July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

औरैया 04 जून *अपराधियों का आका भाजपा नेता गिरफ्तार:कानपुर पुलिस की 12 टीमें 2 दिन से कर रही थीं तलाश, नारायण भदौरिया ने पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को भगवाया था*

औरैया 04 जून *अपराधियों का आका भाजपा नेता गिरफ्तार:कानपुर पुलिस की 12 टीमें 2 दिन से कर रही थीं तलाश, नारायण भदौरिया ने पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को भगवाया था*

कानपुर में पुलिस टीम पर हमला करने वाले भाजपा नेता नारायण भदौरिया को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। वह एक आलीशान होटल में रुका हुआ था। गिरफ्तारी के बाद नारायण ने अपने परिजनों को फोन पर सूचना दी है। नारायण के अलावा गोपाल शरण सिंह चौहान और राकी यादव को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है।

दरअसल, भाजपा नेता नारायण की दो जून को बर्थडे पार्टी चल रही थी। इसमें कई अपराधी भी आए थे। इसी दौरान नौबस्ता पुलिस ने बर्रा थाने के हिस्ट्रीशीटर व हत्या के प्रयास में फरार मनोज सिंह को गिरफ्तारी के लिए छापा मारा था। तब नारायण और उसके समर्थकों ने पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को भगा दिया था।

क्राइम ब्रांच की टीम डाल रही थी रेड

इसके बाद पुलिस ने भाजपा नेता और और उसके गुर्गों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के साथ ही इनाम भी घोषित किया था। फरार नेता की तलाश में कानपुर कमिश्नर असीम अरुण ने क्राइम ब्रांच, सर्विलांस समेत 12 टीमों को लगाया था।

2 दिन बाद क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार दोपहर नारायण को दिल्ली के एक आलीशान होटल से गिरफ्तार किया है। नारायण के छोटे भाई दिनेश व पिता ने बताया कि नारायण ने फोन पर अपनी गिरफ्तारी की सूचना दी है। उधर, हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह की तलाश में पुलिस को अब तक सफलता नहीं मिली है।

पुलिस को गुमराह करने के लिए गुर्गे को दिया था मोबाइल
शातिर भाजपा नेता ने पुलिस को गुमराह करने के लिए अपने एक गुर्गे को मोबाइल लेकर चित्रकूट की तरफ भेज दिया था। इसके चलते पुलिस की एक टीम चित्रकूट में भी दबिश दे रही थी, लेकिन पुलिस ने उसके परिजनों की कॉल डिटेल से नारायण के नए मोबाइल नंबर का पता चल गया। इसी आधार पर पुलिस ने दबिश देकर दिल्ली के एक होटल से उसे गिरफ्तार कर लिया है।

कार्रवाई के लिए पुलिस तैयार कर रही भूमिका
गिरफ्तारी के बाद पुलिस कार्रवाई की तैयारी कर रही है। कार्रवाई को लेकर वरिष्ठ अफसरों से राय ली जा रही है। भाजपा नेता नारायण के पुलिस से मारपीट करके हिस्ट्रीशीटर को भगाने के मामले में पुलिस की जमकर किरकिरी हुई थी।

बचाव के लिए कमिश्नर से मिलेगा अधिवक्ताओं का दल

कानपुर बार एसोसिएशन और लाॅयर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ वकीलों का एक दल शुक्रवार दोपहर को कमिश्नर से मिलेगा। पदाधिकारियों का कहना है कि इसमें कुछ अधिवक्ताओं को जबरन फंसाया जा रहा है। अधिवक्ता सिर्फ पार्टी में शामिल हुए थे, लेकिन उनका आपराधिक कृत्य से कोई लेना-देना नहीं है। इसके बाद भी एफआईआर में उनका नाम है। इसके साथ ही थाना प्रभारी पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। कमिश्नर से इसकी निष्पक्ष जांच करने की बात कही है।

You may have missed