July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

गोण्डा 02 जून*मंगलवार को घंटे भर हुई बारिश से ही कर्नलगंज में सड़कों, सरकारी कार्यालय परिसर में जलभराव एवं कीचड़युक्त बदहाल स्थिति बरकरार*

गोण्डा 02 जून*मंगलवार को घंटे भर हुई बारिश से ही कर्नलगंज में सड़कों, सरकारी कार्यालय परिसर में जलभराव एवं कीचड़युक्त बदहाल स्थिति बरकरार*

*कर्नलगंज/गोंडा*। मानसूनी बारिश शुरू होने में अभी काफी समय है। उसके पूर्व ही मंगलवार को करीब घंटे भर हुई बरसात ने कर्नलगंज तहसील क्षेत्र में जलनिकासी की सुचारू व्यवस्था और विकास की पोल खोलनी शुरू कर दी है। मामला तहसील क्षेत्र कर्नलगंज अन्तर्गत तहसील कार्यालय के सामने की सड़क और उसके निकट विकास खंड कर्नलगंज परिसर,पशु चिकित्सालय और गोंडा लखनऊ राजमार्ग का है। जहाँ बीते दिन मंगलवार को सुबह शुरू हुई करीब घंटे भर की तेज बारिश के बाद ही तहसील मुख्यालय के अन्तर्गत आने वाली गोंडा से लखनऊ हाइवे की मुख्य सड़क, तहसील कार्यालय के सामने स्थित सड़क और उसी के निकट मौजूद विकास की धुरी का मुख्य केंद्र कहे जाने वाले विकासखंड परिसर में काफी जलभराव होने के साथ ही बसस्टॉप चौराहा कर्नलगंज के आसपास सड़कों के किनारे एवं पशु चिकित्सालय कर्नलगंज के परिसर में काफी जलभराव की स्थिति हो गयी वहीं तहसील कार्यालय के सामने वाली सड़क व उसके किनारे की पटरी कीचड़ में तब्दील दिखाई दी, जिससे क्षेत्र वासियों, दूरदराज क्षेत्रों को आवागमन करने वाले राहगीरों को जलभराव के साथ ही कीचड़ की काफी समस्या का सामना करना पड़ा। इसके बावजूद स्थानीय तहसील स्तरीय अधिकारियो, जिम्मेदार विभागीय अधिकारियों के कानों पर जूं नहीं रेंगी और शायद सरकारी गाड़ियों में बैठे होने से या कार्यालयों से निकलने की जहमत ना उठाने के चलते उक्त जलभराव और कीचड़ युक्त बदहाल स्थिति नहीं दिखाई पड़ी। जबकि तहसील मुख्यालय स्थित बसस्टॉप चौराहे के एक किलोमीटर के परिधि में सड़कों पटरियों के साथ मौजूद सरकारी कार्यालय परिसरों में जलभराव, कीचड़ की समस्या बरकरार होने के साथ ही सड़क विभिन्न स्थानों पर लबालब भरी दिखी। जिसके कारण क्षेत्रीय लोगों को आवागमन में काफी परेशानी होने के साथ ही कीचड़ से होकर जाने के अलावा सड़क के किनारे दोनों ओर बने मकान व दुकान वालों को भी कीचड़ व जलभराव के कारण रोज समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बताते चलें कि उक्त सडकें लोकनिर्माण विभाग के अन्तर्गत आती हैं। उक्त सड़कें गोंडा से लखनऊ मार्ग को जाने और तहसील तिराहे से गोंडा लखनऊ हाईवे रोड से जुड़ी है। इन्हीं रास्तों से होकर स्थानीय व अन्य क्षेत्रों के हजारों लोगों का प्रतिदिन आवागमन होता है। फिलहाल क्षेत्रीय जनता इस जलभराव, कीचड़ की समस्या के निदान और जलनिकासी की सुचारू व्यवस्था उम्मीद लिए बैठी है। उसी के साथ सड़क के साथ पटरियां भी अपनी बदहाली पर आंसू बहाते हुऐ विकास के लगातार किये जा रहे दावों की हकीकत बयां कर अपने मरम्मत की बाट जोह रही है और पोल खोलती नज़र आ रही हैं।

You may have missed