यवाद।

जनपद गोण्डा में साइबर अपराधों की रोकथाम हेतु पुलिस अधीक्षक गोण्डा श्री संतोष कुमार मिश्रा एवं अपर पुलिस अधीक्षक श्री शिवराज द्वारा समय-समय पर आमजनमानस को जागरूक किया जाता रहा है एवं साइबर सेल द्वारा भी विभिन्न माध्यमों से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसी क्रम में साइबर ठगी का शिकार हुए आवेदक अजय प्रताप ने पुलिस अधीक्षक गोण्डा को प्रार्थना पत्र दिया गया था, जिसके अनुसार साइबर ठगो द्वारा बैंक अधिकारी बन कर उनके खाते की KYC अपडेट कराने के नाम पर रिमोट एक्सेस एप (एनी डेस्क) डाउनलोड कराके उनके बैंक खाते व एटीएम कार्ड से सम्बंधित गोपनीय जानकारी प्राप्त कर रुपयों की ठगी की गई थी। ठगी की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल कार्यवाही करने हेतु साइबर सेल को निर्देशित किया था जिस पर साइबर सेल द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए रु० 349995.00 (तीन लाख उनचास हजार नौ सौ पंचानबे रूपये) पीड़ित के खाते में वापस करवाया गया तथा ठगों के विरुद्ध मुकदमा भी पंजीकृत कराया गया। पुलिस अधीक्षक गोण्डा के निर्देशन में साइबर सेल द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए ठगी गयी धनराशि को पीड़ित के खाते में वापस करवाया जिसके लिए पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक गोण्डा व साइबर सेल को सहृदय धन्यवाद किया। पुलिस अधीक्षक गोण्डा द्वारा बताया गया कि अपने बैंक खाते से सम्बन्धित विवरण कभी भी किसी के साथ साझा न करें। साइबर अपराध घटित होने पर तुरंत अपने बैंक, नजदीकी पुलिस स्टेशन एवं साइबर सेल को सूचना दें।
साइबर क्राइम टीम:-
1. हरि ओम टंडन (CCO), साइबर क्राइम सेल ,गोण्डा ।
2. अचला (CCO), साइबर क्राइम सेल , गोण्डा ।