July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

गोण्डा 03 जून*जिला ग्रामोद्योग विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का उठायें लाभ*

*सूचना विभाग गोण्डा*
दिनाँकः 03.06.2021 191

गोण्डा 03 जून*जिला ग्रामोद्योग विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का उठायें लाभ*

*1- मुख्यमंत्री ग्रामोद्योगरोजगार योजना:-* जिला ग्रामोद्योग अधिकारी संतोष गौतम ने बताया है कि मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अर्न्तगत ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षित बेरोजगार तकनीकि रूप से प्रशिक्षित एवं परम्परागत कारीगरों तथा व्यवसायिक शिक्षा के अन्तर्गत ग्रामोद्योग विषय लेकर उर्तीण छात्र / छात्राओं गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले नवयुवक / नवयुवतियों से अपने ही ग्राम में उद्योग लगाकर स्वावलंम्बी बनने के इच्छुक बेरोजगार जिनकी आयु 18 से 50 वर्ष तक हो मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के ई-पोर्टल www.cmegp.data- center.co.in पर आदेवन आमत्रित किये जाते हैं। इस योजनान्र्तगत रू० 10 लाख तक के प्रोजेक्ट अनुमन्य है, जिसमें सामान्य जाति के पुरूष लाभार्थी को प्रोजेक्ट काष्ट का 10 प्रतिशत का अंशदान तथा टर्म लोन (पूंजीगत ऋण) पर 4 प्रतिशत उद्यमी द्वारा शेष ब्याज उपादान टर्म लोन पर शासन द्वारा इकाई कार्यरत होने की दशा में बैंकों के माध्यम से आर.टी जी.एस. के द्वारा उपलब्ध करायी जायेगी। इसके अतिरिक्त आरक्षित वर्ग (अनु0 जाति, अनु० जनजाति, पिछडी, अल्पसंख्यक, भूतपूर्व सैनिक) तथा सभी वर्ग के महिलाओं को प्रोजेक्ट काष्ट का 5 प्रतिशत स्वयं का अशदान तथा टर्म लोन ( पूजीगत ऋण ) समस्त व्याज उपादान शासन द्वारा इकाई कार्यरत होने की दशा में बैंक को आर.टी.जी.एस. के माध्यम से उपलब्ध करायी जायेगी। ऐसे बेरोजगार जो खनिज आधारित उद्योग, वराधारित उद्योग, कृषि आधारित उद्योग, बहुलक एवं रसायन उद्योग, इंजीनियरिंग एवं गैर परम्परागत उर्जा, वस्त्र उद्योग (खादी को छोड़कर) किसी उद्योग को लगाना चाहते हैं, वे अपना आवेदन पत्र मुख्यमन्त्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के ई-पार्टल पर अपना फोलो , शैक्षिक योग्यता आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, ग्राम प्रधान द्वारा स्थापित कार्यस्थल की प्रमाण पत्र (चौहद्दी सहित) प्रोजेक्ट रिपोर्ट तथा यदि कोई अनुभव हो तो उसकी प्रति वेबसाइट पर अपलोड कर ऑनलाइन आवेदन कर किसी भी कार्य दिवस में जिला ग्रामोद्योग कार्यालय, 122 राजा मोहल्ला, गोण्डा में हार्ड कॉपी जमा कर सकते हैं। ऑनलाइन प्राप्त आवेदन पत्रों को स्कोर कार्ड के माध्यम से चयन किया जायेगा तथा आवेदकों के ऋण आवेदन पत्र ऑनलाइन बैंको को वित्तपोषण हेतु अग्रसारित किया जायेगा। जनपद के बेरोजगारों से अपेक्षा है कि उक्त योजना का लाभ उठायें और स्वावलंम्बी बनकर प्रदेश के विकास में अपना योगदान दे सकते हैं ।

You may have missed