July 7, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

इटावा 14 जून*सैफई में चिकित्सक द्वारा की गई अभद्रता पर नर्सेस कर्मियों ने की हड़ताल

इटावा 14 जून*सैफई में चिकित्सक द्वारा की गई अभद्रता पर नर्सेस कर्मियों ने की हड़ताल

कमेटी गठित करने व आरोपी को ब्लड बैंक से हटाने पर काम पर बापस लौटे नर्सेस कर्मी

चार घण्टे हड़ताल पर रहे 200 नर्सेस कर्मी, कुलपति रमाकान्त यादव ने की कमेटी गठित

(सुघर सिंह सैफई)

इटावा। सैफई के उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में कल 4 घंटे तक ट्रामा सेंटर के गेट पर नर्सिंग कर्मियों के हड़ताल करके नारेवाजी की। मौके पर उपजिलाधिकारी सैफई एन राम, सीओ सैफई साधू राम, प्रभारी निरीक्षक मु० हमीद मय फोर्स मौजूद रहे।

ट्रामा सेंटर के गेट पर नर्सिंग स्टाफ का भारी जमावड़ा रहा और उन्होंने 4 घंटे हड़ताल पर रहे। नर्सिंग स्टाफ डॉ विनीत चतुर्वेदी के हटाने की मांग पर अड़ा था। कुलसचिव ने नर्सेस कर्मियों को समझाने का काफी प्रयास किया लेकिन नही माने बाद में मौके पर उपजिलाधिकारी सैफई एन० राम और प्रभारी निरीक्षक सैफई पहुंचे और फिर कुलपति से विचार विमर्श करने के लिए गए जहां सभी उच्चाधिकारियों ने डॉ विनीत चतुर्वेदी को ब्लड बैंक से हटाने व पूरे प्रकरण की जांच करने के लिए जांच कमेटी गठित करने के बाद ही नर्सिंग कर्मी काम पर लौटे।

प्राप्त समाचार के अनुसार स्टाफ नर्स जय प्रकाश शर्मा, व नरेश शर्मा ब्लड बैंक में तैनात थे उन्होंने बताया कि जब वह विश्व रक्तदाता दिवस पर आज ब्लड डोनेशन का काम कर रहे थे तभी वहां पर डॉ विपिन चतुर्वेदी आये और स्टाफ के साथ अभद्र भाषा में धक्का-मुक्की की और हाथ उठाते हुए गेट में लात मारकर ब्लड बैंक से बाहर कर दिया इससे ब्लड डोनेशन के कार्य में व्यवधान उत्पन्न हुआ है साथ ही नर्सिंग कर्मियों को सम्मान में ठेस पहुंची है नर्सिंग स्टाफ की मांग थी कि डॉक्टर विनीत चतुर्वेदी को निलंबित किया जाए और उनकी ब्लड बैंक में ड्यूटी ने लगाई जाए। रिम्स एन्ड आर नर्सेज एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल गोयल व महामंत्री सत्येंद्र सिंह चौधरी ने बताया कि डॉक्टर विनीत चतुर्वेदी का व्यवहार ठीक नहीं है और वह कर्मियों से दुर्व्यवहार करते रहते हैं इसी वजह से लगभग 200 से अधिक नर्सिंग कर्मियों ने कल सुबह 10 बजे हड़ताल कर दी।

 

हड़ताल के चलते रक्तदान शिविर हुआ निरस्त

विश्व रक्तदाता दिवस पर सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी में 125 से अधिक नर्सिंग स्टाफ रक्तदान करने के लिए तैयार था। उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई में कल ब्लड बैंक की घटना को लेकर नर्सिंग स्टाफ द्वारा की गई हड़ताल से रक्तदान शिविर का आयोजन भी निरस्त करना पड़ा विश्व रक्तदाता दिवस पर कल 14 जून को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के लगभग 125 नर्सिंग स्टाफ रक्तदान करने के लिए पूरी तरह तैयार था लेकिन ब्लड बैंक प्रभारी द्वारा नर्सिंग स्टाफ से की गई अभद्रता के बाद किसी भी नर्सिंग स्टाफ ने रक्तदान नहीं किया इस वजह से रक्तदान प्रक्रिया बाधित रही रिम्स एंड आर नर्सेस एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल गोयल महामंत्री सत्येंद्र सिंह चौधरी ने बताया के डॉक्टर विनीत चौधरी के द्वारा नर्सिंग कर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार किया गया है इसकी वजह से रक्तदान शिविर रुक गया है और हमें मजबूरी बस इसे निरस्त करना पड़ रहा है। नर्सिंग एसोसिएशन तथा नर्सेस संवर्ग की वार्ता होने के बाद इसे निरस्त किया गया है।

कमेटी करेगी जांच 24 घण्टे में देगी रिपोर्ट

सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी में नर्सेस स्टाफ के साथ की गई अभद्रता की जांच के लिए कुलपति डॉ रमाकान्त यादव द्वारा कमेटी गठित कर दी गयी है वही आरोपी चिकित्सक का ब्लड बैंक के हटा दिया गया है। जांच कमेटी को 24 घण्टे में जांच रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। इसके बाद नर्सेस स्टाफ ने हड़ताल बापस ले ली और काम पर लौट गए।