July 7, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

कौशांबी 27 मई*रेप के मामले मे मूकदर्शक बने अफसर..

कौशांबी 27 मई*रेप के मामले मे मूकदर्शक बने अफसर..

👉 दो थानों के बीच में उलझा गैंगरेप का मामला …
👉 रेप के मामले मे मूकदर्शक बने अफसर..

नाबालिग किशोरी से गैंगरेप के मामले ने तूल पकड़ लिया है । वहशी दरिंदों ने रास्ते से पकड़कर उसके साथ बलात्कार किए । किसी तरह चंगुल से छोटी लड़की परिजनों के पास पहुंची। मामला पिपरी थाने गया तो पुलिस ने करारी का मामला कह कर के टरका दिया ।

बता दें कि 21 तारीख को किशोरी घर से गायब हो गई थी ,काफी खोजबीन के बाद किशोरी नहीं मिली थी । परिजनों ने पिपरी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई है । बाद में 25 तारीख को बदहवास स्थिति में किशोरी जब घर पहुंची तो परिजनों को आपबीती बताई कि उसके साथ दो लड़कों ने रेप किया है और सुनसान स्थान पर छोड़कर भाग गए । जानकारी होते हैं परिजन पिपरी थाना पुलिस के पास गए तो वहां से टरका दिया गया और कहा की घटना करारी थाना क्षेत्र की है यहां सुनवाई नहीं होगी । जब पीड़ित करारी थाना पहुंचे तो वहां पहुंचने पर करारी पुलिस ने कहा कि गुमशुदगी पिपरी थाने में दर्ज है, इस नाते वहीं पर जाकर तहरीर दे ।

चौंकाने वाली बात यह है कि 2 दिन बीत गए परिजन और पीड़िता करारी थाने की चौखट में बैठे हुए हैं । कोई फरियाद सुनने वाला नहीं है। मामला मीडिया पर आने के बाद पुलिस अब मामले को दबाने की कोशिश की जा रही है । कहा जा रहा है कि मामला प्रेम प्रपंच का है और लड़की के साथ कुछ नहीं हुआ है । सवाल इस बात का है कि यदि लड़की के साथ कुछ नहीं हुआ है तो पुलिस मेडिकल क्यों नहीं कराती है । मेडिकल से स्पष्ट हो जाएगा कि पीड़िता झूठ बोल रही है या फिर पुलिस ….मेडिकल ना कराया जाने से पुलिस पर सवालिया निशान लग रहे हैं । पुलिस का कहना है कि किशोरी उसे युवक से शादी करना चाहती हैं । सवाल इस बात का है कि किशोरी नाबालिक है, ऐसे में पुलिस शादी कैसे करा देगी । पुलिस के इस बयान से पुलिस को अपने ही बुने जाल में घिर रही है । अब देखना यह है पीड़िता का मेडिकल परीक्षण होता है या नहीं …
उधर पल्ला झाड़ने वाली पिपरी पुलिस ने मामला आगे ना बढ़े इस नाते घटना में शामिल दोनों युवकों को हिरासत में लिया है । सूत्रों का कहना है कि दोनों युवकों ने अपना जुर्म कबूला है । इसके बावजूद भी पुलिस टालमटोल में जुटी हुई है ।